• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इरफान खान को याद कर भावुक हुईं पत्नी Sutapa Sikdar, बताया क्या होता है 'विधवा' औरत का दर्द

|

नई दिल्ली। बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता इरफान खान को दुनिया छोड़े 5 महीने से अधिक का समय हो गया है। उन्हें उनके फैंस, परिवार और दोस्त काफी याद करते हैं। इरफान खान की पत्नी सुतापा सिकदर भी आए दिन पति को याद करते हुए सोशल मीडिया पर इमोशनल पोस्ट करती रहती हैं। अब एक फिर सुतापा ने एक भावुक कविता शेयर की है। जिसमें उन्होंने बताया है कि एक विधवा महिला का दर्द क्या होता है। सुतापा ने कविता अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर की है। सुतापा ने इरफान की फूलों से सजी कब्र की तस्वीर शेयर करते हुए बताया है कि एक औरत का पति के बिना अकेले रहना कितना मुश्किल होता है।

    Irrfan Khan को याद कर भावुक हुईं Sutapa Sikdar, ऐसे बयां किया 'विधवा' का दर्द | वनइंडिया हिंदी
    लुइस ग्लक की कविता शेयर की

    लुइस ग्लक की कविता शेयर की

    उन्होंने नोबल प्राइज विनर लेखक लुइस ग्लक की कविता शेयर की है, जिसमें बताया गया है कि विधवा औरत कैसा दर्द झेलती है और उसके मन की हालत कैसी होती है। कविता कुछ इस प्रकार है-

    मैं आपको कुछ बताऊंगी: हर रोज,

    लोग मर रहे हैं और ये बस शुरुआत है,

    हर रोज, शमशानों में, नई विधवाओं का जन्म होता है,

    नए अनाथ हाथ जोड़कर बैठे हुए हैं,

    इस नए जीवन के बारे में फैसला करने की कोशिश करते हैं।

    फिर वो कब्रिस्तान में होते हैं, जिनमें से कुछ पहली बार आते हैं,

    फिर वो कब्रिस्तान में होते हैं, जिनमें से कुछ पहली बार आते हैं,

    वो रोने से डरते हैं, कई बार नहीं रोते,

    कोई उन्हें सहारा देकर बताता है कि आगे क्या करना है,

    जिसका मतलब हो सकता है कुछ शब्द कहना,

    फिर खुली कब्र में मिट्टी फेंकना।

    और उसके बाद सभी घर वापस चले जाते हैं,

    और उसके बाद सभी घर वापस चले जाते हैं,

    जो अचानक ही आगंतुकों से भरा होता है,

    विधवा सोफे पर बैठती है, बहुत ही सलीके से,

    लोग लाइन में लगे उसके पास आते हैं,

    कभी उसका हाथ थामते हैं, कभी उसे गले लगाते हैं,

    वह हर एक से कुछ कहने को खोजती है,

    उन्हें आने के लिए धन्यवाद कहती है।

    उसके दिल में, वह चाहती है कि वो चले जाएं,

    उसके दिल में, वह चाहती है कि वो चले जाएं,

    वो वापस कब्रिस्तान जाना चाहती है,

    वापस उसके बीमारी वाले कमरे में, अस्पताल में,

    वो जानती है कि यह संभव नहीं है,

    लेकिन यही उसकी इकलौती उम्मीद होती है,

    पीछे जाने की इच्छा।

    और बस थोड़ा सा नहीं, ना शादी तक बल्कि पहले किस तक।

    29 अप्रैल को दुनिया से विदा हुए थे इरफान

    29 अप्रैल को दुनिया से विदा हुए थे इरफान

    आपको बता दें इरफान खान का इसी साल 29 अप्रैल को निधन हो गया था। उनके निधन का कारण कोलन इन्फेक्शन था। इरफान बीते करीब दो साल से न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से लड़ रहे थे। उनकी आखिरी फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' थी। उनके परिवार में पत्नी सुजाता सिकदर और दो बेटे बाबिल और अयान हैं। सुतापा ने इरफान के निधन के बाद बयान जारी कर कहा था कि वह इसे निजी नुकसान नहीं मान रही हैं क्योंकि इरफान के जाने से बहुत से लोग दुखी हैं।

    हाथ काटने की नौबत आई तो ऑटो ड्राइवर की सोनू सूद ने की मदद, एक्‍टर ने बदले में की ये डिमांड

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    late actor irrfan khan wife sutapa sikdar shares emotional poem on widows pain by louise gluck
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X