• search

265,908 करोड़ वसूलने के लिए बैंकों ने भेजे 17000 डिफॉल्टर्स को नोटिस

By Mohit Singh
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    नई दिल्लीः नीरव मोदी मामले के बाद बैंकों ने उधार लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। बैंकों ने लगभग 17,000 उधारकर्ताओं के खिलाफ अलग-अलग अदालतों में मुकदमा दायर किया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक सितंबर 2017 तक 265,908 करोड़ रुपये का लोन डिफाल्टर घोषित किया जा चुका है। ये केवल 31.73 फीसदी है टोटल डिफाल्टर 838,000 करोड़ का।

    ट्रांसनीयन सिबिल लिमिटेड के आंकड़ों ने बताई सच्चाई

    ट्रांसनीयन सिबिल लिमिटेड के आंकड़ों ने बताई सच्चाई

    ट्रांसनीयन सिबिल लिमिटेड के आंकड़े बताते हैं कि पिछले 12 महीनों (सितंबर 2017) के दौरान दो हजार उधारकर्ताओं के खिलाफ 47,000 करोड़ रुपये की वसूली के लिए केस दर्ज किए गए। डेट रिकवरी ट्रिब्यूनल्स (डीआरटी) ने मामलों के निपटान में तेजी लाने की शुरुआत की। सीआईबीआईएल के आंकड़ों के अनुसार, सितंबर 2016 तक 218,220 करोड़ रुपये के लिए कुल केस दायर किए गए।

    पंजाब नेशनल बैंक ने 1364 केस दायर किए

    पंजाब नेशनल बैंक ने 1364 केस दायर किए

    भारतीय स्टेट बैंक की लिस्ट के मुताबिक 74649 करोड़ कर्ज वसूली के लिए 3684 केस किए गए। वहीं ,पंजाब नेशनल बैंक ने 25608 करोड़ की रिकवरी के लिए 1364 केस दायर किए। आईडीबीआई बैंक 22,635 करोड़ की वसूली के लिए 1738 केस किए हैं सीआईबीआईएल द्वारा जारी किए गए डाटा के मुताबिक अगर बैंको द्वारा एक करोड़ से कम राशि का लोन दिखाया जाएगा तो ये आकंड़ा तेजी से बढ़ेगा। हालांकि, अभी तक ना ही आरबीआई ने और न किसी क्रेडिट सूचना कंपनी ने डिफॉल्टर की सूची का ब्योरा दिखाया है।

    कई नामी कंपनियों ने लिए हैं लोन

    कई नामी कंपनियों ने लिए हैं लोन

    रिपोर्ट में बताया गया है कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कई कंपनियों के खिलाफ केस किया है। जैसे कि लवासा (88 करोड़ रुपये), विन्सम डायमंड्स (121 करोड़ रुपये), जूम डेवलपर्स, राजपूत रिटेल (283 करोड़ रुपये), अभिजीत इन्फ्रा (102 करोड़ रुपये), कॉरपोरेट इस्पात एलॉयज (156 करोड़ रुपये), राम देवव इंटरनेशनल (282 करोड़ रुपये), फर्नार्ड कंस्ट्रक्शन (220 करोड़ रुपये), जे पॉलीकेम (285 करोड़ रुपये) शामिल हैं।

     पंजाब नेशनल बैंक ने भी दिए हैं लोन

    पंजाब नेशनल बैंक ने भी दिए हैं लोन

    इनके अलावा पीपी ज्वेलर्स (127 करोड़ रुपये), शिव-वानी ऑयल एंड एग्रो (222 करोड़ रुपये), सूर्य विनायक इंड (356 करोड़ रुपये) करोड़ रुपये), केएमपी एक्सप्रेसवे (275 करोड़ रुपये), सुराना निगम (396 करोड़ रुपये), हुकुमचंद मिल्स (1,74 9 करोड़ रुपये), केएस ऑयल (783 करोड़ रुपये) और एबीसी कॉटस्पीन (403 करोड़ रुपये) के खिलाफ भी केस किया गया है। वहीं, पंजाब नेशनल बैंक ने गुप्ता कोल इंडिया (321 करोड़ रुपये), क्रेस्ट स्टील (283 करोड़ रुपये), विंसम डायमंड्स (89 9 करोड़ रुपये), जूम डेवलपर्स (406 करोड़ रुपये) और जेएमडी ऑयल (236 करोड़ रुपये) के खिलाफ मुकदमा दायर किया है।

    आईडीबीआई बैंक , ऐक्सिस बैंक, निगम बैंक ने भी किए हैं केैस

    आईडीबीआई बैंक , ऐक्सिस बैंक, निगम बैंक ने भी किए हैं केैस

    वहीं, पंजाब नेशनल बैंक ने गुप्ता कोल इंडिया (321 करोड़ रुपये), क्रेस्ट स्टील (283 करोड़ रुपये), विंसम डायमंड्स (89 9 करोड़ रुपये), जूम डेवलपर्स (406 करोड़ रुपये) और जेएमडी ऑयल (236 करोड़ रुपये) के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और पंजाब नेशनल बैंक के अलावा आईडीबीआई बैंक , ऐक्सिस बैंक, निगम बैंक ने भी कई लोन डिफाल्ट के खिलाफ केस किया है।

    यह भी पढ़ें-इस कंपनी ने उतारा AC, 65% बिजली बचेगी, फोन से होगा कंट्रोल

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    for 265,908 crore recovery, banks sue 17,000 defaulters

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more