• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

दो दिन तक दिल्ली में बैठकों के बाद CM धामी लौटे दून, महाराष्ट्र सदन में हुई मंत्रणा सबसे ज्यादा चर्चा का विषय

दिल्ली में महामंथन के बाद सीएम धामी देहरादून लौट आए
Google Oneindia News

देहरादून, 29 सितंबर। दो दिन तक दिल्ली में महामंथन के बाद सीएम पुष्कर सिंह धामी गुरूवार को देहरादून लौट आए। इस बीच दिल्ली में सीएम धामी की कई बैठकें हुई हैं, लेकिन सबसे सीएम धामी की महाराष्ट्र सदन में हुई मंत्रणा सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बना हुआ है। सीएम धामी ने महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट और स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत के साथ प्रदेश के सियासत और घटनाओं को लेकर लंबी चर्चा की है। सूत्रों का दावा है कि हाईकमान अंकिता हत्याकांड को लेकर सबसे ज्यादा संवेदनशील नजर आ रही है। ऐसे में आने वाले दिनों में इस प्रकरण को लेकर प्रदेश की सियासत में होने वाले फेरबदल पर भी इसका असर दिखाई दे सकता है।

two days meetings Delhi CM pushkar Dhami returned to Dehradun most discussed topic Maharashtra Sadan

दो दिनों में धामी मंत्रिमंडल को लेेकर सियासी माहौल गरमाया
देहरादून से लेकर दिल्ली तक बीते दो दिनों में धामी मंत्रिमंडल को लेेकर सियासी माहौल गरमाया रहा है। जिसका केन्द्र इस बार महाराष्ट्र सदन रहा है। चर्चा है कि महाराष्ट्र के गर्वनर भगत सिंह कोश्यारी के दिल्ली पहुंचने के बाद प्रदेश के सियासी घटनाक्रम पर मंत्रणा की गई है। जिसमें सीएम धामी, महेंद्र भट्ट और धन सिंह रावत शामिल हुए। ऐसे में आने वाले दिनों में सदन में हुई मंत्रणा का निष्कर्ष बड़े फैसलों के रूप में देखा जा सकता है। इस दौरान मंत्रीमंडल में फेरबदल, विस्तार, विधानसभा बैकडोर भर्ती रिपोर्ट पर की गई कार्रवाई और अंकिता हत्याकांड को लेकर मंत्रणा हुई है। दावा किया जा रहा है कि जिस तरह का माहौल प्रदेशभर में इस समय अंकिता हत्याकांड को लेकर है, उससे मंत्रिमंडल का विस्तार या फेरबदल कुछ समय के लिए टाला जा सकता है। हालांकि क्या और कब होगा इसकी रणनीति लगभग तय मानी जा रहा है।

अंकिता हत्याकांड को लेकर विपक्ष एकजुट, विपक्ष का सामना करने को रणनीति तैयार
जिस तरह प्रदेश भर में अंकिता हत्याकांड को लेकर विपक्ष एकजुट होकर भाजपा पर प्रहार कर रही है। उसको देखते हुए भाजपा इस मुद्दे पर किस तरह विपक्ष का सामना करे इस पर रणनीति तैयार की गई है। अंकिता के मुद्दे पर पूरे प्रदेश में इस समय लोगों की भावनाएं जुड़ी हुई है। ऐसे में हर दल इस मुद्दे को सियासी दांव पेंच के रूप में भी देख रहे हैं। इस बीच ये भी माना जा रहा है कि जो 25 लाख की राहत राशि सीएम ने अंकिता के परिजनों को देने की घोषणा की, उसे देने सीएम धामी खुद भी पीड़िता के घर जाने के कयास लगाए जा रहे हैं।

प्रदेश भर में अंकिता को भाजपा शुक्रवार को श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित

दिल्ली में मंत्रणा के बाद प्रदेश भर में अंकिता को भाजपा शुक्रवार को श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित करेगी। प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान के अनुसार प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के आहवान पर राज्य के 252 मंडलों मे श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। इसके अलावा शहरी क्षेत्रों मे कैंडिल मार्च निकाला जाएगा। उन्होंने हरिद्वार निकाय चुनाव मे विजयी प्रत्याशियों से किसी भी तरह का जश्न न मनाने की अपील की। भट्ट ने कहा की राज्य की बेटी अंकिता हत्याकांड से राज्य मे शोक की लहर है और ऐसी स्थिति मे इस तरह के कार्यक्रमों से बचा जाय। भट्ट ने कहा कि अंकिता मामले मे सरकार पूरी नजर बनाये हुए है और जांच एजेंसी तत्परता से जुटी हुई है। अंकिता के हत्यारों को कड़ी सजा दिलाने की हर संभव कोशिश की जाएगी। उन्होंने कहा कि मामले के फास्ट ट्रेक कोर्ट मे चलाने को सीएम ने कोर्ट से अनुरोध किया है। सरकार पूरी तरह से अंकिता के परिवार के साथ दुःख की घड़ी मे खड़ी है।

ये भी पढ़ें-देश के पहले CDS बिपिन रावत की तरह ही सीडीएस अनिल चौहान का भी उत्तराखंड से है खास कनेक्शन, पहाड़ से है खास लगावये भी पढ़ें-देश के पहले CDS बिपिन रावत की तरह ही सीडीएस अनिल चौहान का भी उत्तराखंड से है खास कनेक्शन, पहाड़ से है खास लगाव

Comments
English summary
After two days of meetings in Delhi, CM Dhami returned to Doon, the most discussed topic in Maharashtra Sadan
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X