• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Social Media के ज़रिए हुई दोस्ती, मंदिर में रचाई शादी, अब इंसाफ के लिए भटक रही युवती

Social Media: समस्तीपुर के बंबइया हरपाल गांव (दलसिंहसराय थाना) की रहने वाली युवती को सहरसा के पंचगछिया गांव के रहने वाले युवक से फेसबुक के ज़रिए दोस्ती हुई थी। युवक ने लड़की को अपना नाम राजू बताया था। अपनी पहचान छिपाकर..
Google Oneindia News

Social Media के ज़रिए प्रेम प्रसंग के कई मामले सामने आ चुके हैं, किसी की मोहब्बत कामयाब हुई तो कोई इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहा है। ताज़ा मामला बिहार के सहरसा ज़िले का है, जहां एक विशेष समुदाय के एक युवक ने सोशल मीडिया के ज़रिए दूसरे धर्म की लड़की से दोस्ती की, ग़ौरतलब है कि युवक ने युवती को अपनी सही पहचान नहीं बताई और दोस्ती कर ली। इसके बाद धीरे-धीरे दोनों की दोस्ती मोहब्बत में तब्दील हुई। दोनों का प्रेम परवान चढा और वह लिव-इन रिलेशनशिप में रहने लगे। प्रेमिंका ने अपने प्रेमी पर दबाव बनाया तो उन्होंने काली मंदिर (बेगूसराय) में शादी रचाई। प्रेमी जोड़े की शादी के 8 महीने बाद बीत जाने के बाद युवक अपनी प्रेमिका को छोड़कर फरार हो गया। अब युवती इंसाफ के लिए भटक रही है। आइए विस्तार से पूरा मामला जानते हैं।

1 साल से लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहे थे दोनों

1 साल से लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहे थे दोनों

समस्तीपुर के बंबइया हरपाल गांव (दलसिंहसराय थाना) की रहने वाली युवती को सहरसा के पंचगछिया गांव के रहने वाले युवक से फेसबुक के ज़रिए दोस्ती हुई थी। युवक ने लड़की को अपना नाम राजू बताया था। अपनी पहचान छिपाकर युवक ने दोस्ती तो हो गई। दोनों में बातचीत होने के 15 दिन गुज़र जाने के बाद लड़की को युवक की सच्चाई सामने आ गई। लेकिन इश्क का खुमार ऐसा था कि सच्चाई पता चल जाने के बाद भी युवती अपने प्रेमी के साथ ही रहने लगी। दोनों 1 साल से ज्यादा समय तक लिव-इन रिलेशनशिप में रहे। फिर लड़की के दबाव बनाने के बाद 1 जनवरी 2022 को मंदिर में शादी रचाई। अब शादी के कई महीने बीत जाने के बाद युवक फरार हो गया।

सोशल मीडिया के ज़रिए हुई थी दोस्ती

सोशल मीडिया के ज़रिए हुई थी दोस्ती

पीड़ित युवती अपना दर्द लेकर ससुराल पहुंची तो वहां भी लोगों ने उसके साथ बदसलुकी कर भगा दिया। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उन लोगों ने जान से मारने की धमकी भी दी। पीड़ित युवती की मानें तो 13 जनवरी 2020 को सोशल मीडिया के ज़रिए युवक से दोस्ती हुई थी। उसके बाद उन दोनों के बीच प्रेम परवान चढा और वह लोग बेगूसराय में लिव-इन रिलेशनशिप में रहने लगे। इस दौरान युवती गर्भवती हुई तो ज़बरदस्ती उसे दवाई खिलाकर गर्भपात करवा दिया। दबाव बनाने के बाद युवक ने काली मंदिर (बेगूसराय) में 1 जनवरी को शादी रचाई। इसके साथ लखीसराय कोर्ट से शदी का शपथ पत्र भी बनवाया।

इंसाफ के लिए भटक रही युवती

इंसाफ के लिए भटक रही युवती

शादी के बाद 8 महीने तक दोनों साथ रहे, उसके बाद युवक अपनी पत्नी को छोड़कर फरार हो गया। पीड़िता का आरोप है कि उसका पति उसके 2 लाख रुपये के जेवरात साथ लेकर फरार हो गया है। वह जब इंसाफ मांगने अपने ससुराल पहुंची तो वहां भी उसके साथ ज्यादती हुई और धमकी देकर भगा दिया दया। इस पूरे मामले में इंसाफ पाने के लिए पीड़िता ने महिला थाने में 2 अक्टूबर को शिकायत दर्ज करवाई थी लेकिन उचित कार्रवाई नहीं हुई। वहीं अब पीड़िता ने सहरसा पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई है।

ये भी पढ़ें: Unique Marriage Tradition: शादी के लिए लड़के के घर में नाव होना ज़रूरी, जानिए क्या है शादी से नाव का कनेक्शन ?

Comments
English summary
Social media friendship, live in relationship, love betrayal news in hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X