• search

दो साल बाद ख़त्म हुई तुर्की में इमरजेंसी

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    रिचेप तैय्यप अर्दोआन
    Reuters
    रिचेप तैय्यप अर्दोआन

    तुर्की की मीडिया ने कहा है कि दो साल पहले देश में लगाए गए आपातकाल को सरकार ने ख़त्म कर दिया है.

    दो साल पहले देश में तख़्तापलट की नाकाम कोशिश हुई थी जिसके बाद तुर्की में आपातकाल लगा दिया गया था.

    इस दौरान हज़ारों लोगों की गिरफ्तारियां हुईं जबकि हज़ारों को नौकरियों से बर्ख़ास्त किया गया.

    सरकार ने आपातकाल ना हटाने के पक्ष में फ़ैसला लिया और इसकी मियाद कुछ महीनों के लिए आगे बढ़ाती रही.

    देश में हाल में राष्ट्रपति चुनाव संपन्न हुए जिसमें एक बार फिर मौजूदा राष्ट्रपति रिचेप तैय्यप अर्दोआन चुनाव जीते थे.

    चुनाव अभियान में विपक्षी उम्मीदवारों ने वादा किया था कि चुनाव जीतने पर वो सबसे पहले जो काम करेंगे वो आपातकाल को ख़त्म करना होगा.

    आधिकारिक आंकड़ों और स्वयंसेवी संस्थाओं के एकत्र किए आंकड़ों के अनुसार आपातकाल के दौरान एक लाख सात हज़ार लोगों को सरकारी नौकरियों ने निकाला गया है जबकि पचास हज़ार से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उनकी सुनवाई बाक़ी है.

    आरोप-प्रत्यारोप

    तुर्की
    Getty Images
    तुर्की

    माना जा रहा है कि जिन लोगों को नौकरियों से बर्खास्त किया गया है वो निर्वासित इस्लामिक मौलवी फतेहुल्लाह गुलेन के समर्थक थे.

    फतेहुल्लाह गुलेन पहले अर्दोआन के मित्रों में शुमार थे लेकिन अब अमरीका में निर्वासित जीवन बिता रहे हैं.

    तुर्की का आरोप है कि 2016 में हुए सैन्य तख़्तापलट की कोशिश गुलेन और उनके समर्थकों ने की थी, हालांकि गुलेन इन आरोपों से इनकार करते हैं.

    2016 में हुई तख़्तापलट की कोशिश के दौरान 250 से अधिक लोगों की मौत हुई थी.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Emergency has been ended in Turkey after two years

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X