• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

48-50 डिग्री की भीषण गर्मी के बीच देश के इस राज्य में ठंड से कांप रहे लोग

|

नई दिल्ली। उत्तर भारत इस समय प्रचंड गर्मी की चपेट में है। आसमान से आग बरस रही है और गर्म लू के थपेड़ों से लोगों का जीना मुहाल हो रहा है। लोग टकटकी लगाकर आसमान में बादलों को खोज रहे हैं, लेकिन मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर भारत में मॉनसून के दस्तक देने में अभी और देरी हो सकती है। गर्मी का आलम ये है कि देश की राजधानी दिल्ली का पारा 48 डिग्री और राजस्थान के चुरू का पारा 50 डिग्री को छू चुका है। ऐसे में लोगों को हिदायत दी जा रही है कि दिन के वक्त जब जरूरत हो, तभी अपने घरों से बाहर निकलें। हालांकि इस झुलसाती गर्मी के बीच देश में एक जगह ऐसी भी है, जहां इस समय लोग ठंड से कांप रहे हैं। आइए जानते हैं कौन सी है ये जगह।

भारी ठंड की चपेट में यहां लोग

भारी ठंड की चपेट में यहां लोग

इस समय जहां मध्य और उत्तर भारत के ज्यादातर हिस्से गर्मी से लोगों को झुलसा रहे हैं, वहीं कश्मीर में हालात बिल्कुल अलग हैं। जून के महीने में भी कश्मीर में जमकर बर्फबारी हो रही है, जिसके चलते लोग भारी ठंड की चपेट में हैं। गुरुवार को कारगिल जिले के बालटाल, सोनमर्ग के हिल स्टेशनों, जोजिला दर्रा और द्रास कस्बे में काफी बर्फबारी हुई। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार को सोनमर्ग में 3 इंच बर्फ गिरी। भारी बर्फबारी के कारण लद्दाख क्षेत्र को कश्मीर घाटी से जोड़ने वाले 434 किलोमीटर लंबे श्रीनगर-लेह राजमार्ग पर गुरुवार को अस्थाई रूप से वाहनों का आवागमन रोक दिया गया है। बर्फबारी के कारण हाईवे पर भी सैकड़ों वाहन फंसे रहे।

ये भी पढ़ें- माउंट एवरेस्ट पर क्यों हो रही हैं मौतें, नेपाल सरकार ने बताई ये वजह

कई सालों बाद जून में बर्फबारी

कई सालों बाद जून में बर्फबारी

वहीं, कश्मीर के किश्तवाड़ और उससे सटे आसपास के इलाकों में बुधवार रात से शुरू हुई बारिश और बर्फबारी गुरूवार को भी होती रही। बर्फबारी और बारिश ने इलाके को ठंड के जबरदस्त आगोश में ला दिया है। जिस तरह उत्तर भारत में लोग गर्मी के चलते घरों से जरूरत के वक्त ही बाहर निकल रहे है, ठीक उसी तरह कश्मीर के इस इलाके में भी बर्फबारी के बाद बढ़ी ठंड के चलते लोग गुरुवार को अपने घरों में ही दुबके रहे। दोपहर के वक्त निकली धूप के बाद सड़कों पर लोग दिखाई देने शुरू हुए। कश्मीर घूमने गए पर्यटकों को भी इस ठंड के चलते मुश्किलों का सामना करना पड़ा। लोगों ने ठंड से बचने के लिए बाजार से गर्म कपड़ों की खरीदारी की और ज्यादातर लोग अपने होटलों में ही रुके रहे। मौसम विभाग का कहना है कि कई सालों बाद ऐसी स्थिति आई है, जब जून के महीने में यहां भारी बर्फबारी देखने को मिल रही है।

बारिश ने भी बिगाड़ा हाल

बारिश ने भी बिगाड़ा हाल

बर्फबारी के बीच, कश्मीर के कई इलाकों में भारी बारिश भी हुई है, जिसके चलते निचले इलाकों में पानी भर गया है। भारी बारिश के कारण झेलम नदी की सहायक नदियों के जल स्तर में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। बारिश के चलते जान-माल का काफी नुकसान हो रहा है। खबर है कि बारिश के कारण दुर्घटनाओं में बांदीपोरा जिले की दो महिलाओं की मौत हो गई है। वहीं, चार अन्य लोग घायल हो हुए हैं। प्रशासन ने बारिश की स्थिति को देखते हुए राहत एवं बचाव टीमों को अलर्ट कर दिया है। ट्रैफिक व्यवस्था संभाल रहे जम्मू कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कश्मीर घाटी को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलन के कारण यातायात को कुछ समय के लिए रोक दिया गया है।

ये भी पढ़ें- पहाड़ों पर 'आफत' के बाद सरकार के 2 बड़े फैसले, चार धाम यात्रा पर जाने से पहले जरूर पढ़ें खबर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Despite Fierce Heat In North India This Place Is Getting Cold Weather.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X