• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमरिंदर सिंह ने यूं जीता कश्मीरियों का दिल

By Bbc Hindi

TWITTER\CAPT_AMARINDER

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ईद के मौक़े पर पंजाब में पढ़ने के लिए आए कश्मीरी छात्रों के लिए दोपहर के खाने की व्यवस्था की.

अनुच्छेद 370 पर केंद्र सरकार के फ़ैसले के बाद से कश्मीरी छात्रों का अपने घरवालों से संपर्क करना मुश्किल हो रहा है.

बीते कुछ दिनों से इंटरनेट और फ़ोन संपर्क भी बंद रहा. इस वजह से कश्मीरी छात्र ईद के मौक़े पर घर भी नहीं पहुंच पाए.

छात्रों के साथ बातचीत में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है, "हम आपके घरवालों की जगह तो नहीं ले सकते हैं लेकिन ये उम्मीद ज़रूर करते हैं कि आप हमें भी अपने परिवार की तरह देख सकते हैं. मैं पंजाब में आपकी सुरक्षा का आश्वासन देता हूं."

TWITTER\CAPT_AMARINDER

अमरिंदर सिंह ने ये भी कहा, "मैं कामकाज के चक्कर में लंबे समय से कश्मीर नहीं जा पाया हूं. लेकिन मैं कश्मीर को अपना दूसरा घर मानता हूं. मुझे विश्वास है कि घाटी में आपके परिवार भी सुरक्षित होंगे और जल्द ही आपकी उनसे मुलाक़ात होगी."

इस कार्यक्रम में शामिल हुए एक छात्र सलीम ने भी पंजाब को अपना दूसरा घर बताते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी पंजाब में असुरक्षा का भाव महसूस नहीं किया.

वहीं, एक अन्य छात्रा ने कहा कि उनके घरवाले भी पंजाब को अपेक्षाकृत ज़्यादा सुरक्षित मानते हैं.

वो कहती हैं, "मेरे घरवालों ने एक बार साफ़ कहा कि अगर कभी असुरक्षित महसूस करें तो आप पंजाब जाएं. ये एक बहुत अच्छी बात है कि मैं भारत के दूसरे हिस्सों के मुक़ाबले यहां ज़्यादा सुरक्षित महसूस करती हूं. आपने इस मौक़े पर हमसे बातचीत की, हमारे विचार सुने. इसके लिए हम आपके बहुत आभारी हैं."

एक अन्य छात्र ने कहा, "मैं बीते चार दिनों से अपने हॉस्टल में रो रहा था. लेकिन सोमवार को जब पता चला कि सीएम सर हमसे मिलना चाहते हैं तो हमें समझ नहीं आया कि क्या करें. शायद आपको इसकी ज़रूरत नहीं थी. आप इसे दरकिनार कर सकते थे. लेकिन आपने ऐसा नहीं किया. आपने हमें बुलाया. हमसे बात की."

"ईद के मौके पर जब तक मां-बाप की डांट, भाई-बहन से लड़ाई और प्यार भरी नोकझोंक न हो तब तक कहां पेट भरता है. लेकिन इस बार आपने हमें यहां बुलाया. हमसे बात की. इतना प्यार दिया. इसके लिए हम आपके बहुत शुक्रगुज़ार हैं. हमारे पास शब्द नहीं हैं. सोचता हूं कि कश्मीर आपका क़र्ज़ कैसे उतारेगा? हमारे धर्म में रब के अलावा किसी के सामने झुकना ग़लत माना जाता है लेकिन मैं आपके सामने झुकता हूं."

इस मुलाक़ात के बाद कश्मीरी छात्रों ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को उनका एक स्कैच गिफ़्ट किया.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Amarinder Singh won the heart of Kashmiris like this
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X