PICs: दीपिका की 'पद्मावती' पर एक ऐतराज से ठप हो गया मुजफ्फरपुर

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

पटना। फिल्म पद्मावती के रिलीज होने से पहले ही बगावत और विरोध की आवाज चारों तरफ गूंजने लगी है क्योंकि विरोध करने वाले लोगों का कहना है की फिल्म पद्मावती में हिंदुओं के इतिहास के साथ मजाक किया गया है और ये फिल्म अगर यहां लगी तो उस सिनेमा हॉल में आग लगा दी जाएगी। इसी को लेकर बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में राजपूत करणी सेना ने अपने समर्थकों के साथ नेशनल हाईवे को जाम कर कई घंटों तक आवागमन पूरी तरह बाधित कर दिया। सड़कों पर टायर जलाते हुए इस फिल्म को शहर के सिनेमा हॉल में नहीं लगाने की धमकी दी। राजपूत करणी सेना के समर्थकों के इस आक्रोशित रवैए को देखकर मौके पर पहुंची कई थाने की पुलिस भी उन्हें शांत नहीं करा सकी। फिर मौके पर पहुंचे अंचला अधिकारी ने आश्वासन देते हुए कहा की फिल्म पद्मावती मुजफ्फरपुर के सिनेमा हॉल में भी नहीं लगेगी, ऐसा नोटिस जारी किया जाएगा जिसके बाद सभी शांत हुए और लगभग 6 घंटे तक चले इस सड़क जाम से लोगों को मुक्ति मिली, जिसमें दूर दराज से आने-जाने वाले लोग धूप में फंसे हुए थे।

फिल्म को लेकर हुआ बवाल, सड़कें जाम

फिल्म को लेकर हुआ बवाल, सड़कें जाम

जानकारी के मुताबिक मामला बिहार के मुजफ्फरपुर जिले का है, जहां राजपूत करणी सेना के युवाओं द्वारा फिल्म पद्मावती का विरोध करते हुए एनएच 28 और 77 को पूरी तरह जाम कर दिया गया। सड़क जाम कर प्रदर्शन करने की सूचना जब नजदीकी थाने को मिली तो पुलिस मौके पर पहुंची और प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश करने लगी लेकिन सभी मौके पर जिला अधिकारी को बुलाने और शहर में फिल्म नहीं लगाने की मांग पर अड़े हुए थे। इस दौरान सीतामढ़ी, पटना और अन्य शहरों में जाने के लिए लगभग सैकड़ों गाड़ियां दोनों तरफ से खड़ी हो गईं और देखते ही देखते पूरा शहर ठप हो गया।

फिल्म को यहां ना दिखाने का नोटिस

फिल्म को यहां ना दिखाने का नोटिस

हालांकि काफी मशक्कत के बाद एंबुलेंस को दूसरे रास्ते से निकाला गया लेकिन प्रदर्शनकारियों का विरोध रुकने का नाम नहीं ले रहा था। जिसे देखते हुए मौके पर पहुंचे मुसहरी अंचला अधिकारी ने आक्रोशित प्रदर्शनकारियों को समझाते हुए ये आश्वासन दिया कि मुजफ्फरपुर में ये सिनेमा नहीं लगाया जाएगा। जिसके बाद सभी शांत हुए और सड़क जाम से मुक्ति मिली।

शहर ठप करने वालों की तलाश

शहर ठप करने वालों की तलाश

वहीं मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सड़क जाम कर प्रदर्शन करने वाले राजपूत करणी सेना के खिलाफ FIR दर्ज की जाएगी। वीडियो फुटेज और फोटो के आधार पर लोगों को चिन्हित कर कार्रवाई की जा रही है क्योंकि इन लोगों ने बिना जानकारी दिए हुए सड़क जाम कर प्रदर्शन किया था, जिससे शहर का आवागमन काफी देर तक बाधित रहा।

आग लगाने की धमकी

आग लगाने की धमकी

वहीं करणी सेना के जिला अध्यक्ष अश्विनी सिंह संयोजक शेखर सिंह सहित अन्य लोगों ने कहा कि पद्मावती फिल्म ने हिंदुओं का मजाक उड़ाने का काम किया है। इस फिल्म से हिंदुओं को अपमानित करने की कोशिश की गई है। यदि ये फिल्म सिनेमाघरों में लगाई गई तो वहां आग लगा दी जाएगी। वहीं मुसहरी सीओ के द्वारा आश्वासन दिया गया है कि फिल्म को नोटिस भेजते हुए मुजफ्फरपुर में ना दिखाने की बात कही जाएगी।

Read more:रावण का पुतला लगाने पर पथराव करने वाले समूह से पलायन को मजबूर परिवार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mujaffarpur jam by an objection to Deepika's movie 'Padmavati'

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.