• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

तेलंगाना के शहरी निकायों का राजस्व बढ़ा: RBI

Google Oneindia News

हैदराबाद नगर निगम पर काफी बड़ा लोन है, बावजूद इसके तेलंगाना की के शहरी निकाय बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं और प्रदेश की ग्रॉस स्टेट डॉमेस्टिक प्रोडक्ट में योगदान करने वाली तीसरी सबसे बड़ी ईकाई है। यही नहीं वारंगल, खम्माम और करीमनगर भी कर वसूली के लिहाज से काफी अच्छा काम कर रहे हैं और अच्छा राजस्व इकट्ठा कर रही है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया म्युनिसिपल फाइनेंसेस की ताजा रिपोर्ट के अनुसार बिहार और आंध्र प्रदेश के बाद तेलंगाना तीसरा राज्य है जहां जिसके निकाय ने वित्त वर्ष 2019-20 में अचल संपत्ति को बढ़ाने और अन्य विकास कार्यों में व्यय 0.37 फीसदी तक बढ़ाया है। वहीं बिहार ने 0.84 फीसदी और आंध्र प्रदेश ने 0.60 फीसदी का लक्ष्य हासिल किया है।

telangana

इसे भी पढ़ें- जसवंतनगर में कार्यकर्ताओं को शिवपाल ने किया संबोधित, कहा- '2004 के मुकाबले रिकॉर्ड जीत दर्ज करवाएंगे'इसे भी पढ़ें- जसवंतनगर में कार्यकर्ताओं को शिवपाल ने किया संबोधित, कहा- '2004 के मुकाबले रिकॉर्ड जीत दर्ज करवाएंगे'

बता दें कि बजट में पूंजी का व्यय जितना अधिक होगा उतना ही किसी भी निकाय का विकास बेहतर होगा। तेलंगाना ने धीरे-धीरे पूंजी के व्यय को म्युनिसिपल में पिछले सालों में बढ़ाया है। 2017-18 में तेलंगाना का जीएसडीपी में निकाय पर कुल व्यय 0.18 फीसदी था, 2018-19 में 0.35 फीसदी था, जबकि 2019-20 में यह बढ़कर 0.37 फीसदी हो गया है। एक और रोचक पहलू यह है कि तेलंगाना और आंध्र प्रदेश दोनों एकमात्र राज्य हैं जिन्होंने निकाय को बैंक से लोन लेने की अनुमति दी है। भारत में निकाय कानून की बात करें तो सिर्फ राज्य सरकार की अनुमति पर ही निकाय बैंक से लोन ले सकते हैं।

Comments
English summary
Telangana urban local bodies revenue increases says RBI report.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X