• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ईरान के लिए ये आख़िरी मौका है: डोनल्ड ट्रंप

By Bbc Hindi

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि वे ईरान पर प्रतिबंधों में ढिलाई को आख़िरी बार बढ़ा रहे हैं ताकि यूरोप और अमरीका परमाणु समझौते की 'ख़तरनाक ख़ामियों' को दुरुस्त कर सकें.

राष्ट्रपति ट्रंप जिस छूट पर दस्तख़त करेंगे, उससे ईरान पर लगे प्रतिबंध और 120 दिन के लिए स्थगित रहेंगे.

अमरीका-ईरान के ध्वज
Getty Images
अमरीका-ईरान के ध्वज

व्हाइट हाउस चाहता है कि यूरोपीय संघ के दस्तख़त करने वाले सदस्य ईरान के परमाणु संवर्धन कार्यक्रम पर स्थाई प्रतिबंधों के लिए राज़ी हो जाएं.

'बेताब कोशिश'

ईरान के सर्वोच्च नेता का पोस्टर मिसाइल के साथ
AFP
ईरान के सर्वोच्च नेता का पोस्टर मिसाइल के साथ

शुक्रवार को अमरीकी राष्ट्रपति ने एक बयान में कहा, ''ये आख़िरी मौका है. ऐसे किसी समझौते की ग़ैर-मौजूदगी में अमरीका, ईरान के साथ परमाणु समझौते पर कायम रहने के लिए प्रतिबंधों में दोबारा ढील नहीं देगा.''

इस पर ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद ज़रीफ़ का कहना है कि ये एक 'ठोस' समझौते को कमज़ोर करने की 'बेताब कोशिश' है.

ईरान के परमाणु समझौते की 5 बड़ी बातें

ईरान का परमाणु संयंत्र
AFP
ईरान का परमाणु संयंत्र

वहीं जर्मनी का कहना है कि वो इस समझौते को पूरी तरह लागू करने के लिए कहता रहेगा और 'आगे बढ़ने के साझा रास्ते' के लिए ब्रिटेन तथा फ्रांस से चर्चा करेगा.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
This is the last chance for Iran Donald Trump
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X