• search
नोएडा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोर्ट में पेशी के बाद 37 करोड़ की ठगी के आरोपी को पुलिस मौज-मस्ती के लिए ले गई रेस्टोरेंट, 6 सस्पेंड

|

Noida News, नोएडा। सोशल ट्रेडिंग स्कैम में लाइक्स क्लिक करवाने के नाम पर 37 करोड़ रुपये के घोटाले के आरोप में बंद अभिनव मित्तल को एक रेस्तरां में मौज मस्ती करते निवेशकों ने घेर लिया। अपने लाखों रुपये गंवा चुके निवेशकों ने सोमवार को उसे करीब दो घंटे तक घेरे रखा। कोर्ट में पेशी के बाद लौटते समय अभिनव के साथ तीन पुलिसकर्मी भी मौजूद थे। बाद में फेज-3 पुलिस मौके पर पहुंची और अभिनव को निकालकर थाने ले गई, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। बताया जा रहा है कि रेस्तरां में उसकी पत्नी भी मौजूद थी, लेकिन पहचान नहीं होने का फायदा उठाकर वह वहां से निकल गई।

2017 में एसटीएफ ने किया था गिरफ्तार

2017 में एसटीएफ ने किया था गिरफ्तार

सोशल ट्रेड स्कैम के मुख्य आरोपित अभिनव मित्तल को यूपी एसटीएफ ने 2 फरवरी 2017 को सेक्टर-63 स्थित ऑफिस से कंपनी के दो अन्य अधिकारियों के साथ गिरफ्तार किया था। अभिनव पर आरोप था कि उसे लाइक्स क्लिक करवाने के लिए मल्टीलेवल मार्केटिंग के जरिये करीब 6.5 लाख निवेशकों की चेन खड़ी की और उनसे करीब 3700 करोड़ ठग लिए। इस मामले में अभिनव के पिता व पत्नी को भी आरोपित बनाया गया। इन दोनों को बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था। इस मामले में करीब 550 करोड़ रुपये एसआईटी ने सीज किए गए थे। ईडी लखनऊ में भी इस संबंध में केस दर्ज किया गया था। सभी आरोपित इस समय लखनऊ जेल में बंद हैं।

कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस ले गई रेस्टोरेंट

कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस ले गई रेस्टोरेंट

बताया जा रहा है कि अभिनव मित्तल को उसकी पत्नी के साथ हरियाणा के किसी कोर्ट में पेशी पर ले जाया गया था। वहां से वापस लौटते समय पुलिसकर्मियों को साथ लेकर वह सेक्टर-121 की क्लियो काउंटी सोसायटी में पहुंच गया। वहां एक रेस्तरां में उसे चार-पांच लोगों के साथ खाना खाते हुए उसकी ठगी का शिकार हुए निवेशकों ने देख लिया। उन्होंने अपने परिचित निवेशकों को भी वहां बुला लिया। एक निवेशक ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया है कि अभिनव की पत्नी आयुषि मित्तल रेस्तरां के पास ही बने ब्यूटी पार्लर में मेकअप करवा रही थी। लाखों निवेशकों के पैसे डकारकर जेल में रहने के बावजूद उनकी मौज मस्ती में कोई फर्क नहीं आया है। अभिनव के पहनावे को देखकर कहीं से लग रहा था कि वह जेल से लाया गया है।

लोगों ने 2 घंटे तक बनाया बंधक

लोगों ने 2 घंटे तक बनाया बंधक

मौके पर करीब 20-25 निवेशक जमा हो गए और उन्होंने दो घंटे तक अभिनव को घेरे रखा। इस दौरान उन्होंने उससे पूछा कि क्या वो जेल से छूट गया है, तो उसने बताया कि वह पेशी पर आया था। इस पर निवेशक बिफर गए और उसके साथ आए पुलिसकर्मियों पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए पूछने लगे कि कैसे उसे पेशी से इधर लेकर आए। इस पर पुलिसकर्मी हाथ जोड़कर माफी मांगने लगे। करीब दो घंटे तक अभिनव ने निवेशकों से बचकर निकलने की कोशिश की, लेकिन वह सफल नहीं हो पाया। हालांकि इस दौरान उसकी पत्नी वहां से निकल गई। बाद में सूचना पर आई फेज-3 पुलिस उसे वहां से निकालकर थाने लेकर आई। जहां से उसे जेल के लिए रवाना किया गया।

क्या कहना है पुलिस का

क्या कहना है पुलिस का

वहीं, इस मसले पर एसएसपी वैभव कृषण ने कहा है कि पेशी पर लाने वाले पुलिसकर्मियों की लापरवाही पर थाने से रिपोर्ट लेकर लखनऊ भेजी गई। अभिनव मित्तल को लखनऊ जेल से पेशी पर लाया गया था। बता दें कि लखनऊ पुलिस के कॉन्स्टेबल राजन सिंह, रमेश कुमार, अरुण कुमार, अरुण, सुशीला व प्रीति को सस्पेंड कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें:- भाजपा सांसद भोला सिंह बोले- सड़क पर नमाज पढ़ने पर होनी चाहिए कार्रवाई

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
3700 crores scam accused anubhav mittal went restaurant with police
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X