• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

पाकिस्तानी आतंकी की गिरफ्तारी के बाद हार्ट अटैक से मौत, सुसाइड मिशन के लिए भेजा गया था भारत

पाकिस्तानी आतंकी की गिरफ्तारी के बाद हार्ट अटैक से मौत, सुसाइड मिशन के लिए भेजा गया था भारत
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 4 सितंबर: पाकिस्तान के एक आतंकी की शनिवार को जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में एक सैन्य अस्पताल में हृदय गति रुकने से मौत हो गई। एक हफ्ते पहले इस पाकिस्तानी आतंकी को घुसपैठ की कोशिश के दौरान गिरफ्तार किया गया था। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के कोटली के सब्ज़कोट गांव के रहने वाले तबारक हुसैन (32) को पिछले छह साल में दूसरी बार 21 अगस्त को सीमा पार से इस तरफ घुसपैठ करने की कोशिश करते हुए गिरफ्तार किया गया था। ये सुसाइट मिशन पर भारत आया था।

जवानों ने आतंकी को बचाने के लिए दिया था खून

जवानों ने आतंकी को बचाने के लिए दिया था खून

लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के एक प्रशिक्षित गाइड और पाकिस्तानी सेना के एजेंट घुसपैठ की कोशिश के दौरान गिरफ्तार हुसैन को भारतीय सैनिकों ने गोली मारी थी, जिसके बाद वह गंभीर रूप से घायल था। बाद में हुसैन को सैन्य अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया, जहां उनकी सर्जरी हुई, जिसके दौरान सैनिकों ने तीन यूनिट रक्त दान किया ताकि उसकी जान बचाई जा सके। लेकिन उसकी मौत हो गई है।

हमला करने की थी योजना

हमला करने की थी योजना

सेना के एक अधिकारी ने कहा, "शनिवार देर शाम दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया।" शव को रविवार को कानूनी औपचारिकताओं के लिए पुलिस को सौंप दिया जाएगा। 24 अगस्त को, सेना के 80 इन्फैंट्री ब्रिगेड कमांडर, ब्रिगेडियर कपिल राणा ने कहा कि हुसैन ने दो अन्य लोगों के साथ भारतीय सेना की चौकी पर हमला करने की अपनी योजना के बारे में कबूल किया है, जो नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर रोके जाने के बाद वापस भाग गए थे।

 पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी के एक कर्नल द्वारा भारत भेजा गया था आतंकी

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी के एक कर्नल द्वारा भारत भेजा गया था आतंकी

ब्रिगेडियर कपिल राणा ने कहा था, ''हुसैन ने खुलासा किया कि उसे कर्नल यूनुस चौधरी नामक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी के एक कर्नल द्वारा भेजा गया था, जिन्होंने उन्हें 30,000 रुपये (पाकिस्तानी मुद्रा) का भुगतान किया था। हुसैन ने यह भी खुलासा किया कि उन्होंने अन्य आतंकवादियों के साथ भारतीय अग्रिम चौकियों की दो से तीन करीबी रेकी की थी। एक उपयुक्त समय पर उन्हें निशाना बनाने का लक्ष्य था। भारतीय चौकी को निशाना बनाने के लिए 21 अगस्त को कर्नल चौधरी ने कहा था।''

ये भी पढ़ें- 'मेरे जज बेटे ने फांसी नहीं लगाई, पत्नी और बहनोई ने उसे मारा...', ओडिशा जज की मां बोली- शव तक नहीं देखने दिया

Comments
English summary
Pakistani terrorist dies of cardiac arrest He was on suicide mission
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X