• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

कैलिफोर्निया विधानसभा के लिए चुनी गई पहली भारतीय मूल की सिख महिला

बेकर्सफील्ड की फैमिली फिजिशियन जसमीत कौर बैंस ने कैलिफोर्नया विधानसभा के लिए चुनी जाने वाली पहली भारतीय मूल की सिख महिला बनकर इतिहास रच दिया है।
Google Oneindia News

अमेरिकी मध्यावधि चुनाव (US Midterm poll) में भारतीय मूल (Indian-Origin) के लोगों ने इतिहास रच रह दिया है। खबर है कि एक और भारतीय महिला ने अमेरिका में जीत का डंका बजा दिया है। डॉक्टर जसमीत कौर बैंस (Jasmeet Kaur Bains) ने भारत का मान बढ़ाया है। वे भारतीय मूल की पहली सिख महिला के रूप में कैलिफोर्निया विधानसभा के लिए चुनी गईं। केन काउंटी में जसमीत कौर बैंस ने अपनी प्रतिद्वंदी लेटिसिया पेरेज को पराजित किया।

जसमीत कौर बैंस एक फैमिली डॉक्टर हैं

जसमीत कौर बैंस एक फैमिली डॉक्टर हैं

बेकर्सफील्ड की फैमिली फिजिशियन जसमीत कौर बैंस ने कैलिफोर्नया विधानसभा के लिए चुनी जाने वाली पहली भारतीय मूल की सिख महिला बनकर इतिहास रच दिया है। बता दें कि, भारतीय मूल की एक और अमेरिकी महिला नबीला सैयद ने 23 साल की उम्र में चुनाव जीतक इतिहास बनाया है।

जसमीत कौर बैंस ने रच दिया इतिहास

जसमीत कौर बैंस ने रच दिया इतिहास

खबर के मुताबिक केर्न काउंटी में जसमीत कौर बैंस ने अपनी प्रतिद्वंद्वी लेटिसिया पेरेज को पराजित किया। बैंस को 10,827 मतों के साथ 58.9 प्रतिशत वोट मिला। वहीं, उनकी प्रतिद्वंदी पेरेज को 7,555 वोट के साथ 41.1 प्रतिशत वोट हासिल हुआ। जसमीत कौर बैंस बेकर्सफील्ड रिकवरी सर्विसेज में चिकित्सा निदेशक हैं। जीत हासिल करने के बाद जसमीत कौर बैंस ने कहा कि, वह स्वास्थ्य सेवा, आवास, पानी की सुविधा और वायु गुणवत्ता को प्राथमिकता देंगी।

कैलिफोर्निया विधानसभा के लिए चुनी गई जसमीत कौर बैंस

कैलिफोर्निया विधानसभा के लिए चुनी गई जसमीत कौर बैंस

बैंस बेकर्सफील्ड रिकवरी सर्विसेज में एक चिकित्सा निदेशक हैं, जो एक गैर-लाभकारी संस्था है जो व्यसन से पीड़ित वयस्कों का इलाज करती है। उन्होंने इस पूरे चुनाव रिजल्ट के समय उत्तरी केर्न काउंटी शहर डेलानो में थी। वह इसी शहर में पली बढ़ी और बड़ी भी हुई। यहां उन्होंने 100 परिवार के सदस्यों, दोस्तों और समर्थकों के साथ चुनावी नतीजों को देखा।

Recommended Video

    Indian Navy के पूर्व अधिकारियों को Qatar में बनाया बंधक, परिवार की गुहार | वनइंडिया हिंदी | *News
    एक रोमांचक जीत

    एक रोमांचक जीत

    कैलिफोर्निया विधानसभा के लिए चुनी गई जसमीत कौर बैंस ने अपने एक संदेश में लिखा, यह एक रोमांचक रात है, मैं शुरुआती रूझान से उत्साहित हूं और केर्न काउंटी में मिले समर्थन के लिए लोगों की आभारी हूं। उनका चुनाव क्षेत्र जिला अरविन से डेलानो तक फैला है। इसमें पूर्वी बेकर्सफील्ड का अधिकांश भाग शामिल है। जसमीत कौर बैंस के पिता ने ऑटो मैकेनिक के रूप में अपना कैरियर शुरू किया। और कार डीलरशिप के मालिक बना एक सफल व्यवसायी बनें। जसमीत कौर कुछ दिन अपने पिता के काम में हाथ बंटाया था। उसके बाद उन्होंने मेडिसिन में अपना करियर बनाया। जसमीत कौर बैंस ने कोविड काल में कोविड रोगियों के इलाज के लिए फील्ड अस्पतालों की स्थापना की थी। उन्हें कैलिफोर्निया एकेडमी ऑफ फैमिली फिजिशियन द्वारा 2019 हीरो ऑफ फैमिली मेडिसिन और ग्रेटर बेकर्सफील्ड चैंबर ऑफ कॉमर्स से 2021 ब्यूटीफुल बेकर्सफील्ड अवार्ड से सम्मानित किया गया।

    (Photo Credit: Twitter)

    ये भी पढ़ें :US Mid-Term Polls: मध्यावधि चुनाव में भारतीय मूल के पांच नेताओं का जलवा, जानिए कौन जीतेये भी पढ़ें :US Mid-Term Polls: मध्यावधि चुनाव में भारतीय मूल के पांच नेताओं का जलवा, जानिए कौन जीते

    Comments
    English summary
    asmeet Kaur Bains, a family physician from Bakersfield, made history by becoming the first Indian-origin Sikh woman to be elected to the California Assembly. In a Democrat vs Democrat race for the 35th Assembly District in Kern County, Bains took an early lead over her opponent Leticia Perez.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X