• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दलित की हत्या के बाद निहंग सिखों से दूरी बना रहे टिकैत, कहा- अभी उनकी जरूरत नहीं, जब लगेगी तो बुला लेंगे

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर: सिंघु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है। हाल ही में वहां पर बेरहमी से एक दलित की हत्या कर दी गई। इस घटना की जिम्मेदारी निहंग समूह निर्वेर खालसा उड़ना दल ने ली है। घटना के बाद से किसान आंदोलन पर भी सवाल खड़े हो रहे। साथ ही बीजेपी समेत कई संगठनों ने आंदोलन वाली जगह खाली कराने और आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इस बीच फिर से मामले में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत का बयान सामने आया। उन्होंने घटना को किसान आंदोलन से ना जोड़ने की अपील की। साथ ही निहंग सिखों से दूरी बनाते नजर आए।

sikh

ANI से बात करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि पहले भी बातचीत हुई थी कि निहंग फौज की अभी जरूरत नहीं, जब जरूरत होगी तो बुला लेंगे लेकिन कुछ लोग पहले दिन से यहां मौजूद हैं। हाल ही में हुई घटना धार्मिक मामला है, इसका किसान आंदोलन से कोई लेना-देना नहीं है। आरोपियों ने भी कहा कि ये उनका धार्मिक मामला था, सरकार प्रदर्शन से इसे ना जोड़े। ऐसे में उनसे बातचीत की जा रही है। टिकैत ने आगे कहा कि उनकी (निहंग) अभी यहां पर जरूरत नहीं है, जब जरूरत होगी तो बुला लेंगे।

Breaking: Singhu Border Murder Case में तीन Nihang Sikh को 6 दिन की Police Remand | वनइंडिया हिंदी

वहीं फिर से टिकैत ने घटना का सारा ढिकरा सरकार पर फोड़ा। उन्होंने कहा कि ये सब सरकार ने करवाया है। दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शन वाली जगह पर बैरिकेडिंग की है। वहां पर ही खुफिया विभाग के कर्मचारी तैनात रहते हैं। इतनी बड़ी घटना हो गई उनको कैसे नहीं पता चली। ऐसे में साफ होता है कि ये सब सरकार के इशारे पर हो रहा है। इससे पहले टिकैत ने आरोप लगाया था कि सरकार ऐसी घटना के लिए करोड़ों खर्च कर रही है।

चुनाव से पहले अब पश्चिमी यूपी का पारा गरम करेंगे ओवैसी, जानिए टिकैत ने उन्हें क्यों बताया बीजेपी का चचाजानचुनाव से पहले अब पश्चिमी यूपी का पारा गरम करेंगे ओवैसी, जानिए टिकैत ने उन्हें क्यों बताया बीजेपी का चचाजान

अब तक 3 आरोपी गिरफ्तार
सिंघु बॉर्डर पर दलित युवक की हत्या की गुत्थी सुलझ गई है। जिसमें तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर सोनीपत कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस ने कोर्ट को बताया कि 15 अक्टूबर को जहां पर किसानों का विरोध प्रदर्शन चल रहा था, वहां पर एक व्यक्ति का हाथ और पैर कटा शव मिला। जिसमें नारायण सिंह, भगवंत सिंह और गोविंद प्रीत सिंह को गिरफ्तार किया गया है। जिस पर कोर्ट ने तीनों आरोपियों को 6 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

Comments
English summary
farmers protest Rakesh Tikait on Singhu border incident nihang sikh
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
Desktop Bottom Promotion