• search

17 सितंबर को सूर्य का कन्या राशि में गोचर,क्या होगा असर?

By Pt. Anuj K Shukla
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    लखनऊ। जब भी कोई ग्रह राशि परिवर्तन करता है तो बारह राशियों पर उसका अनुकूल व प्रतिकूल का प्रभाव पड़ता है। सूर्य एक राशि में एक माह तक गोचर करता है। 17 सितम्बर दिन सोमवार सुबह 7ः03 मि0 पर सूर्य अपनी मूल त्रिकोण राशि से निकलकर अपने मित्र की राशि कन्या में भ्रमण करना शुरू करेगा जो 17 अक्टूबर 2018 दिन बुधवार सांय 7ः02 मिनट तक इसी राशि में रहेगा।

    चलिए जानते है कि इन तीन ग्रहों का एक साथ परिवर्तन आपकी राशि पर क्या असर डालेगा?

    सूर्य की चाल का हम पर होगा असर

    सूर्य की चाल का हम पर होगा असर

    • मेष-छठें भाव का सूर्य शत्रुओं का शमन करेगा एंव रोग में वृद्धि भी करा सकता है। आर्थिक समस्याओं का निदान होगा और साथ में करियर में स्थिरता आयेगी। व्यवसाय में उपभोक्ताओं की वुद्धि होगी। नए सम्बन्धों का लाभ मिलेगा। घर-गृहस्थी में सुखद वातावरण बने रहने के आसार नजर है। सप्तम भाव का मंगल जीवन साथी से तनाव उत्पन्न कराएगा।
    • वृष- नवमेश सूर्य पंचम भाव में गोचर करेगा। राजनीति से जुड़े लोगों के शुभ अवसर आएंगे। बेवहज के कार्यो की वजह से मन में चिड़चिड़ापन बना रहेगा। कार्य योजनाओं में बाधाएं आयेगी। परिवार की किचकिच से कहीं दूर जाने का मन होगा। किताबी कीड़ा न बनकर व्यवहारिकता पर भी बल देने की जरूरत है।
    • मिथुन- चौथे भाव का सूर्य कुछ लोगों को वाहन सुख दिला सकता है। सामाजिक क्रिया-कलापों में धन का अपव्यय हो सकता है। नौकरी आदि में बास से टकराव की स्थितियां उत्पन्न हो सकती है। नए सम्बन्धों को सोच-समझकर ही मजबूत बनायें। वाहन प्रयोग में सावधानी बरतें। पंचम भाव का मंगल प्रेम सम्बन्धों में दरार पैदा कर सकता है।

    यह भी पढ़ें:बुध करेगा सिंह से कन्या में प्रवेश, जानिए किस राशि पर क्या होगा प्रभाव

    अचानक यात्रा करनी पड़ सकती है

    अचानक यात्रा करनी पड़ सकती है

    • कर्क-तृतीय भाव का सूर्य पराक्रम व साहस में वृद्धि कराएगा एंव कुछ लोगों को पद, प्रतिष्ठा का लाभ मिलेगा। धन की आर्थिक स्थिति में मजबूती आयेगी। व्यवसायिक गतिविधियों में प्रगति होने के आसार है। जीवन साथी के साथ मधुरतम पल व्यतीत होंगे। विद्यार्थियों के लिए समय उत्तम रहेगा।
    • सिंह-परिवार की सामूहिक प्रगति होने के आसार नजर आ रहे है। कुछ लोगों के सम्बन्ध विच्छेद हो सकते है। आय व व्यय में समानता का माहौल बना रहेगा। मानसिक स्थितियों में असमानता बनी रहेगी। तृतीय भाव का मंगल आपके साहस में वृद्धि करायेगा एंव भाईयों से रिश्तों में मधुरता लोयगा।
    • कन्या- सूर्य पंचमेश होकर आपकी लग्न में उच्च अवस्था में गोचर कर रहा है। कुछ लोगों का प्रेम प्रसंग शुरू हो सकता है। बौद्धिक बल के कारण आप लोगों में पहचान बना सकेंगे। सूर्य लग्न में और मंगल द्वितीय स्थान में है इसलिए अपने क्रोध पर काबू पायें वरना रिश्तें खराब हो सकते है।
    • तुला-सूर्य के 12वें भाव में रहने से अनवाश्य खर्चो में बढ़ोत्तरी होगी। अतः इन पर नियन्त्रण करना आवयश्यक होगा अन्यथा बजट गड़बड़ा सकता है। सोची समझी रणनीति के तहत किये गये कार्यो में प्रगति होगी। अचानक यात्रा करनी पड़ सकती है। मंगल लग्न में होने के कारण अहंकार को बढ़ावा देगा, जो सफलता में बाधक होगा।
    पराक्रम व साहस में वृद्धि होगी

