• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत चीन सैन्य वार्ता: 12वें दौर में गोगरा और हॉट स्प्रिंग्स के डिसइंगेजमेंट पर होगी चर्चा

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, जून 29: भारत और चीन के बीच लद्दाख से लगी हुए सीमाओं पर लंबे समय से विवाद जारी है। सीमा विवाद को हल करने के लिए दोनों देशों के बीच सैन्य कमांडर स्तर के 11 वार्ताएं हो चुकी हैं। दोनों पक्ष एलएसी के साथ सभी फ्रिक्शन पॉइंट्स से कंप्लीट डिसइंगेजमेंट के लिए 12वें दौर की सैन्य वार्ता जल्द से जल्द आयोजित करने पर सहमत हुए हैं। माना जा रहा है कि, भारत-चीन के वरिष्ठ कमांडरों के बीच 12वें दौर की वार्ता की तारीखें सैन्य चैनलों के माध्यम से तय की जाएंगी।

India China commanders dialogue Gogra and Hot Springs disengagement and de escalation Depsang

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस दौर की वार्ता में चर्चा केवल गोगरा और हॉट स्प्रिंग्स के सामान्य क्षेत्रों से दोनों सेनाओं के डिसइंगेजमेंट और डी-एस्केलेशन तक सीमित होगी। जबकि डेपसांग बुलगे को स्थानीय कमांडरों द्वारा निपटाया जाएगा क्योंकि यह 2013 की विरासत का मुद्दा था। साउथ ब्लॉक के अधिकारियों के मुताबिक, हॉट स्प्रिंग्स (पेट्रोलिंग प्वाइंट 14) और गोगरा (पेट्रोलिंग प्वाइंट17ए) पर चर्चा करने का फैसला 25 जून को भारत-चीन सीमा मामलों पर परामर्श और समन्वय के लिए वर्किंग मैकेनिज्म की वर्चुअल बैठक में लिया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक दो फ्रिक्शन प्वाइंट, जो क्रमशः कुगरांग नदी और चांग केमो नदी के पास हैं, को चीनी सेना द्वारा 17-18 मई 2020 को पैंगोंग झील के उत्तरी तट के अलावा पार कर लिया गया था। दौलत बेग ओल्डी के दक्षिण में डेपसांग के 2013 के फ्रिक्शन प्वाइंट पर वरिष्ठ सैन्य कमांडर चर्चा नहीं करेंगे, लेकिन इस मामले को स्थानीय कमांडरों के स्तर पर निपटा जाएगा। अप्रैल 2013 में, डेपसांग में पीएलए की तैनाती ने भारतीय सैनिकों की पेट्रोलिंग प्वाइंट्स 10, 11, 11-A, 12 और 13 तक जाने वाले मार्गों तक पहुंचने में बाधा डाली है। निश्चित रूप से डेपसांग की समस्याएं वर्तमान सीमा गतिरोध से पहले की हैं।

Corona की दूसरी लहर ने 50 से कम उम्र वालों को बनाया ज्यादा शिकार: AIIMS की स्टडीCorona की दूसरी लहर ने 50 से कम उम्र वालों को बनाया ज्यादा शिकार: AIIMS की स्टडी

जबकि पैंगोंग त्सो के उत्तर और दक्षिण तट से डिसइंगेजमेंट हुआ है, पीएलए द्वारा 2020 में किए गए उल्लंघन के बाद आपसी अविश्वास और संदेह के कारण दोनों सेनाओं के बीच डी-एस्केलेशन प्रगति पर है। विवादित सीमा क्षेत्रों में मई 2020 से चीनी सेना की मौजूदगी, दशकों में अब तक की सबसे गंभीर तनावपूर्ण स्थिति है। अब तक की कई दौर की बातचीत के बाद दोनों देशों ने विवादित सीमा के कुछ इलाकों से सेनाओं और सैन्य उपकरणों को हटाया है।

English summary
India China commanders dialogue Gogra and Hot Springs disengagement and de escalation Depsang
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X