शांति के लिए नोबेल प्राइज में श्री श्री रविशंकर ने निभाई थी अहम भूमिका

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। इस बार का पीस नोबेल प्राइज कोलंबिया के राष्ट्रपति जुआन मैनुअल सैंटोस को मिला है, लेकिन इस अवार्ड के पीछे आर्ट ऑफ लिविंग के फाउंडर श्री श्री रविशंकर ने काफी अहम भूमिका निभाई है। कोलंबिया में सिविल वार को खत्म करने में जुआन ने काफी अहम भूमिका निभाई थी और इसमें श्री श्री ने उनका काफी साथ दिया था। पिछले 52 सालों से कोलंबिया में ऑर्म फोर्सेस और कोलंबिया सरकार के बीच तनाव चल रहा था जोकि आखिरकार खत्म हो गया।

जानिए नोबेल प्राइज का इतिहास और हर एक बात...

Sri Sri played an important role for Santos who won Nobel peace prize

ऐतिहासिक करार पर श्री श्री को भी मिला था न्योता

जिस वक्त इस सिविल वार को खत्म करने के दस्तावेज पर 26 सितंबर को कार्टागेना में साइन किया जा रहा था तो श्री श्री को भी जुआन व फार्क यानि आर्म फोर्सेस ने आमंत्रित किया था।

राष्ट्रपति ने शुक्रिया अदा किया

कार्यक्रम के बाद सैटोस ने श्री श्री को शुक्रिया अदा करते हुए कहा था कि आपने इस शांति प्रक्रिया में जोभी योगदान दिया है उसके लिए शुक्रिया करते हिए कहा कि आपकी मदद काफी अहम रही, खासकर आपका आध्यात्मिक निर्देशन काफी मददगार रहा और इसके लिए हम आपका हमेशा शुक्रगुजार रहेंगे।

दोनों पक्षों की कराई मुलाकात

आपको बता दें कि कोलंबिया में अपने दौरे के दौरान श्री श्री ने 500 स्थानीय एक्टिविस्ट न्योता दिया था और इन्हे शांति व सहयोग की भावना का संदेश दिया था। इस दौरान उन्होंने कई पक्षों से भी

मुलाकात की थी।

पीड़ित परिवारों से की थी मुलाकात

श्री श्री ने सितंबर में फार्क के नेताओं के अलावा उन 12 परिवारों से भी मुलाकात की थी जिनके घरवाले को फार्क के लोगों ने किडनैप करके मौत के घाट उतार दिया था। इस मुलाकात का अंत काफी दिलचस्प था, फार्क के सदस्यों ने हाथ जोड़कर इन लोगों के लिए प्रार्थना की थी।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sri Sri played an important role for Santos who won Nobel peace prize. Santos thanked Sri Sri for his all support in the peace process.
Please Wait while comments are loading...