• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'सुपर सोल्जर' बनाने के लिए चीन सैनिकों पर कर रहा बॉयोलॉजिकल टेस्ट, अमेरिकी खुफिया चीफ का दावा

|

वाशिंगटन। चीन दुनिया में अपनी ताकत साबित करने के लिए हर हथकंडे अपना रहा है। फिर चाहे वह नैतिक हों या अनैतिक उसे इससे फर्क नहीं पड़ता। इंसानों पर प्रयोग किए जाने के लिए कुख्यात चीन के बारे में अब चौकाने वाली जानकारी सामने आई है। अब चीन अपनी सेना में सुपर सोल्जर बनाने की ओर कदम बढ़ा चुका है। इसके लिए सेना में तैनात जवानों के ऊपर बॉयोलॉजिकल टेस्ट किए जा रहे हैं। इसका उद्येश्य जैविक रूप से संवर्धित सैनिक तैयार करना है।

Chinese Army

अमेरिका राष्ट्रीय खुफिया विभाग के प्रमुख ने वाल स्ट्रीट अखबार में लिखे एक लेख में ये दावा किया है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रीय खुफिया प्रमुख जॉन रेडक्लिफ ने चेतावनी दी है कि आज की तारीख में अमेरिका के लिए चीन सबसे बड़ा खतरा बन गया है। रिपोर्ट में उन्होंने लिखा कि खुफिया विभाग के पास स्पष्ट जानकारी है कि चीन का इरादा अमेरिका के साथ ही बाकी दुनिया पर सैन्य, आर्थिक और तकनीकी रूप से हावी होने का है।

चीन की कंपनियों को कहा छलावा

रेडक्लिफ ने कहा कि चीन की कई सारी सार्वजनिक और प्रमुख कंपनियां केवल छलावा हैं। यह असल में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के लिए काम करने के लिए बनी हुई हैं। चीन ने अपने नजरिए को धरातल पर उतारने के लिए लंबा रास्ता तय किया है।

रेडक्लिफ ने वाल स्ट्रीट में लिखा कि खुफिया जानकारी से ये बता चला है कि चीन जैविक रूप से समृद्ध सैनिक तैयार करने के लिए उनके ऊपर जैविक परीक्षण कर रहा है। बीजिंग ताकत को पाने के लिए हर तरह की नैतिक सीमाओं को पार कर रहा है।

कांग्रेस को निशाना बना रहा चीन

वहीं अपने लेख में रेटक्लिफ ने चीन पर अमेरिकी कांग्रेस के सदस्यों को निशाना बनाने जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं। रेडक्लिफ के मुताबिक कांग्रेस के सदस्यों को अपने पक्ष में करने के लिए चीन रूस के मुकाबले छह गुना और ईरान के मुकाबले 12 गुना अधिक कोशिश कर रहा है। इसी मामले पर CBS चैनल के एक सवाल पर उन्होंने कहा कि "वे (चीनी) अमेरिका में ऐसे कानून और नीतियां बनवाने की कोशिश में लगे हुए हैं जो चीन के पक्ष में हों। इसके लिए जो वे कर रहे हैं इनमें कांग्रेस सदस्यों को ब्लैकमेल करना, घूस देना और गुप्त सूचनाओं के आधार पर उन्हें प्रभावित करके ये सुनिश्चित करना है कि वे ऐसे कानून पास करें जो चीन के हित में हों।

अमेरिका-चीन में तनाव चरम पर

रेडक्लिफ का लेख ऐसे समय में आया है जब दोनों महाशक्तियों के बीच तनाव चरम पर है। कोरोना वायरस आने के बाद से ही राष्ट्रपति ट्रंप चीन के ऊपर इस महामारी को दुनिया में फैलाने का आरोप लगाते रहे हैं। इस सप्ताह की शुरुआत में ही चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि अमेरिका चीन के खिलाफ विभिन्न राजनीतिक दमनकारी अभियान शुरू कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह चीन के खिलाफ मजबूत वैचारिक पूर्वाग्रह पर आधारित रणनीति है।

Ladakh:सर्दी शुरू होते ही चीनी सैनिकों का LAC पर टिकना हुआ मुश्किल, भारतीय सेना के सामने पस्त

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
us intelligence chief told china doing biological test on soldiers
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X