पाक मीडिया ने कहा- नवाज और मोदी कजाकिस्तान में देंगे सरप्राइज

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्लीभारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव के मसले पर भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कभी बढ़ चुका है। हालांकि अब पाकिस्तान, भारत पर दबाव बना रहा है कि बातचीत की जाए लेकिन फिलहाल इसकी संभावना किसी ओर से नहीं है।

मीडिया में आई हैं ऐसी खबरें

मीडिया में आई हैं ऐसी खबरें

पाकिस्तानी मीडिया की खबरों के मुताबिक जून में भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शंघाई सहयोग संगठन की बैठक के दौरान कजाकिस्तान में आमने सामनें होंगे तो अलग से मुलाकात कर सकते हैं। गौरतलब है कि शंघाई सहयोग संगठन में मध्य एशिया के देश समेत रूस और चीन भी शामिल हैं। सहयोग संगठन में पहली बार भारत और पाकिस्तान को भी शामिल किया जाएगा।

चीन रुस का दबाव!

चीन रुस का दबाव!

पाक की मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के जरिए कहा गया है कि संगठन के दो कद्दावर देश, रूस और चीन, भारत-पाक पर वार्ता के लिए दबाव बना रहे हैं। हालांकि अन्य सूत्र ऐसी किसी खबर को खारिज कर रहे हैं। उनका कहना है कि भारत और पाक की वार्तालाप में तीसरे पक्ष की भूमिका नहीं होगी। सूत्र यह भी कह रहे हैं कि संभवतः कजाकिस्तान में क्या होगा इस पर गलत प्रचार किया जा रहा है।

कहा- हो सकती है मुलाकात

कहा- हो सकती है मुलाकात

हालांकि पाकिस्तान के अंग्रेजी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अपनी एक रिपोर्ट में पाक के वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से लिखा है कि जल्द ही पीएम नवाज शरीफ की मुलाकात पीएम नरेंद्र मोदी से हो सकती है। अधिकारी के हवाले से रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पाक यह नहीं चाहता कि 'भारतीय जासूस' का मुद्दा वार्तालाप पर असर डाले।

लेकिन भारत का रवैया अडिग

लेकिन भारत का रवैया अडिग

दूसरी ओर भारत ने ऐसी किसी भी वार्ता या मुलाकात से इनकार किया है। भारत फिलहाल कुलभुषण जाधव के मुद्दे पर अडिग है। भारत शुरु से ही इस बात का पक्षधर रहा है कि जब तक दोनों मुल्कों के बीच आतंक और हिंसा का माहौल खत्म नहीं होगा तब तक कोई बात नहीं होगी।

ये भी पढ़ें: कार्यक्रम में नहीं पहुंचे राजनाथ तो लालू ने कही ऐसी बात

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Modi and nawaz can meet in kazakhstan?.
Please Wait while comments are loading...