• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पूरी तरह कर्जमुक्त हुई रिलायंस इंडस्ट्रीज, समय से पहले पूरा हुआ वादा: मुकेश अंबानी

|

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 31 मार्च, 2021 की समय सीमा से पहले कर्जमुक्त होने का लक्ष्य हासिल कर लिया है। इस बात की घोषणा कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने शुक्रवार को की है। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बीते करीब 58 दिनों के भीतर 1,68,818 करोड़ रुपये जुटाए हैं। ये रकम डिजिटल शाखा और राईट इश्यू में निवेश के जरिए जुटाई गई है। मुकेश अंबानी ने कहा कि उन्हें इस बात की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि शेयरधारकों से किया गया वादा पूरा कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि ये वादा 31 मार्च, 2021 की समयावधि से पहले ही पूरा हुआ है। अब रिलायंस नेट को कर्जमुख्त कर दिया गया है।

जियो को मिले 11 निवेशक

जियो को मिले 11 निवेशक

कंपनी के मुताबिक अब तक जियो को 11 निवेश मिल चुके हैं। पिछले 56 दिनों में जियो ने कुल 10 निवेश से करीब 1,15,696.95 करोड़ रुपये जुटाए हैं। बता दें सितंबर 2016 में Jio 4G लॉन्च करने के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) को बाजार से बहुत अधिक कर्ज उठाना पड़ा था। जियो के आने के बाद टेलिकॉम सेक्टर में क्रांति आ गई, सस्ती कॉल और इंटरनेट से जियो अपने सभी प्रतिद्वंदियों से आगे निकल गया। इसके बाद अब आरआईएल ने कर्ज का भुगतान करने का फैसला किया है, वहीं कंपनी ने अपनी हिस्सेदारी का एक हिस्सा बेचकर कुछ और लाभ कमाने का फैसला भी किया।

जियो में फेसबुक से हुई निवेश की शुरुआत

जियो में फेसबुक से हुई निवेश की शुरुआत

जियो में निवेश की शुरुआत फेसबुक से हुई जिसने 21 अप्रैल, 2020 को 5.7 बिलियन डॉलर के निवेश की घोषणा की। इसके दो हफ्ते बाद अमेरिकी निजी इक्विटी कंपनी सिल्वर लेक पार्टनर्स ने 750 मिलियन डॉलर का निवेश किया। इसके बाद विस्टा इक्विटी पार्टनर्स (1.5 बिलियन डॉलर), जनरल अटलांटिक (870 मिलियन डॉलर), केकेआर (1.5 बिलियन डॉलर), मुबाडाला इन्वेस्टमेंट कंपनी (1.2 बिलियन डॉलर) और अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी (750 मिलियन डॉलर), सिल्वर लेक (600 मिलियन डॉलर की दूसरी किश्त), टीपीजी कैपिटल (600 मिलियन डॉलर ) और कैटरटन (1,895 करोड़ रुपये) ने निवेश किया।

एक के बाद एक कई इंवेस्टमेंट डील

एक के बाद एक कई इंवेस्टमेंट डील

रिलायंस जियो ने 22 अप्रैल को फेसबुक के साथ करार के बाद ताबड़तोड़ इंवेस्टमेंट डील की हैं। रिलायंस जियो के साथ साझेदारी करने वालों में दुनियाभर की टेक्नोलॉजी और इंवेस्टमेंट कंपनियां शामिल हैं। इससे पहले प्राइवेट ​इक्विटी फर्म्स एल कैटरटन और TGP ने जियो में बड़ा निवेश किया है। आपको बता दें कि जियो के पास 40 करोड़ यूजर्स का बड़ा नेटवर्क है। कम और सस्ती दरों पर बेहतरीन सर्विस देने की वजह से कम समय में ही जियो ने बाकी टेलीकॉम कंपनियों को पछाड़ दिया और नंबर 1 के पायदान पर पहुंच गई।

फिच ने स्टेबल से नेगेटिव किया भारत का ग्रोथ आउटलुक, रेटिंग अब भी BBB

English summary
reliance industries in now net debt free before its deadline promise is fulfilled said mukesh ambani
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X