• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

नाइजीरिया के इशारे पर 16 भारतीयों को गिनी नौसेना ने 3 महीने से बनाया बंधक, वीडियो बना लगाई मदद की गुहार

गिनी नौसेना ने तीन केरलवासियों समेत 26 नाविकों को कच्चे तेल की चोरी में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इनमें से 16 भारतीय शामिल हैं।
Google Oneindia News

पश्चिम अफ्रीकी देश गिनी के नौसेना कर्मियों ने तीन केरलवासियों समेत 26 नाविकों को कच्चे तेल की चोरी में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इसमें से 16 भारतीय नाविक हैं। इसके अलावा क्रू मेंबर में 6 श्रीलंका, फिलीपींस, पोलैंड के एक-एक और दो अन्य मेंबर बंधक हैं। इन सभी भारतीय नाविकों ने वीडियो जारी कर भारत सरकार से लगभग तीन महीने की "गैरकानूनी" हिरासत से रिहा होने में मदद की अपील की है। सभी नाविकों ने एक वीडियो के माध्यम से भारत सरकार से अपील की है कि उन्हें वहां से उन्हें छुड़ाया जाए।

नाइजीरिया के इशारे पर गिनी नौसेना ने पकड़ा

नाइजीरिया के इशारे पर गिनी नौसेना ने पकड़ा

वीडियो में नाविकों ने कहा है कि वे नार्वे के जहाज हीरोइक इडुन में सवार थे। जब उन्हें नाइजीरिया के इशारे पर गिनी नौसेना द्वारा 12 अगस्त को हिरासत में लिया गया। गिरफ्तारी के बाद उन्हें एक्वाटोरियल गिनी नेवल एस्कोर्ट पर लाया गया और उन्हें धमकी भी दी गई कि अगर उन्होंने उनके आदेश नहीं माने तो उनके पोत और चालक दल के खिलाफ घातक कार्रवाई की जाएगी। वीडियो में कैद लोगों ने उन्हें वहां से निकालने की अपील की। उन्होंने आगे कहा कि क्रू में कुल 26 सदस्य थे जिनमें 16 भारतीय, 8 श्रीलंका से, 1 पोलिश और 1 फिलिपिनो के रहने वाले हैं।

नार्वे कंपनी के फिरौती की पेशकश को नौसेना ने ठुकाराया

ओनमानोरमा बेवसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक जहाज की नॉर्वे स्थित कंपनी ने इन सभी क्रूमेंबर को वापस लौटाने के लिए सरकार को फिरौती के रूप में 20 लाख अमेरिकी डॉलर देने की पेशकश की थी लेकिन गिनी नौसेना ने इससे साफ इंकार कर दिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक गिनी नौसेना इन नाविकों को नाइजीरिया को सौंपने वाली है। दरअसल नार्वे का जहाज कच्चा तेल भरने के लिए 8 अगस्त को नाइजीरिया के एकेपीओ टर्मिनल पहुंचा था। जब चालक दल अपनी बारी का इंतजार कर रहा था तब एक अन्य जहाज को इडुन की ओर जाते हुए देखा गया था।

गिनी नौसेना को नहीं मिला अपराध का कोई सबूत

गिनी नौसेना को नहीं मिला अपराध का कोई सबूत

हालांकि नाविकों ने इस जहाज को देख समुद्री लुटेरा समझ लिया और भागने की कोशिश की, लेकिन जहाज को गिनी नौसेना द्वारा जब्त कर लिया गया। नाविकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक गिनी नौसेना को जहाज पर कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है। रिपोर्ट्स के मुताबिक नाविकों की रिहाई के लिए राजनयिक चैनलों के माध्यम से एक मजबूत भागीदारी की जरूरत है। बतादें कि गिनी की खाड़ी देशों में तेल की चोरी बड़े पैमाने पर होती रही है।

मंत्री वी मुरलीधरन ने दिया आश्वासन

मंत्री वी मुरलीधरन ने दिया आश्वासन

इस पूरे मामले में केंद्रीय राज्य विदेश मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा है कि उन्हें इसकी जानकारी है। उन्होंने यह भी कहा कि वह भारतीयों को वापस लाने की पूरी कोशिश की जा रही है। उन्होंने बताया कि 15 क्रू मेंबर्स जिनमें 9 भारतीय शामिल हैं, उन्हें मलाबो में 14 अगस्त से बंधक बनाकर रखा हुआ है। बाकी 11 क्रू मेंबर्स में जिनमें 6 भारतीय शामिल हैं शिप पर छोड़ दिए गए थे। स्टेटमेंट में कहा गया है कि 'शिप के मालिक, मैनेजर और क्रू मेंबर्स जांच में पूरी तरह से सहयोग दे रहे हैं। जिन क्रू मेंबर्स को किनारे पर छोड़ा गया है उनसे तीन बार पूछताछ की गई है।'

महिलाओं का खतना करना इंसानियत से अपराध, मुस्लिमों की कुप्रथा पर बोले पोप फ्रांसिसमहिलाओं का खतना करना इंसानियत से अपराध, मुस्लिमों की कुप्रथा पर बोले पोप फ्रांसिस

Comments
English summary
Guinea Navy held 16 Indians hostage for 3 months at the behest of Nigeria
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X