• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

Video: जीना नहीं चाहती थी रूस की सोफिया, गीता पढ़कर मिले सभी जवाब, अब 8 साल से बनीं वृंदावनवासी

Google Oneindia News

वृंदावन, 07 सितंबर: भारत दुनिया का एक देश होने के साथ-साथ एक संस्कृति भी है, जो इसे पूरे विश्व से अलग बनाता है। हमारे देश को जानने के लिए हजारों-लाखों विदेशी लोग आते हैं, लेकिन कुछ उनमें से कुछ ऐसे भी होते हैं, जो यहां के कल्चर को देखकर बसने का मन बना लेते हैं। ऐसी एक महिला है, जिनका नाम हैं सोफिया और अपने देश रूस से आकर करीब 8 साल के ज्यादा के वक्त से भगवान कृष्ण की नगरी वृंदावन में रह रहीं है।

सोफिया ने बताया अपना अनुभव

सोफिया ने बताया अपना अनुभव

वृंदावन में रहने वाली सोफिया अच्छी खासी हिंदी बोल लेती हैं, यहां तक की वो भारतीय पोशाक ही पहनती हैं। ऐसे में अब उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वो भारत में आने के पीछे की वजह और यहां आकर उनको कैसा लगा, जिसके बारे में अपना एक्सपीरियंस शेयर करते हुए काफी कुछ बताया।

भगवत गीता ने दिया नया जीवन

भगवत गीता ने दिया नया जीवन

वैसे तो कृष्ण भक्ति से सराबोर लाखों विदेशी भक्तों को आपने देखा होगा, लेकिन वृंदावन में रहने वाली सोफिया इन सबसे अलग हैं। रशियन लड़की सोफिया ने खुद इस बात को बताया कि उनके जीने की इच्छा खत्म हो चुकी थी, गीता ने उनको बचाया और आज गीता के माध्यम से उनको हर उस सवाल का जवाब मिल गया है, जो वो अपनी जिंदगी में ढूंढना चाहती थीं।

डांस की ट्रेनिंग ले रही सोफिया

डांस की ट्रेनिंग ले रही सोफिया

रूस से आकर वृंदावनवासी बनीं सोफिया यहां इंडियन क्लासिकल डांस की ट्रेनिंग ले रही हैं। भगवत गीता से भी उनको बहुत लगाव है। उन्होंने बताया कि 13-14 साल की उम्र में उनको जीने की इच्छा नहीं थी, लेकिन फिर थोड़ टाइम बाद उनको गीता के बारे में पता लगा और आज वह भगवत गीता की ही वजह से जिंदा हैं।

जिंदगी से जुड़े सभी सवालों के मिले जवाब

जिंदगी से जुड़े सभी सवालों के मिले जवाब

दरअसल, यूट्यूबर गौतम खट्टर ने हाल ही में उनका इंटरव्यू किया था, जिसकी कुछ एक-दो क्लिप उन्होंने अपने इंस्टा अकाउंट पर साझा की, जिसमें सोफिया ने अपने बारे में बताया और कहा कि उन्होंने गीता पढ़ी है। सोफिया के मुताबिक जब उन्होंने भगवत गीता को पढ़ा तो उनको जिंदगी से जुड़े सभी सवालों के जवाब मिल गए। गीता पढ़ने से पहले वह अपनी लाइफ से जुड़े सवालों को तलाश रही थीं, लेकिन अब वो संतुष्ट हैं।

2014 में आईं सोफिया, बन गई वृंदावनवासी

2014 में आईं सोफिया, बन गई वृंदावनवासी

इतना ही नहीं वो हमारी तरह अच्छी खासी हिंदी बोल लेती हैं। पहनावा भी बिल्कुल भारतीय है। साड़ी पहनना उनको काफी अच्छा लगता है। वृंदावन में सोफिया ओडिसी डांस सीख रही हैं। और वक्त के साथ-साथ उनकी हिंदी भी बेहतर होती चली गईं। 2014 में आई सोफिया को अब भारत में 8 साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है। उन्होंने बताया कि उनको क्लासिकल डांस में ओडिसी काफी पसंद हैं, इसलिए अपने परिवार से पूछकर वो भारत आ गईं।

UAE में बन रहे पहले भव्य हिन्दू मंदिर को देखकर गदगद हुए भारतीय विदेश मंत्री, जानिए कब तक होगा तैयार?UAE में बन रहे पहले भव्य हिन्दू मंदिर को देखकर गदगद हुए भारतीय विदेश मंत्री, जानिए कब तक होगा तैयार?

अब शुद्ध शाकाहारी बन चुकीं हैं सोफिया

अब शुद्ध शाकाहारी बन चुकीं हैं सोफिया

सोफिया ने इंटरव्यू में बताया कि जब वे टीनएजर थीं तो उन्होंने हिंदी फिल्मों, गीता और ओडिसी डांस के बारे में जाना था। फिर धीरे-धीरे उनका इस ओर झुकाव हुआ और फिर साल 2014 में भारत आकर वृंदावन की डांस स्कूल में डांस की ट्रेनिंग लेनी शुरू कर दी। सोफिया का यहां आकर नया नाम भी मिला है, उनका नाम सीमा लाधका देवीदासी है। वृंदावन में रहने और गीता पढ़ने के बाद अब वो शुद्ध शाकाहारी बन चुकीं हैं और उसके बारे में लोगों को बता भी रही हैं।

Comments
English summary
After coming from Russia, Sofia settled in Vrindavan, got attached to Geeta and dance
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X