• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

शिवसेना को मनाने के लिए भाजपा का बड़ा फैसला, खत्म हो सकता है टकराव

|

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में चुनाव नतीजों की घोषणा हुए 10 दिन से अधिक का समय हो चुका है, लेकिन अभी तक भाजपा और शिवसेना के बीच सरकार बनाने को लेकर समाधान नहीं निकल सका है। दोनों ही दल मुख्यमंत्री पद को लेकर अड़े हुए हैं। लेकिन जो खबर सामने आ रही है, उसके अनुसार भाजपा दो अहम मंत्रालयों की कुर्बानी देने के लिए तैयार हो गई है। सूत्रों की मानें तो भाजपा इस बात पर गंभीर रूप से चर्चा कर रही है कि शिवसेना के साथ सरकार गठन करने के लिए वह दो अहम मंत्रालय राजस्व और वित्त मंत्रालय को छोड़ दे ।

शिवसेना को मनाने की कोशिश

शिवसेना को मनाने की कोशिश

सूत्रों के अनुसार रविवार को देवेंद्र फडणवीस ने भाजपा की कोर कमेटी की बैठक को बुलाया था, जिसमे यह तय हुआ है कि पार्टी शिवसेना को राजस्व और वित्त मंत्रालय देने का प्रस्ताव दे सकती है। माना जा रहा है कि भाजपा शिवसेना को यह दोनों मंत्रालय इसलिए देना चाहती है ताकि वह मुख्यमंत्री पद की जिद को छोड़ दे। बता दें कि इससे पहले भाजपा ने शिवसेना को 13 और भाजपा को 26 मंत्री पद का प्रस्ताव दिया था, जिसे शिवसेना ने ठुकरा दिया था।

दो अहम मंत्रालय छोड़ सकती है भाजपा

दो अहम मंत्रालय छोड़ सकती है भाजपा

मौजूदा समम में सरकार की बात करें तो राजस्व मंत्रालय चंत्रकांत पाटील और वित्त मंत्रालय सुधीर मुनगंटीवार के पास है। शिवसेना मुख्यमंत्री पद के साथ-साथ गृह, वित्त, राजस्व और नगर विकास जैसे अहम मंत्रालयों का समान बंटवारा चाहती है। फिलहाल गृह और नगर विकास मंत्रालय खुद फडणवीस के पास है। ऐसे में अगर भाजपा राजस्व और वित्त मंत्रालय को छोड़ती है तो चंत्रकांत पाटील और सुधीर मुनगंटीवार को मंत्रालय छोड़ना पड़ेगा। दरअसल दोनों ही नेताओं को पार्टी का कद्दावर नेता माना जाता है, लिहाजा इन दो अहम मंत्रालयों के जाने से फडणवीस की सरकार पर पकड़ ढीली हो जाएगी, ऐसे में पार्टी उम्मीद कर रही है कि शिवसेना इस प्रस्ताव के बाद मुख्यमंत्री पद को छोड़ सकती है।

सोनिया-शरद की मुलाकात

सोनिया-शरद की मुलाकात

वहीं इन तमाम अटकलों के बीच आज सोनिया गांधी शरद पवार से मुलाकात करेंगी। इस दौरान शिवसेना को समर्थन देना है या नहीं इसपर चर्चा हो सकती है। उधर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी आज दिल्ली में अमित शाह से मुलाकात कर सकते हैं। इस दौरान महाराष्ट्र में बारिश से हुए नुकसान के चलते किसानों के लिए मदद की भी गुहार फडणवीस शाह से करेंगे। इसके अलावा शिवसेना के साथ गतिरोध को खत्म करने पर भी चर्चा की जाएगी। बता दें महाराष्ट्र में 8 नवंबर तक सरकार का गठन होना जरूरी है, ऐसे में इस गतिरोध को खत्म करने के लिए महज 3 दिन का समय बचा है।

शिवसेना अड़ी

शिवसेना अड़ी

बता दें कि शिवसेना मुख्यमंत्री पद को लेकर अपनी जिद पर अड़ी हुई है। शिवसेना के नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि अगर भाजपा से बात होगी तो सिर्फ मुख्यमंत्री पद को लेकर बात होगी। साथ ही उन्होंने दावा किया है कि हमारे पास 170 से अधिक विधायकों का समर्थन है, यही नहीं यह आंकड़े 175 तक भी जा सकता है।

इसे भी पढ़ें- दिल्ली में आज से लागू हो गया ऑड-ईवन फॉर्मूला, इलेक्ट्रिक कारों को मिलेगी छूटइसे भी पढ़ें- दिल्ली में आज से लागू हो गया ऑड-ईवन फॉर्मूला, इलेक्ट्रिक कारों को मिलेगी छूट

English summary
BJP to leave two key ministry to convince Shiv sena to form Gov in Maharashtra.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X