• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

मजरूह सुल्तानपुरी का 'शेर' ट्वीट कर ट्रोल हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर, ट्रोलर्स ने कहा- नेहरू ने भेजा था जेल

मजरूह सुल्तानपुरी का 'शेर' ट्वीट कर ट्रोल हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर, ट्रोलर्स ने कहा- नेहरू ने भेजा था जेल
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 29 सितंबर: तिरुवनंतपुरम सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर भी कांग्रेस अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल है। शशि थरूर और एआईसीसी ट्रेजरार पवन बंसल ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन फॉर्म ले लिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता थरूर ने दो लाइन का 'शेर' अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है जो उर्दू के प्रशिद्ध शायर मजरूह सुल्तानपुरी का था। सुल्तानपुरी का शेर ट्वीट कर थरूर इंटरनेट जगत में ट्रोल हो गए।

Congress leader Shashi Tharoor trolled by tweeting quotes of majrooh Sultanpuri

दरअसल, शशि थरूर ने बुधवार को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा, 'मैं अकेला ही चला था जानिब-ए-मंजिल, मगर लोग साथ आते गए और कारवां बनता गया।' इस शेयर के जरिए थरूर ने अपनी मेहनत और इरादों का जिक्र किया। लेकिन, सुल्तानपुर का शेर ट्वीट कर वो इंटरनेट जगत में ट्रोल हो गए। लोगों ने पूछा क्या आपको पता है कि जवाहर लाल नेहरू वो शख्स थे जिन्होंने मजरूह सुल्लानपुरी को जेल भेज दिया था।

India Today की खबर के मुताबिक, मजरूह सुल्तानपुरी, जो अपने वामपंथी झुकाव के लिए जाने जाते थे और तत्कालीन कांग्रेस सरकार मानती थी कि वो सरकार के विरोध की बात करते हैं। 1949 में उनके कथित स्थापना विरोधी लेखन के लिए जेल में डाल दिया गया था। बता दें कि वो गीत था...

अमन का झंडा धरती पे है
किसने कहा लहरे ना पाए
ये भी कोई हिटलर का है चेला,
मार ले साथी, जाने न पाए!
कॉमनवेल्थ का दास है नेहरू
मार ले साथी जाने न पाए!

ये गीत था जो जवाहर लाल नेहरू को नागवार लगा और उसकी वजह से सुल्तानपुरी को दो साल की जेल काटनी पड़ी थी। हालांकि, सुल्तानपुरी को कविता के लिए माफी मांगने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। जिसके बाद उन्हें अभिनेता बलराज साहनी जैसे उस समय की अन्य हस्तियों के साथ दो साल की जेल हुई थी।

ये भी पढ़ें:- इस शर्त पर विपक्ष के गठबंधन में शामिल हो सकती हैं मायावती, BSP प्रवक्ता ने दिया बड़ा बयानये भी पढ़ें:- इस शर्त पर विपक्ष के गठबंधन में शामिल हो सकती हैं मायावती, BSP प्रवक्ता ने दिया बड़ा बयान

शशि थरूर के अलावा, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, जो एक अनुभवी राजनेता और एक प्रसिद्ध गांधी परिवार के वफादार हैं, और गांधी परिवार के वफादार दिग्विजय सिंह कांग्रेस में शीर्ष पद की दौड़ में हैं। नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 30 सितंबर है और मतदान 17 अक्टूबर को होगा। नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे।

Comments
English summary
Congress leader Shashi Tharoor trolled by tweeting quotes of majrooh Sultanpuri
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X