• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

LOCKDOWN2: ठेले पर बुजुर्ग को ले जा रहे थे अस्पताल, पुलिसवाले ने देखा तो तुरंत किया ये काम...देखें वीडियो

|

नई दिल्ली। देशव्यापी लॉकडाउन के चलते गलियां सूनी और सड़कों पर एक-दो वाहन ही नजर आ रहे हैं। सबकुछ बंद होने की वजह से आम जनता को आपातकाल की स्थिति में भी अस्पताल पहुंचने के लिए कोई साधान नहीं मिल रहा है। ऐसा ही एक मामला मध्य प्रदेश से प्रकाश में आया है जहां एक बुजुर्ग का पैर टूटने पर परिवार के दो अन्य सदस्य पीड़ित को हाथ से धक्का देकर चलाए जाने वाले ठेले पर लेकर अस्पताल जाते दिखाई दिए। हालांकि पुलिस ने जब देखा तो बुजुर्ग को गाड़ी से अस्पताल पहुंचा दिया।

ठेले पर लाद कर अस्पताल ले जा रहे थे परिजन

ठेले पर लाद कर अस्पताल ले जा रहे थे परिजन

गौरतलब है कि, कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को बढ़ाकर 3 मई, 2020 तक कर दिया है। कोरोना पर काबू पाने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन को 23 दिन से ज्यादा का समय हो चुका है। ऐसे में लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। मध्य प्रदेश में एक बुजुर्ग के चोटिल होने पर परिजनों को कोई वाहन नहीं मिला तो वह ठेल पर ही उन्हें अस्पताल की ओर ले जाने लगे।

लॉकडाउन में नहीं मिला कोई साधन

इसी बीच लॉकडाउन के मद्देनजर गश्त कर रही पुलिस की जब उनपर नजर पड़ती है तो वह उनकी मदद के लिए रुक जाते हैं। मध्य प्रदेश के होशंगाबाद थाना क्षेत्र के पुलिस अधिकारी सूरज जामरा ने बताया कि लॉकडाउन में उसी इलाक में रहने वाले बुजुर्ग का एक पैर फ्रैक्चर होने के बाद एक महिला और पुरुष उन्हें हाथ से चलने वाले ठेले पर अस्पताल ले जा रहे थे।

पुलिस वाले ने अपनी गाड़ी में पहुंचाया अस्पताल

पुलिस वाले ने अपनी गाड़ी में पहुंचाया अस्पताल

पुलिस अधिकारी सूरज जामरा ने आगे कहा, लॉकडाउन के चलते हम लोगों पर नजर रखने के लिए गश्त करते रहते हैं, इसी दौरान हमारी नजर उनपर पड़ी, हमने उन्हें रोका। पूछने पर उनकी समस्या पता चली जिसके बाद बुजुर्ग को पुलिस की ही गाड़ी में बिठाकर अस्पताल पहुंचाया गया। फिलहाल बुजुर्ग की हालत सामान्य है और वह अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं।

इंदौर में खतरनाक स्टेज पर पहुंचा कोरोना वायरस

इंदौर में खतरनाक स्टेज पर पहुंचा कोरोना वायरस

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। यहां कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 842 को पार कर गई है। वहीं, जिले में अब तक कोरोना 39 लोगों की जान ले चुका है। 37 ऐसे भी लोग हैं, जो कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उपचार करवाकर पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। इंदौर जिले के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 392 मरीजों की हालत स्थिर बनी हुई है।

शर्मनाक : कोरोना पॉजिटिव मरीज की पत्नी सबसे माफी मांगने को हुई मजबूर, वजह चौंकाने वाली

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
man and woman carrying the elderly man on a hand trolley in Madhya Pradesh during LOCKDOWN
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X