• search

जेसिका लाल मर्डर केस में अहम मोड़, बहन सबरीना ने कहा- मैंने मनु शर्मा को माफ किया

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
      Jesica Lal Case : Sabrina Lal ने Manu Sharma को Letter लिख दी माफी | वनइंडिया हिंदी

      नई दिल्ली। देश के बहुचर्चित मॉडल जेसिका लाल हत्याकांड ने संसद से लेकर सड़क तक कोहराम मचा दिया था ,इस केस ने लोगों के सामने मीडिया की ताकत, नेताओं की दबंगई जैसे उदाहरण पेश किए थे। मॉडल जेसिका की हत्या के करीब 19 साल बाद जेसिका की बहन सबरीना लाल की ओर से बड़ा बयान सामने आया है। सबरीना ने कहा है कि उन्होंने हत्यारे मनु शर्मा उर्फ सिद्धार्थ वशिष्ठ को माफ कर दिया है। 

      सबरीना लाल का बड़ा बयान

      सबरीना लाल का बड़ा बयान

      उन्होंने इस बारे में तिहाड़ जेल को एक लेटर लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि अगर मनु शर्मा को जेल से छोड़ा जाता है तो उन्हें इसमें कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि उन्हें पता चला है कि जेल में मनु शर्मा अच्छा काम कर रहा है और अगर उसमें बदलाव हुआ है तो उसे जेल से छोड़े जाने में उन्हें कोई एतराज नहीं है। सबरीना ने ये लेटर सेंट्रल जेल नं.2 के वेलफेयर ऑफिसर के पत्र का जवाब देते हुए लिखा है।

      मनु शर्मा 15 साल की सजा काट चुका है

      मनु शर्मा 15 साल की सजा काट चुका है

      सबरीना ने कहा कि मनु शर्मा 15 साल की सजा काट चुका है, अगर उसके व्यवहार में बदलाव आया है और उसे जेल से छोड़ा जाता है तो उन्हें कोई एतराज नहीं है। मैं सबकुछ भूलकर जीवन में आगे बढ़ना चाहती हूं। मेरे लिए उसके होने ना होने से कोई फर्क नहीं पड़ता है। मैं और कोई गुस्सा या दुख नहीं रखना चाहती। मनु शर्मा पिछले छह महीने से वह ओपन जेल में है, वो 'अच्छे काम, अनुशासन और आचरण' में रहने की वजह से 5 साल की छूट की मांग कर सकता है।

      29 अप्रैल, 1999 की रात दिल्ली के टैमरिंड कोर्ट रेस्टोरेंट में हुई थी हत्या

      29 अप्रैल, 1999 की रात दिल्ली के टैमरिंड कोर्ट रेस्टोरेंट में हुई थी हत्या

      आपको बता दें कि मशहूर मॉडल जेसिका लाल की 29 अप्रैल, 1999 की रात दिल्ली के टैमरिंड कोर्ट रेस्टोरेंट में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। कारण था जेसिका लाल ने मनु शर्मा को शराब परोसने से मना कर दिया था। मनु शर्मा हरियाणा के कद्दावर कांग्रेसी नेता विनोद शर्मा का बेटा है, जिसके कारण जेसिका के घरवालों को न्य़ाय के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उन्हें इसके लिए बहुत सारी बदनामी झेलनी पड़ी और दर्द के साए में जीना पड़ा था।

      गवाहों ने बोला कोर्ट में झूठ

      गवाहों ने बोला कोर्ट में झूठ

      पुलिस ने इस मामले में 101 गवाह बनाए जिसमें श्यान मुंशी व बीना रमानी आदि प्रमुख थे। लेकिन इनमें से 33 गवाह कोर्ट में मुकर गए जिसके कारण सात साल तक चले मुकदमे के बाद फरवरी 2006 में वो सभी सबूतों के अभाव में बरी हो गए थे। इस केस में मनु शर्मा के अलावा, विकास यादव और अमरदीपसिंह गिल उर्फ टोनी भी आरोपी थे लेकिन कोर्ट के फैसले बाद भी सबरीना ने हार नहीं मानी, यह मामला मीडिया में उछला, उसके बाद तो जेसिका लाल मर्डर केस में इंसाफ के लिए दिल्ली क्या पूरा देश एक साथ आ गया।

      और फिर... मनु शर्मा को मिली उम्र कैद

      और फिर... मनु शर्मा को मिली उम्र कैद

      ये केस री-ओपन हुआ और उसके बाद जेसिका के हत्यारे मनु शर्मा, विकास यादव और अमरदीपसिंह गिल उर्फ टोनी को दोषी करार दिया। मनु शर्मा को उम्रकैद की सजा हुई और 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया। सह अभियुक्त अमरदीपसिंह गिल और विकास यादव को चार-चार साल की जेल की सजा के साथ तीन-तीन हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया।

      'नो वन किल्ड जेसिका'

      'नो वन किल्ड जेसिका'

      2011 में जेसिका लाल मर्डर केस से प्रभावित होकर फिल्म 'नो वन किल्ड जेसिका' बनाई गई थी। इसमें फिल्म अभिनेत्री रानी मुखर्जी और विद्या बालन प्रमुख भूमिका थे। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर भी खूब धमाल मचाया था।

      यह भी पढ़ें: CJI के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव खारिज, कांग्रेस ने नेताओं को चुप रहने के लिए कहा

      जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

      देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
      English summary
      Almost two decades after model Jessica Lal’s murder, her sister Sabrina Lal has written to the Tihar jail authorities that she has no objection to the release of the killer, Manu Sharma, who is serving a life-term for the crime.

      Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
      पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

      X
      We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more