• search
वाराणसी न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

VIDEO: काशी के महाश्‍मशान मणिकर्णिका घाट पर खेली गई चिता भस्म की होली

|

वाराणसी। रंगभरी एकादशी पर बाबा भोलेनाथ के गौना के दूसरे दिन काशी में उनके भक्‍तों के द्वारा चिता भस्म की होली की मान्‍यता है। रंगभरी एकादशी के मौके पर गौरा को विदा करा कर कैलाश ले जाने के साथ ही भगवान भोलेनाथ काशी में अपने भक्‍तों को होली खेलने और हुड़दंग की अनुमति प्रदान करते हैं। शुक्रवार को महाश्‍मशान मणिकर्णिका घाट पर चिता की भस्‍म से जमकर होली खेली गई।

    VIDEO: काशी के महाश्‍मशान मणिकर्णिका घाट पर खेली गई चिता भस्म की होली

    People at Varanasi Manikarnika Ghat celebrate Holi smear pyre ash on each other

    गुरुवार को रंगभरी एकादशी के मौके पर माता पार्वती के गौने में भोलेनाथ के भक्‍तों को होली खेलने और हुडदंग की अनुमति प्रदान की, जिसके साथ ही शुरू हुए पांच दिवसीय रंगोत्‍सव के पहले दिन महाश्‍मशान पर अद्भुत नजारा दिखा।

    कहा जाता है कि काशी मोक्ष की नगरी है और मान्यता है कि यहां भगवान शिव स्वयं तारक मंत्र देते हैं। यहां पर मृत्यु भी उत्सव है और होली पर चिता की भस्म को उनके गण अबीर और गुलाल की भांति एक दूसरे पर फेंककर सुख-समृद्धि-वैभव संग शिव की कृपा पाते हैं। चिता भस्म की होली में शामिल शिव भक्त जमकर झूम उठे। भक्तों ने बाबा के संग जमकर मसान की होली खेली। इस दौरान हर-हर महादेव के जयघोष लगे। साथ ही लोगों ने डमरू बजाकर होली का हुड़दंग शुरू कर दिया।

    वाराणसी: शौहर ने सरेराह दिया 3 तलाक, बीवी बोली- दूसरी औरत रखकर मुझसे मांग रहा 10 लाख

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    People at Varanasi Manikarnika Ghat celebrate Holi smear pyre ash on each other
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X