• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'अपनी तस्वीर देखने की हिम्मत नहीं': दिल्ली हिंसा के पीड़ित ने सुनाई आपबीती

|

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में हुई हिंसा ने कई घरों को जला दिया और बड़ी संख्या में जानमाल का नुकसान हुआ। राजनीतिक पार्टियां इस घटना के लिए केंद्र और दिल्ली सरकार को जिम्मेदार ठहरा रही हैं। वहीं, सोशल मीडिया पर इस घटना की कई सारी तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिसमें उपद्रवी तोड़-फोड़ और आगजनी करते दिखाई दे रहे हैं। इन्हीं में से एक तस्वीर और वायरल हुई है जिसमें कुछ लोग डंडों और लोहे की छड़ से एक शख्स को पीटते नजर आ रहे हैं।

बच्चों के लिए हलवा-पराठा लेकर घर जा रहे थे जुबेर

बच्चों के लिए हलवा-पराठा लेकर घर जा रहे थे जुबेर

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक वायरल हो रही तस्वीर में भीड़ से खुद बचाते हुए शख्स का नाम मोहम्मद जुबेर है। दिल्ली के भजनपुराा स्थित चांद बाग में रहने वाले जुबेर से जब इंडियन एक्सप्रेस ने बात की तो उन्होंने अपने साथ हुई बर्बरता के बारे में बताया। जुबेर के मुताबिक वह सोमवार को अपने बच्चों के लिए हलवा और परांठा लेकर घर आ रहे थे। तभी रास्ते में कुछ लोगों ने उनको घेर लिया, उनमें से कुछ ने अपने मुंह पर कपड़ा बांधा हुआ था और उनके हाथ मे लकड़ी के डंडे और लोहे की छड़ थी।

उपद्रवियों ने डंडों और लोहे की छड़ से पीटा

उपद्रवियों ने डंडों और लोहे की छड़ से पीटा

इससे पहले कि जुबेर कुछ समझ पाते भीड़ ने उन पर डंडे और लोहे की छड़ से हमला कर दिया। जुबेर अपनी जान की भीख मांगते रहे लेकिन उपद्रवियों ने उनकी एक न सुनी और उन्हें बुरी तरह पीटा। जुबेर ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि वह वहीं पर बेहोश हो गए थे उसके बाद उन्हें सिर्फ इतना याद है कि वह जीटीबी अस्पताल में थे। उन्हें हमले के बारे में ज्यादा याद नहीं है, लेकिन जब वह अपनी तस्वीर देखते हैं तो वह भयावह घटना उन्हें फिर डरा देती है। जुबेर ने कहा, उन्होंने मुझे तब तक मारा जब तक मैं पूरी तरह बेहोश नहीं हो गया, मैं उनसे अपनी जान की भीख मांगता रहा लेकिन वह उसी क्रूरता से मुझे मारते रहे।

सिर, हाथ, कंधे और पैर में आई चोट

सिर, हाथ, कंधे और पैर में आई चोट

जुबेर ने आगे कहा, उपद्रवी सांप्रदायिक रूप से भड़काए गए थे और वह बार-बार भाजपा नेता कपिल मिश्रा का नाम ले रहे थे। मुझे ज्यादा याद नहीं है, उम्मीद है कि मेरे बच्चे सुरक्षित होंगे। उन्होंने कहा, अपने उपर हुए हमले की तस्वीर देखने की मुझमें हिम्मत नहीं। इस हमले में जुबेर के सिर, हाथ, कंधे और पैरों पर चोट आई है, फिलहाल उन्हें जीटीबी अस्पताल से छुट्टी मिल गई है और वह अभी अपने चचेरे भाइयों के साथ इंद्रपुरी में रह रहे हैं।

भजनपुरा इलाके में हुई हिंसक घटनाएं

भजनपुरा इलाके में हुई हिंसक घटनाएं

बता दें कि, सोमवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा इलाके में हिंसक घटनाएं हुई थी। उस दौरान जुबेर नमाज पढ़ने के लिए घर से बाहर आए हुए थे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जुबेर को कुछ प्रदर्शनकारियों द्वारा घेर लिया गया और उनके साथ मारपीट की गई। बेहोशी की हालत में बाद में उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया।

पहचान पत्र की जांच कर रहे थे उपद्रवी

पहचान पत्र की जांच कर रहे थे उपद्रवी

दिल्ली की सड़कों पर घूम रहे ये नकाबपोश उपद्रवी लोगों के पहचान पत्र चेक कर रहे थे। दोपहर तकरीबन 2 बजे मौजपुर चौक के पास जहां पर दिल्ली पुलिसकर्मियों की संख्या अधिक थी वहां पर तेज आवाज आने लगी, उपद्रवियों ने युवकों के साथ मारपीट शुरू कर दी। हालांकि पुलिस बचाव के लिए आगे आई, लेकिन तबतक उपद्रवियों ने युवकों की बुरी तरह से पिटाई कर दी थी। इसमे से एक युवक ने कहा कि ये तो बच गया होगा, दो और को तो बहुत बुरा मारा है। ये लोग हमपर हमले कर रहे थे। अगर ये हमारे लोगों को मारेंगे तो हम इन्हें मारेंगे।

दिल्ली हिंसा के बाद यूपी के नोएडा में भी अलर्ट, डीएम ने दिए ये निर्देश

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
person who was a victim of Delhi violence said Do not dare to see your picture
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X