• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

यात्रीगण कृपया ध्यान दें: 109 रूटों पर पर दौड़ेंगी 150 प्राइवेट ट्रेनें, संचालकों को होगी स्टेशन चुनने की आजादी

|

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने प्राइवेट ट्रेनों के ऑपरेटर्स को एक बड़ी छूट दी है,जो कि उनके लिए किसी वरदान से कम नहीं है,दरअसल अब निजी ट्रेनों के ऑपरेटर्स अपने हाल्ट स्टेशन को खुद चुन सकेंगे, इंडियन रेलवे की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि 109 रूटों पर 150 निजी रेल गाड़ियां चलाई जाएंगी, जिनकी जिम्मेदारी निजी संचालकों पर होगी और उनके पास ही खुद स्टेशनों का चुनाव करने की आजादी होगी, मतलब ये कि अब संचालक तय करेंगे कि उनकी ट्रेन कहां रूकेगी और कहां नहीं।

    Indian Railway: 109 रूटों पर पर 150 Private Trains,संचालक खुद चुनेंगे स्टेशन | वनइंडिया हिंदी
    निजी रेलगाड़ी संचालकों को देनी होगी रेलवे को जानकारी

    निजी रेलगाड़ी संचालकों को देनी होगी रेलवे को जानकारी

    लेकिन निजी रेलगाड़ी संचालकों को पहले ही उन स्टेशनों की सूची रेलवे को मुहैया करानी होगी जहां पर वे रेलगाड़ी का स्टेशन चाहते हैं और साथ ही उन्हें टाइम इन और आउट की जानकारी भी देनी होगी, कंसेशन एग्रीमेंट के ड्राफ्ट के मुताबिक, प्रपोजल को एडवांस में जमा करना होगा और यह एक साल के लिए लागू होगा। इसके बाद ही इसे रिवाइज किया जा सकेगा।

    यह पढ़ें: राहुल के बाद प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर तीखा हमला, कहा- BJP ने FB के अधिकारियों से की सांठगांठ

    इन बातों का रखना का खास ख्याल

    इन बातों का रखना का खास ख्याल

    यही नहीं ऑपरेटर्स को ट्रेन ऑपरेशन प्लान में उन स्टेशनों को भी शामिल करना होगा, जहां ट्रेन के वाटर टैंक को भरा जाएगा और जहां ट्रेनों में सफाई जैसे काम किए जाएंगे यही नहीं निजी रेलगाड़ियों को उस रूट पर मौजूदा समय में सबसे तेज गति से चल रही रेलगाड़ी के ठहराव स्टेशनों से अधिक ठहराव रखने की अनुमति नहीं होगी।

    30,000 करोड़ रुपए का निवेश

    30,000 करोड़ रुपए का निवेश

    गौरतलब है कि 109 मार्गों पर कुल 150 ट्रेनों के संचालन के लिए प्राइवेट कंपनियों से आवेदन मांगे गए थे, इस प्राइवेट प्रोजेक्ट पर 30,000 करोड़ रुपए का निवेश होगा, यह पहला मौका है जब पैसेंजर ट्रेन के संचालन के लिए भारतीय रेलवे ने प्राइवेट कंपनियों को आमंत्रित किया है।

    कुछ खास बातें

    कुछ खास बातें

    • हर ट्रेन में कम से कम 16 कोच होंगे।
    • इस पूरे प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी प्राइवेट कंपनी की होगी।
    • इन ट्रेनों के संचालन के लिए कुछ अहम नियम निर्धारित किए गए हैं, जिनका पालन करना अनिवार्य है।
    • सभी ट्रेनें 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेंगी।
    • इन ट्रेनों को भारतीय रेलवे के ड्राइवर और गार्ड ही चलाएंगे।
    • 35 साल के लिए है ये प्रोजेक्ट।
    • प्राइवेट ट्रेन के किराए वही कंपनियां तय करेंगी।

    यह पढ़ें: नहीं रहे चेतन चौहान: जानिए सलामी बल्लेबाज से मंत्री बनने तक का सफर

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Private train operators given freedom to choose halt stations said India Railway, Read Full Details Here.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X