• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के तीसरे फेज के ट्रायल का डाटा नहीं, एक्सपर्ट ने उठाए सवाल

|

नई दिल्ली। सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीनके बाद रविवार को भारत बायाटेक की कोवैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत मिल गई है। कोवैक्सीन को अनुमति दिए जाने को लेकर कई विशेषज्ञों ने सवाल उठाए हैं। कई एक्सपर्ट ने कहा है कि कोवैक्सीन के पहले और दूसरे फेज के ट्रायल के जो नतीजे हैं, वो अच्छे हैं लेकिन नवंबर में शुरू हुए तीसरे फेज के ट्रायल का डेटा अभी तक पूरा नहीं आया है। ऐसे में तीसरे फेज के ट्रायल के नतीजे आने से पहले वैक्सीन को लेकर सवाल खड़े होते हैं। वैज्ञानिकों ने इस वैक्सीन की क्लोज मॉनिटरिंग की अपील की है।

भारत बायोटेक वैक्सीन 12 साल, Coronavirus vaccine, Bharat Biotech vaccine third phase data, cavaxin, Coronavirus vaccine, coronavirus, Bharat Biotech vaccine, कोरोना वायरस

इंडियन एक्सप्रेस से एक बातचीत में अशोक विश्वविद्यालय में त्रिवेदी स्कूल ऑफ बायोसाइंसेज के वायरोलॉजिस्ट और निदेशक शाहिद जमील ने कहा, किसी भी वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग के लिए भी प्राधिकरण को प्रभावकारिता डेटा की आवश्यकता होती है। ये भारतीय टीके आखिरकार अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी जाएंगे। ऐसे में यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हमारे नियामक संस्थानों में विश्वास हो।

तीसरे चरण के ट्रायल में बड़ी संख्या में लोगों पर उस दवा को टेस्ट किया जाता है और फिर उससे आए परिणामों के आधार पर पता लगाया जाता है कि वो दवा कितने प्रतिशत लोगों पर असर कर रही है। ऐसे में भारत में बनी कोवैक्सीन कितनी कारगर है इस पर भी सवाल उठे हैं क्योंकि तीसरे फेज का डाटा ही अभी नहीं है। कोवैक्सीन के फेज एक और दो के ट्रायल में 800 वॉलंटियर्स पर इसका ट्रायल हुआ था जबकि तीसरे चरण के ट्रायल में 22,500 लोगों पर इसको आजमाने की बात कही गई है. लेकिन इनके आंकड़े सार्वजनिक नहीं किए गए हैं।

विशेषज्ञ ही नहीं कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने भी कोवैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की अनुमति दिए जाने पर सवाल किया है। शशि थरूर ने ट्वीट करते हुए कहा कि कोवैक्सीन का अभी तक तीसरे चरण का ट्रायल नहीं हुआ है, बिना सोच-समझे अनुमति दी गई है जो कि खतरनाक हो सकती है। उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से कहा है कि कृपया इस बात को साफ कीजिए। साथ ही उन्होंने सभी परीक्षण होने तक इसके इस्तेमाल से बचने की भी बात कही है।

भी पढ़ें- Coronavirus: 12 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों को दी जा सकेगी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bharat boitech CovaxinPhase 3 efficacy data is missing say experts
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X