• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Kerala lottery result: केरल निर्मल NR-193 लॉटरी से मालामाल हुए लोग, पहले विजेता को मिली इतनी बड़ी रकम

|

तिरुवनंतपुरम। केरल स्टेट लॉटरी विभाग ने शुक्रवार को केरल लॉटरी निर्मल एनआर- 193 स्टेट लॉटरी के नतीजे घोषित कर दिए हैं। यह ड्रा तिरुवनंतपुरम के बेकरी जंक्शन के पास गोर्की भवन में आयोजित किया जा रहा है। इस लॉटरी का पहला पुरस्कार 70 लाख रुपये रखा गया था, दूसरा पुरस्कार 10 लाख रुपये रखा गया था और तीसरा एक लाख रुपये रखा गया था। इसके अलावा एक सांत्वना पुरस्कार 8000 रुपये का रखा गया था। लॉटरी के ये नतीजे वेबसाइट keralalotteryresult.net और keralalotteries.com पर जाकर देखे जा सकते हैं।

यहां होता है लॉटरी का संचालन

यहां होता है लॉटरी का संचालन

आपको बता दें भारत में कानूनी लॉटरी का संचालन करने वाले राज्य केरल, मध्य प्रदेश, पंजाब, पश्चिम बंगाल, मेघालय, मणिपुर, सिक्किम, नागालैंड, मिजोरम, महाराष्ट्र और गोवा और अरुणाचल प्रदेश हैं। केरल उन 13 राज्यों में से एक है जहां कानूनी लॉटरी रखने का अधिकार प्राप्‍त है। यहां आसपास के लोगों को अपनी किस्मत आजमाने और काफी मात्रा में नकदी जीतने का शानदार मौका मिलता है।

इन्हें मिला पहला, दूसरा और तीसरा पुरस्कार

इन्हें मिला पहला, दूसरा और तीसरा पुरस्कार

अब देखते हैं कि रिजल्ट में किसे कितने पैसे मिले हैं। तो पहले पुरस्कार के तौर पर 70 लाख रुपये NS-753748 को दिए गए हैं। सांत्वना पुरस्कार के तौर पर 8 हजार रुपये इन्हें दिए गए हैं- NN 753748, NO 753748, NP 753748, NR 753748, NT 753748, NU 753748, NV 753748, NW 753748, NX 753748, NY 753748, NZ 753748। दूसरे पुरस्कार के तौर पर 10 लाख रुपये NO-531207 को दिए गए हैं। तीसरे पुरस्कार के तौर पर एक लाख रुपये NN-576595, NO-361262, NP-143112, NR-833009, NS-702743, NT-119707, NU-474215, NV-498512, NW-195561, NX-114310, NY-410997, NZ-528436 को मिले हैं।

ये हैं चौथे पुरस्कार के विजेता

ये हैं चौथे पुरस्कार के विजेता

इसके बाद अब बात करते हैं चौथे पुरस्कार की जो 5000 रुपये है। इसे 3126 3671 4411 6631 9314 7844 7069 8576 5397 8787 4676 3643 9878 6300 4762 7080 8935 2492 ने जीता है। पांचवां पुरस्कार 1000 रुपये है, जो 9332 4831 9991 6149 1472 7121 1398 3839 9642 3438 5198 2979 4013 1095 2930 5690 4180 5831 9822 8388 3989 3240 5043 8754 6200 6486 5758 2793 0794 9871 7519 2245 6770 9760 3009 9396 ने जीता है।

इन्होंने जीते हैं 500 रुपये

इन्होंने जीते हैं 500 रुपये

इसके अलावा छठा पुरस्कार 500 रुपये है। जो 9360 6725 4532 7172 9193 9938 7862 8880 4098 8061 2672 5509 7237 8271 9350 1606 3800 8355 5203 4734 1684 6247 6926 9626 4484 7970 5804 0462 3263 3069 5569 8497 9935 2155 3323 9008 7426 3489 4690 7221 0726 4138 0047 2012 2347 3427 0940 5446 1524 1277 5271 3346 5205 4902 6409 8859 5040 6742 7011 9020 2066 9584 5549 3886 7975 3999 9037 7380 6642 3129 ने जीता है।

100 रुपये का है सातवां पुरस्कार

100 रुपये का है सातवां पुरस्कार

सातवां पुरस्कार 100 रुपये का है। जिसे 0053 0206 0235 0622 0667 0674 0780 0805 0952 0997 1321 1478 1592 1626 1647 1677 1705 1775 1835 1866 1912 1934 2059 2094 2168 2278 2341 2522 2587 2628 2629 2651 2768 2779 2986 3068 3143 3155 3321 3390 3403 3410 3435 3527 3652 3786 3806 3853 3903 4179 4250 4261 4303 4429 4573 4637 4724 4803 4848 4992 5022 5415 5708 5780 5855 5869 5938 5998 6009 6186 6276 6289 6344 6439 6471 6563 6851 6859 6873 6885 6931 7020 7070 7180 7258 7307 7351 7444 7513 7671 7799 7819 7834 7885 7944 7993 8169 8170 8470 8472 8510 8692 8749 8790 8828 8896 8989 9053 9072 9078 9184 9235 9506 9518 9570 9736 9765 9820 9899 9961 ने जीता है।

कैसे प्राप्त करनी है रकम?

कैसे प्राप्त करनी है रकम?

पुरस्कार विजेताओं को केरल सरकार के राजपत्र में प्रकाशित केरल लॉटरी परिणामों से विजेता की संख्याओं को सत्यापित करने की सलाह दी जाती है और जीतने वाले टिकटों को 30 दिनों के भीतर सौंपा जाना चाहिए। अगर पुरस्कार में 5000 रुपये से कम मिले हैं, तो विजेता केरल के किसी भी लॉटरी स्टोर से इसे ले सकेंगे। हालांकि अगर पैसे 5000 रुपये से अधिक हैं, तो विजेताओं को पहचान पत्र के साथ किसी सरकारी लॉटरी कार्यालय या बैंक में अपने टिकट जमा करने होंगे।

कब हुई थी शुरुआत?

कब हुई थी शुरुआत?

केरल में स्टेट लॉटरी राज्य सरकार द्वारा संचालित एक योजना है। निर्मल लॉटरी एक साप्ताहिक लॉटरी है, जिसका ड्रा शुक्रवार को आयोजित किया जाता है। यहां लॉटरी विभाग साल 1967 में स्थापित किया गया था। विभाग का विचार केरल के तत्कालीन वित्त मंत्री दिवंगत पीके कुन्जू साहिब को आया था, जिन्होंने राज्य के लिए गैर-कर राजस्व के एक प्रमुख स्रोत के रूप में लॉटरी की बिक्री से राजस्व के बारे में सोचा था। इसके साथ ही इसे गरीब और आम लोगों के लिए आय का एक स्रोत भी माना जाता है।

चार लोगों को भीख में मिला लॉटरी का टिकट, अचानक चमकी किस्मत और जीत गए 43 लाख

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
kerala nirmal nr-193 state lottery result declared first winner got 70 lakh rupees see whole list
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X