• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Cyclone Amphan: ताकतवर हुआ 'अम्फान', 270 KM की रफ्तार से चल रही हवाएं, पढ़ें IMD का लेटेस्ट अपडेट

|

नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान 'अम्फान' ने भीषण चक्रवाती तूफान का रूप धारण कर लिया है, IMD ने अपने लेटेस्ट अपडेट में कहा है कि इस तूफान की वजह से समुद्र में 270 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं और सुपर साइक्लोन जैसे-जैसे आगे बढ़ रहा है ओडिशा और तटीय पश्चिम बंगाल के भागों में हवाएं उग्र होती जा रही हैं, मौसम विभाग ने कहा है कि सुपर साइक्लोन अम्फान को विशाखापट्टनम (आंध्र प्रदेश) में डॉपलर वेदर रडार (DWR) से लगातार ट्रैक किया जा रहा है।

195 से 200 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी हवा की रफ्तार

195 से 200 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी हवा की रफ्तार

IMD ने कहा है कि 1999 में ओडिशा तट पर आए प्रचंड चक्रवातीय तूफान के बाद यह उस श्रेणी का दूसरा तूफान है, जिस वक्त ये तट से टकराएगा उस दौरान हवा की गति 195 से 200 किलोमीटर प्रति घंटा रहने का अनुमान है जबकि मौसम विभाग भुवनेश्वर के मुताबिक, सुपर साइक्लोन अम्फान से ओडिशा के केंद्रपारा, भद्रक, बालासोर, जजपुर और जगतसिंहपुर जिले सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे।

यह पढ़ें: सुपर साइकलोन का नाम कैसे पड़ा 'Amphan'

गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्रियों से की बात

इस तूफान को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और बंगाल की सीएम ममता बनर्जी दोनों से बात की और तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किसी भी तरह की सहायता उपलब्ध कराने के लिए तैयार है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लिया स्थिति का जायजा

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान को लेकर सोमवार को उच्चस्तरीय बैठक बुलाई थी, जिसके बाद प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी बयान में बताया गया था कि प्रधानमंत्री ने स्थिति की समीक्षा की और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल द्वारा उठाए गए कदमों और लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने के बारे में जानकारी ली है तो वहीं इस तूफान से निपटने के लिए त्रिपुरा और बंगाल सरकार पूरी तरह से मुश्तैद है।

ओडिशा और पश्चिम बंगाल में हो सकती है तबाही

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में आ रहे चक्रवात 'अम्फान' से लोगों के बचाव के लिए एनडीआरएफ की टीमें तैनात कर दी गई हैं, त्रिपुरा की सरकार ने अपने जिला प्रशासन को जरूरी तैयारी करने का निर्देश दिया है। आईएमडी अगरतला ने तूफान के साथ बिजली कड़कने, साथ ही 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना व्यक्त की है। इसके साथ ही सभी जिलों में 20-21 मई के बीच कुछ स्थानों में भारी बारिश की आशंका जताई गई है तो वहीं मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में 20 मई तक मछली पकड़ने के काम पर रोक लगाई है।

    Cyclone Amphan: Odisha के तट पहुंचा च्रकवात तूफान, अगले 6 घंटे में मचेगी तबाही | वनइंडिया हिंदी

    ओडिशा और बंगाल में रेड अलर्ट जारी

    ओडिशा और बंगाल में रेड अलर्ट जारी है। भुवनेश्वर मौसम विज्ञान केंद्र के डायरेक्टर एचआर बिस्वास ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में उठे तूफान का सामना करने के लिए ओडिशा पूरी तरह से तैयार है, ओडिशा के बालासोर, भद्रक, केंद्रपाड़ा, पुरी, जगतसिंहपुर, जाजपुर और मयूरभंज जिलों में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की 10 टीमें तैनात की गई हैं, 7 टीमें कटक में 3 एनडीआरएफ बीएन मुंडाली में हैं।

    सीएम ने कहा- नहीं होने देंगे जनहानि

    तो वहीं राज्य सरकार ने लोगों को आश्वस्त किया कि वह किसी तरह की जनहानि होने नहीं देंगे। इसके लिए सरकार पूरी तरह से तैयार है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने तूफान से राज्य में एक भी व्यक्ति की मौत नहीं होने देने को सुनिश्चित करने का लक्ष्य निर्धारित किया।

    यह पढ़ें: Cyclone Amphan Live Updates: अम्फान का बढ़ा खतरा

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Super Cyclone Amphan became the strongest storm ever recorded in the Bay of Bengal on Monday night, after intensifying with sustained wind speeds of up to 270 kilometers per hour.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X