• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

केरल निकाय चुनाव: सबरीमाला विरोध के बावजूद भी खाता नहीं खोल पाई बीजेपी

|

तिरुअनंतपुरम। सबरीमाला महिला प्रवेश पर विवाद के बावजूद, केरल में सत्तारूढ़ सीपीएम के नेतृत्व वाले एलडीएफ ने शुक्रवार को राज्य भर में विभिन्न स्थानीय निकायों के लिए हुए उपचुनावों में 30 में से 16 सीटें हासिल कीं। कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट को 12 सीटें मिलीं जबकि रिवॉल्यूशनरी मार्क्सवादी पार्टी (आरएमपी) और कांग्रेस के एक बागी ने क्रमशः कोझिकोड और अलप्पुझा जिले के ओन्चीम में सीटें बरकरार रखीं। भाजपा एक भी सीट जीतने में विफल रही।

 केरल निकाय चुनाव: सबरीमाला विरोध के बावजूद भी खाता नहीं खोल पाई बीजेपी

सत्तारूढ़ सीपीएम को झटका लगा है। आरएमपी ने ओनचियाम पंचायत सीट को बरकरार रखा। उल्‍लेखनीय है कि चुनाव के दौरान सीपीएम कह रही थी कि आरएमपी अपनी प्रासंगिकता खो चुकी थी और इस सीट पर जीत की उम्मीद कर रही थी। आरएमपी के पी श्रीजीत ने ओनचियाम पंचायत के पांचवें वार्ड को 308 मतों के बहुमत से जीता और पंचायत में सत्ता बरकरार रखी। आरएमपी सदस्य एके गोपीनाथ की मृत्यु के कारण उपचुनाव की आवश्यकता थी। चुनाव को महत्व दिया गया क्योंकि आरएमपी का गठन चंद्रशेखरन ने किया था, जो सीपीएम के पूर्व साथी थे।

चंद्रशेखरन को मई 2012 में आरएमपी की स्थापना के तीन साल बाद मार दिया गया था। उपचुनावों में, यूडीएफ ने अपनी पांच सीटिंग सीटें खो दीं जिनमें से चार एलडीएफ और एक कांग्रेस के बागी ने जीतीं। हालांकि, यूडीएफ ने उन पांच सीटों पर जीत दर्ज की जो सत्तारूढ़ एलडीएफ की सीटें थीं। नवंबर 2018 के उपचुनावों में, एलडीएफ ने 39 में से 21 सीटें जीती थीं। UDF ने 12 जबकि बीजेपी ने दो सीटें हासिल की थीं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kerala civic bypolls: CPM-led LDF bags 16 out of 30 seats, BJP draws a blank despite Sabarimala protests.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X