    पराक्रम व साहस में वृद्धि होगी

    • वृश्चिक- पराक्रम व साहस में वृद्धि होगी। रोजगार में प्रगति होगी। धन का लाभ होगा जिससे परिवार का महौल सुखद होगा। भाई पक्ष से सहयोग की उम्मीद की जा सकती है। विद्यार्थियों को साक्षात्कार में सफलता मिलेगी। लाभ भाव का सूर्य कुछ लोगों को मान-सम्मान भी दिला सकता है। लग्नेश व चतुर्थेश बुध अस्त है, इसलिए भौतिक संसाधनों की कमी के कारण तनाव भी हो सकता है।
    • धनु- दशम भाव में सूर्य के गोचर करने से पद, प्रतिष्ठा का लाभ होगा एंव सामाजिक कार्यो से फायदा होगा। नयें लोगों की कार्य जीविका में प्रगति होगी। कुछ ऐसा होगा जिससे मन प्रसन्नचित्त रहेगा। पंचमेश मंगल लाभ भाव में होने के फलस्वरूप प्रेमी वर्ग के लिए यह समय अनुकूल रहेगा।
    • मकर-भाग्य भाव में सूर्य रहने से करियर में प्रगति होगी एंव पिता से मधुर सम्बन्ध बनेंगे। भाग्य पक्ष में मजबूती आयेगी जिससे रूके हूये कार्यो में प्रगति होगी। शोध छात्रों के लिए समय अनुकूल रहेगा। दशम भाव का मंगल राजनीति से जुड़े लोगों की प्रतिष्ठा में वृद्धि करायेगा किन्तु बुध अस्त होने का कारण धन आते-आते रूक जायेगा।
    • कुम्भ- अष्टम भाव का सूर्य अचानक समस्यायें उत्पन्न कर सकता है। कुछ लोगों के गुप्त सम्बन्धों का खुलासा हो सकता है। गूढ़ विषयों के अध्ययन की ओर मन अग्रसर होगा। साहस एंव पराक्रम में कमी आयेगी जिससे आत्म-विश्वास डाउन होगा। नवम भाव का मंगल डाक्टरों व इन्जीनियरों के लिए विशेष लाभप्रद रहेगा। कुछ लोगों को विदेश यात्रा भी करवा सकता है।
    • मीन-सप्तम के सूर्य की सप्तम दृष्टि लग्न भाव पर पड़ रही है, जिस कारण कुछ लोग तनाव में रह सकते है। दाम्प्त्य जीवन में खलल पैदा होने की आशंका है जिससे परिवार में कलह की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। समय का दुरूप्रयोग करने से बचना होगा। वाणी में नियन्त्रण रखना आवश्यक है। अष्टम का मंगल पाइल्स रोगियों को परेशान करेगा।

    यह भी पढ़ें: Anant Chaturdashi Day 2018: अनंत चतुर्दशी पर करें भगवान विष्णु की पूजा, कष्टों से मिलेगी मुक्ति

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Sun is the most powerful planet in the solar system. after jupiter, sun is the powerful planet. Sun transit in virgo, 17 sept 2018: Read Important Facts.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more