• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ये है दुनिया की सबसे लंबी फ़्लाइट

By Bbc Hindi

आपकी सबसे लंबी, नॉन-स्टॉप हवाई यात्रा कितने घंटे की थी?

चाहे जितने भी घंटे की रही हो, लेकिन 19 घंटे की तो नहीं ही रही होगी क्योंकि अब तक जितनी भी फ़्लाइट्स थीं वो 19 घंटे से कम की ही थीं.

लेकिन गुरुवार को जब सिंगापुर एयरलाइंस का विमान न्यूयॉर्क के लिए उड़ान भरेगा तो बिना कहीं रुके 19 घंटे लगातार सफ़र में रहेगा.

सिंगापुर एयरलाइन्स ने पांच साल बाद एक बार फिर अपनी इस सर्विस को चालू किया है. पांच साल पहले सिंगापुर ने बेहद महंगी सर्विस होने की वजह से इसी सर्विस को बंद कर दिया था.

ये विमान 15 हज़ार किलोमीटर से ज़्यादा की दूरी तय करेगा और इस दूरी को तय करने में विमान को 19 घंटे का समय लगेगा.

कंतास ने इसी साल की शुरुआत में पर्थ से लंदन के लिए 17 घंटे की नॉन-स्टॉप फ़्लाइट सेवा शुरू की थी जबकि कतर एयरलाइन्स की एक फ़्लाइट ऑकलैंड से दोहा के बीच उड़ती है. यह भी एक नॉन-स्टॉप फ़्लाइट है जिसे अपने सफ़र को पूरा करने में 17.5 घंटे का वक़्त लगता है.

सिंगापुर एयरलाइन्स का कहना है कि विमान यात्रा करने वालों की मांग थी कि नॉन-स्टॉप सर्विस शुरू की जाए ताकि समय की बचत हो. हालांकि इस रूट के लिए विमान सेवाएं पहले भी थीं, लेकिन वे कुछ जगहों पर रुकते हुए जाती थीं.

इकोनॉमी क्लास नहीं

सिंगापुर एयरलाइन्स ने बीबीसी को बताया कि इस फ़्लाइट के लिए बिज़नेस क्लास बहुत पहले ही बुक हो गया था.

हालांकि फ़्लाइट में प्रीमियम इकोनॉमी सीटें भी लगभग भर चुकी थीं. फ़्लाइट में बिज़नेस क्लास और प्रीमियम इकोनॉमी क्लास है और एयरलाइन्स फ़िलहाल इसमें इकोनॉमी क्लास को शामिल करने का इच्छुक भी नहीं है.

बिज़नेस क्लास की टिकट लेकर सफ़र करने वाले यात्रियों को फ़्लाइट के दौरान दो बार खाना मिलेगा.

विमान
EPA
विमान

ये उनकी इच्छा पर निर्भर करेगा कि वो कब खाना चाहते हैं. इसके साथ ही बीच-बीच में उन्हें रिफ्रेशमेंट भी सर्व किया जाएगा. सोने के लिए उनके पास बिस्तर भी होगा.

प्रीमियम इकोनॉमी क्लास के लिए तीन वक़्त का मील तय है. इस बीच यात्रियों को रिफ्रेशमेंट भी मिलता रहेगा.

प्लेन में नहीं बैठी, वो आज सबसे बड़ा प्लेन उड़ाती हैं

लेकिन क्या लोग 19 घंटे लगातार उड़ते रहना पसंद करेंगे?

इस नवीनतम एयरबस प्लेन में कुल 161 यात्रियों के बैठने के लिए जगह है जिसमें से 67 सीटें बिज़नेस क्लास यात्रियों के लिए हैं और 94 प्रीमियम इकोनॉमी पैसेंजर्स के लिए.

एविएशन एक्सपर्ट जेफ़्री थॉमस ख़ुद भी इस विमान से उड़ान भरने वाले हैं. उन्होंने बताया कि "विमान यात्रा के पीछे सोच ये है कि हम अपने यात्रियों को कुछ ख़ास दे रहे हैं."

"यह जो रूट है इस पर बड़े पैमाने पर वित्तीय केंद्र हैं, ऐसे में इसमें यात्रा करने वाले ज़्यादातर लोग व्यापार से ही जुड़े हुए हैं या फिर ऐसे यात्री हैं जो एक नॉन-स्टॉप फ़्लाइट में आराम से यात्रा करना चाहते हैं."

