• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

महाभारत काल में इस चक्‍की से अनाज पीसते थे भीम, IPS Vijay Singh Gurjar ने Twitter पर शेयर की फोटो

गुजरात के छोटा उदयपुर ज़िले में बोडेली के पास झंड हनुमान मंदिर के पास में एक चक्की/घंटी रखी है। चक्‍की के बारे में मान्यता है कि महाभारत काल में भीम इससे अनाज पीसा करते थे।
Google Oneindia News

Bhim Chakki Zand Hanuman Temple Jambughoda Gujarat : महाभारत काल की तमाम किंवदंती आज भी सुनने को मिलती हैं। एमपी के छतरपुर में भीम द्वारा अपनी गदा के प्रहार से पहाड़ी पर विशाल जल धारा निकालना हो या राजस्‍थान के झुंझुनूं जिले में लोहार्गल कुंड में स्नान करने से पांडवों की लोहे की बेड़ियां गल जाने की कहानी। अब महाभारत काल की मान्‍यता से जुड़ी एक अन्‍य कहानी गुजरात से सामने आई है, जो IPS Vijay Singh Gurjar ने सोशल मीडिया पर शेयर की है।

झंड हनुमान मंदिर के पास रखी भीम चक्‍की

झंड हनुमान मंदिर के पास रखी भीम चक्‍की

गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी विजय सिंह गुर्जर ने अपने ट्विटर हैंडल पर तस्‍वीरें शेयर करते हुए लिखा कि 'गुजरात के छोटा उदयपुर ज़िले में बोडेली के पास झंड हनुमान मंदिर के पास में एक चक्की/घंटी रखी है। इस चक्‍की के बारे में मान्यता है कि महाभारत काल में भीम इससे अनाज पीसा करते थे।'

 कौन हैं आईपीएस विजय सिंह गुर्जर?

कौन हैं आईपीएस विजय सिंह गुर्जर?

बता दें कि आईपीएस विजय सिंह गुर्जर राजस्‍थान के झुंझुनूं जिले के नवलगढ़ उपखंड के गांव देवीपुरा के किसान लक्ष्‍मण सिंह के बेटे हैं। 2018 बैच के गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। विजय सिंह गुर्जर वर्तमान में कमांडेंट सर्प ग्रुप-14, वलसाड हैं। आईपीएस बनने से पहले विजय सिंह गुर्जर दिल्‍ली पुलिस में कांस्‍टेबल हुआ करते थे।

मान्‍यता कि पांडवों ने बनवाया झंड हनुमान मंदिर

मान्‍यता कि पांडवों ने बनवाया झंड हनुमान मंदिर

टेम्‍पल ट्रेवल इंफो वेबसाइट के अनुसार गुजरात में झंड हनुमान मंदिर वड़ोदरा शहर से करीब 75 किलोमीटर और जम्‍बुघोड़ा गांव से करीब छह किलोमीटर दूर पावागढ़ पहाड़ी के पास है। मान्‍यता है कि जम्‍बुघोड़ा के जंगलों में महाभारत काल में पांडवों ने वास किया था। उन्‍होंने ने यह झंड हनुमान मंदिर बनाया था। मंदिर में हनुमानजी की 18 फीट की प्रतिमा है।

हेदंबा वन क्षेत्र में है झंड हनुमान मंदिर

वड़ोदरा व गोधरा के बीच पहाड़ी इलाके में हेदंबा वन नाम के इस जंगल में झंड हनुमान मंदिर के पीछे की तरफ दो विशाल गोल पत्‍थर एक दूसरे पर ऊपर नीचे रखे हुए हैं, जो देखने में आटा पीसने की चक्‍की की तरह लगते हैं। इन पत्‍थरों के बीच में अनाथ डालने का सुराग भी बना है। मान्‍यता है कि भीम इसी चक्‍की से अनाज पीसा करते थे।

 झंड हनुमान मंदिर के पास दर्शनीय स्‍थल

झंड हनुमान मंदिर के पास दर्शनीय स्‍थल

-जम्बुघोड़ा वन्य अभयारण्य

-कड़ा बांध
-पावागढ़ पहाड़ी
-पावागढ़ महाकाली मंदिर
-हथनी माता मंदिर झरना
-बड़ौदा शहर
-वाधवाना झील सुखी बांध
-जम्बुघोड़ा इको कैंपसाइट
-ढाबा डूंगरी जैन मंदिर
-वनांचल: जम्बुघोडा जंगल रिज़ॉर्ट

झंड हनुमान मंदिर कैसे पहुंचे?

झंड हनुमान मंदिर कैसे पहुंचे?

हवाई मार्ग से : झंड हनुमान मंदिर के निकटवर्ती हवाई अड्डा वडोदरा में है, जो करीब 77 किलोमीटर दूर है। इसके अलावा 180 किमी दूर अहमदाबाद में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है। यहां पहुंचने के बाद आगे का सफर किराए की टैक्सी से किया जा सकता है।

रेल मार्ग से : झंड हनुमान मंदिर के नजदीकी रेलवे स्‍टेशन वड़ोदरा का है। यहां पर हथनी माता मंदिर झरने तक पहुंचने के लिए टैक्सी और ऑटो आसानी से उपलब्‍ध हैं।

सड़क मार्ग से : झंड हनुमान मंदिर तक सड़क मार्ग के जरिए भी पहुंचा जा सकता है। इसके लिए कई सार्वजनिक और निजी वाहन उपलब्ध हैं। जम्बुघोड़ा तक सड़कें अच्‍छी हैं। आगे की सड़क ज्‍यादा ठीक नहीं।

युवक का सवाल- ' BPSC में 4 अंक से चूक गया, क्‍या करूं? IAS Awanish Sharan का जवाब 'मैं खुद 10 बार फेल हुआ था' युवक का सवाल- ' BPSC में 4 अंक से चूक गया, क्‍या करूं? IAS Awanish Sharan का जवाब 'मैं खुद 10 बार फेल हुआ था'

Comments
English summary
IPS Vijay Singh Gurjar tweeted photo of Bhim Chakki Zand Hanuman Temple Jambughoda gujarat
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X