• search
जोधपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जोधपुर : कोरोना संकट में व्यापारियों ने बदला धंधा, कपड़ों की बजाय बनाने लगे मास्क

|

जोधपुर। दुनियाभर में कोरोना वायरस का खौफ है। भारत में भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा एक लाख का पार कर गया है। कोरोना संक्रमण कम करने के लिए ही 18 मई से लॉकडाउन - 4 लागू करना पड़ा है। लॉकडाउन के चलते उद्योग धंधे व कारखाने बंद पड़े हैं। मजदूरों के सामने जहां रोजी-रोटी का संकट मंडराने लगा है। वहीं, व्यापारियों को भी आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

jodhpur

लॉकडाउन की नई गाइडलाइन के तहत मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसे में जोधपुर में कपड़े बनाने वाले एक व्यापारी ने अपना धंधा ही ​बदल दिया है। लॉकडाउन में उसके यहां मजदूरों को काम मिल सके और उनका व्यापार भी चलता रहे। इसलिए व्यापारी ने अब कपड़ों की बजाय मास्क बनाने शुरू कर दिए हैं। 20 से 30 प्रतिशत मजदूरों के साथ फैक्ट्री में काम शुरू कर दिया है। अब तक 50 हजार मास्क बनाए जा चुके हैं। मास्क बाजार में सस्ते दामों में उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

BSF के 42 जवानों ने जीती कोरोना से जंग, पूरी तरह ठीक होने के बाद जम​कर किया डांस, देखें VIDEO

फैक्ट्री मालिक हिम्मत सिंह ने बताया कि इस आपातकाल में नए अवसर को ढूंढना मजदूरों के लिए संजीवनी का काम कर रहा है। मजदूरों को रोजगार भी मिल गया और उन्हें रोजी रोटी के संकट को लेकर पलायन करके जाना भी नहीं पड़ेगा। ऐसे में कपड़ों की बजाय मास्क बनाना शुरू किया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Traders changed business in Corona crisis, started making masks instead of clothes
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X