• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

उत्तराखंड के नॉन गवर्नमेंट कॉलेजों के साथ तीरथ सिंह रावत ने खत्म किया विवाद, मदद का दिया भरोसा

|

देहरादून। राज्य सरकार और नॉन गवर्नमेंट कॉलेजों के बीच चल रहा विवाद अब खत्म होता दिख रहा है। दरअसल, सरकार ने श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय से संबद्धता लेने पर कालेजों को तेजी से मदद दी जाएगी। साथ में कालेजों के हितों को संरक्षित करने के लिए श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय की परिनियमावली में संशोधन करने का भरोसा दिया गया है। आपको बता दें कि हेमवतीनंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय से संबद्धता छोड़ने में आनाकानी कर रहे अनुदानप्राप्त अशासकीय डिग्री कालेजों के प्रति पिछली त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार ने सख्त रुख अपनाया था, लेकिन मौजूदा मुख्यमंत्री ने कालेजों के साथ संवाद कर उन्हें मदद देने के प्रति आश्वस्त किया है।

Tirath singh rawat

नए वित्तीय वर्ष से राज्य विश्वविद्यालय से संबद्धता नहीं लेने की स्थिति में उक्त कालेजों को वेतन नहीं मिलेगा। ऐसे 16 कालेज हैं, जिन्होंने केंद्रीय विश्वविद्यालय की संबद्धता न छोड़कर राज्य विश्वविद्यालय से संबद्धता नहीं ली है। उच्च शिक्षा प्रमुख सचिव आनंद बर्द्धन की अध्यक्षता में गुरुवार को सचिवालय के वीर चंद्र सिंह गढ़वाली सभागार में सहायताप्राप्त अशासकीय कालेजों के प्रबंधतंत्र व प्राचार्यों और शासन व निदेशालय के अधिकारियों की बैठक हुई।

प्रमुख सचिव ने कहा कि सरकार उन्हीं कालेजों की मदद कर सकती है जो राज्य विश्वविद्यालय से संबद्धता लेंगे। अन्यथा कालेजों को वेतन नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि केंद्रीय विश्वविद्यालय से संबद्धता के चलते कालेज राज्य सरकार से सहायता पाने के हकदार नहीं रह गए हैं। उन्होंने आश्वस्त किया कि राज्य विश्वविद्यालय से संबद्धता लेने वाले कालेजों की हर संभव मदद की जाएगी।

ये भी पढ़ें: उत्तराखंड: मुख्यमंत्री ने सुनी जन समस्याएं, अधिकारियों को एक महीने में समाधान करने के दिए निर्देश

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Tirath Singh Rawat ends dispute with non-government colleges in Uttarakhand
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X