• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

VVIP हेलि‍कॉप्टर स्‍कैम: कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी पर ईडी ने शिकंजा कसा

|

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी पर ईडी की शिकंजा और कस गया है। ईडी ने रतुल पुरी के कंपनियों से संबंधित 200 ईमेल प्राप्त किए हैं। जिनका संबंध वीवीआईपी हेलि‍कॉप्टर घोटाले से है। इसमें रितुल की कंपनियों की आय का विवरण है जो वीवीआईपी हेलि‍कॉप्टर घोटाले से मिली। ईडो को इस घोटाले के आरोपी राजीव सक्सेना के मोबाइल फोन से ये ईमेल बरामद हुए हैं।

VVIP chopper scam:ed recovered 200 emails related to Kamal Nath nephew Ratul Puri

एक लोकल कोर्ट ने रतुल पुरी को ईडी की गिरफ्तारी से संरक्षण देने से इनकार कर दिया। ईडी ईमेल के आधार पर और अन्य सबूतों के साथ कमलनाथ के भांजे को गिरफ्तार कर सकती है। कोर्ट ना केवल पुरी की अग्रिम जमानत को खारिज कर दिया, बल्कि ईडी द्वारा मनी लॉन्ड्रिंग निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) की धारा 50 के तहत दर्ज किए गए उनके बयानों को भी खारिज कर दिया।

लोकल कोर्टे के जज ने कहा कि इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि जांच महत्वपूर्ण चरण में है और आवेदक/आरोपी रतुल पुरी द्वारा निभाई गई भूमिका, ईडी द्वारा एकत्र किये गये सबूतों, आरोपों की गंभीरता और आरोपी के कथित आचरण को ध्यान में रखते हुए, मैं अग्रिम जमानत दिया जाना उचित नहीं समझता हूं. इसलिए अग्रिम जमानत की याचिका खारिज की जाती है। सूत्रों ने बताया कि रतुल 25 जुलाई से उपलब्ध नहीं हैं, जब उन्होंने ईडी को पर्ची दी थी। सूत्रों के अनुसार पुरी हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं। अगस्ता वेस्टलैंड के साथ रद्द हो चुके 3600 करोड़ रुपए के हेलि‍कॉप्टर सौदे से जुड़े मामले में पूछताछ के लिए वह हाल में प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश हुए थे। इस बीच पुरी मंगलवार को ईडी के समक्ष पेश नहीं हुए।

ये भी पढ़ें-अगस्ता स्कैम पर ED का बड़ा यूटर्न, 24 घंटे बाद मृत गवाह को बताया जिंदा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
VVIP chopper scam:ed recovered 200 emails related to Kamal Nath nephew Ratul Puri
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X