• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

भविष्य के कृषि वैज्ञानिक सीखेंगे अनुशासन का पाठ, देश मे पहली बार कृषि विश्वविद्यालय में पढ़ाया जाएगा NCC कोर्स

|
Google Oneindia News

रायपुर, 13 मई। छत्तीसगढ़ का इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय देश का ऐसा पहला विश्वविद्यालय बनने जा रहा है, जहां एनसीसी यानि नेशनल कैडेट कोर का कोर्स पढ़ाया जाएगा। विश्वविद्यालय नए शैक्षणिक सत्र से इसे चालू करने जा रहा है। इस प्रकार विश्वविद्यालय से संबंध शासकीय महाविद्यालयों के अलावा निजी कालेजों में वैकल्पिक कोर्स के रूप में चुन सकेंगे।

ncc

गुरुवार को एनसीसी के छत्तीसगढ़ कमांडर ब्रिगेडियर एके दास और आईजीकेवी कुलपति गिरिश चंदेल और परिषद के साथ हुई बैठक में यह बड़ा फैसला को लिया गया। विशेष बात यह है कि अब तक छत्तीसगढ़ की किसी भी यूनिवर्सिटी ने एनसीसी कोर्स शुरू नहीं किया है। न्यू एजुकेशन पॉलिसी में युवाओं में अनुशासन, देशभक्ति और नेतृत्वक्षमता की भावना जगाने के मकसद से एनसीसी को वैकल्पिक कोर्स केतौर में उच्च शिक्षा में शामिल किया गया है। रायपुर का आईजीकेवी इसी दिशा में काम कर रहा था।

यह भी पढ़ें छत्तीसगढ़ हेलीकॉप्टर क्रैश: भावुक कर देती है, हेलीकॉप्टर हादसे में जान गंवाने वाले पायलटों की कहानी

अधिकारीयों ने दावा किया कि देश में अब तक एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी ने यह कोर्स नहीं अपनाया है। हालाँकि जम्मू, मुंबई, विद्यासागर यूनिवर्सिटी , रांची कालेज में इस पर विचार किया जा रहा है। इस कारण से एनसीसी के अधिकारी आईजीकेवी को देश में मॉडल के तौर पर प्रस्तुत करना चाहते हैं। देश के लगभग 15 लाख युवाओं को इस योजना से जोड़ने का प्लान है।

नए सत्र 2022-23 से एनसीसी की पढ़ाई 6 सेमेस्टर में करवाई जाएगी । इनमें से 4 सेमेस्टर कोर्स करने वाले छात्रों को बी-सर्टिफिकेट मिलेगा .इसी प्रकार सभी 6 सेमेस्टर पूरा करने वालों को सी-सर्टिफिकेट दिया जायेगा । उन्हें मार्कशीट में ए,बी, सी ग्रेड दिया जायेगा । एनसीसी की ओर से भी सफल छात्रों को प्रमाणपत्र दिया जाएगा।

विशेष तथ्य यह है कि एनसीसी की परीक्षा के प्रश्नपत्र विश्वविद्यालय खुद ही तैयार करेगा,लेकिन प्रैक्टिकल और थ्योरिटिकल टेस्ट एनसीसी के अफसर ही लेंगे । इस पाठ्यक्रम को पढ़ाने के लिए आईजीकेवी के कुछ अधिकारी पहले से प्रशिक्षित हैं,लेकिन एनसीसी के अधिकारी और कमांडर भी छात्रों को -सय शिक्षा देंगे। एनसीसी के छत्तीसगढ़ प्रमुख ब्रिगेडियर एके दास का कहना है कि आईजीकेवी देश में पहला कृषि विश्वविद्यालय है, जो एनसीसी का पाठ्यक्रम प्रारंभ कर रहा है। मुझे विश्वास है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति से प्रेरित होकर भविष्य में सभी यूनिवर्सिटी और कालेज इसे अपनाएंगे।

यह भी पढ़ें छत्तीसगढ़ हेलीकॉप्टर क्रैश मामला, दुर्घटना से पहले 5 बार हेलीकॉप्टर बजा चुका था खतरे का सायरन !

Comments
English summary
Future agricultural scientists will learn the lessons of discipline, for the first time in the country, NCC course will be taught in agricultural universities
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X