"जिस तरह से सीटों की बुकिंग हुई है उससे ये साफ़ हो जाता है इस नॉन-स्टॉप फ्लाइट के शुरू हो जाने से इस रूट पर जाने वालों की संख्या में तीन गुनी बढ़ोत्तरी हुई है."

एयरलाइन्सरेटिंगडॉटकॉम के एडिटर इन चीफ़ थॉमस इससे पहले कई विमानों के उद्घाटन में शामिल हो चुके हैं. उनका मानना है कि निश्चित रूप से ये एक ऐतिहासिक क्षण है.

"कन्तास फ्लाइट अपने आप में एक बहुत बड़ा मौका था. पूरे हवाई सफ़र के दौरान हम खड़े थे.पूरे सफ़र के दौरान पार्टी जैसा माहौल था."

विशाल एयर बस ए-380 के 'सीक्रेट' जानें

दुनिया के सबसे लंबे विमान की क्रैश लैंडिग

किस रूट से फ्लाइट गंतव्य को जाएगी?

बहुत हद तक संभव है कि सिंगापुर एयरलाइंस की ये फ़्लाइट नेवार्क जाने के लिए दो रास्तों का रुख़ करे. सिंगापुर एयरलाइंस ने पहले ही यात्रियों को बता रखा है कि या तो वे एनओपीएसी रूट से आगे बढ़ेंगे या फिर उत्तरी प्रशांत महासागर की ओर से.

थॉमस का कहना है कि यह फ़्लाइट 15 हज़ार से अधिक किलोमीटर की दूरी तय करेगी, लेकिन विमान यात्राओं के विशेषज्ञों का कहना है कि दोनों जगहों के बीच की दूरी तो हमेशा नियत रहेगी, लेकिन फ्लाइट को उड़ान भरने के बाद गंतव्य तक पहुंचने में कितनी दूरी तय करनी होगी ये नियत नहीं है. कई बार हवाओं के रुख़ और मौसम के चलते विमानों को कुछ ज़्यादा देर तक हवा में ही रहना पड़ता है.

क्या ये भविष्य की लंबी-लंबी यात्राओं की शुरुआत है?

A350-900 ULR (अल्ट्रा लॉन्ग रेंज) गुरुवार को सिंगापुर से नेवार्क के लिए उड़ान भरेगा. यह एक दो इंजनवाला एयरक्राफ़्ट है.

इस प्लेन को पुराने बोइंग 777 सीरिज़ को रीप्लेस करने के लिए तैयार किया गया है. इस विमान की ख़ासियत ये भी है कि इसमें इंधन की ख़पत भी 20 से 30 फ़ीसदी कम होती है जोकि निश्चित रूप से एक बेहतर विकल्प है और वो भी तब जबकि तेल के दाम बढ़ रहे हैं.

सिंगापुर एयरलाइन्स ने साल 2004 में इससे पहले भी छांगी से नेवार्क के बीच नॉन-स्टॉप सर्विस शुरू की थी, लेकिन साल 2013 में उसे रद्द करना पड़ा था. A340-500 को उस समय इस रूट के लिए इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन इसमें बहुत अधिक ईंधन की ख़पत होती थी और इसलिए ये रूट बहुत ही महंगा पड़ता था.

सिंगापुर एयरलाइन्स के अलावा बहुत सी सेवाएं लंबे रूट्स के लिए नए A350-900 का इस्तेमाल करती हैं. इन विमानों की छत काफी ऊंची होती है, खिड़कियां लंबी और चौड़ी होती हैं.

थॉमस कहते हैं कि इस विमान के साथ ही हम यात्राओं के एक नए दौर में प्रवेश कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें...

ग्राउंड रिपोर्ट: जयपुर में ज़ीका की दहशत, पैदा हुआ पहला बच्चा

प्रवासियों के पलायन पर क्या है बीजेपी-कांग्रेस की राजनीति

लोगों को खली छोटूराम पर मोदी की टिप्पणी, ट्वीट डिलीट

चीन का वो गाँव जिसकी इकोनॉमी सिंगापुर जितनी बड़ी हो गई

lok-sabha-home
BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
This is the worlds longest flight

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X