राहुल के करीबी जितिन प्रसाद की भाभी हुईं अब बीजेपी वाली, भाई पहले ही कर चुके हैं किनारा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
    Rahul Gandhi के करीबी जितिन प्रसाद की भाभी ने थामा BJP का हाथ। वनइंडिया हिंदी

    शाहजहांपुर। प्रदेश के नगर निकाय चुनाव में बीजेपी ने टिकट बंटवारे पर इस बार भी बाहरी लोगों पर भरोसा जताते हुए यूपी के शाहजहांपुर में राहुल गांधी के करीबी रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद की भाभी को टिकट देकर उन पर भरोसा जताया है। हालांकि यहां से टिकट को लेकर जब जितिन प्रसाद की भाभी का नाम आगे आया तो पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं में बगावत भी देखने को मिली। जब जितिन प्रसाद के भाई और भाभी ने बीजेपी का दामन थामा तो टिकट भी उन्हीं को मिल गया। अब देखना होगा कि बाहरी व्यक्ति पर दांव खेलकर नगरपालिका सीट पर सपा के कब्जे को बीजेपी अपने कब्जे में ले पाती है या नहीं।

    Shahjahanpur: Rahul Gandhis close Jitin Prasad's sister-in-law is now in BJP

    दरअसल राहुल गांधी के बेहद करीबी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद के चचेरे भाई कुंवर जयेश प्रसाद और उनकी पत्नी नीलिमा प्रसाद ने दो दिन पहले ही बीजेपी का दामन थामा है लेकिन टिकट मिलने की चर्चाएं पहले से होने लगी थी। इस दौरान बीजेपी के पुराने कार्यकर्ता और प्रदेश स्तर पर पहचान रखने वाले जेपीएस राठौर के भाई डीपीएस राठौर ने अपनी पत्नी सोनिया राठौर की टिकट की दावेदारी की थी।

    Shahjahanpur: Rahul Gandhis close Jitin Prasad's sister-in-law is now in BJP

    खास बात ये थी कि जेपीएस राठौर और डीपीएस राठौर नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना के बेहद करीबी हैं। जिससे लोग ये समझ नहीं पा रहे थे कि आखिर बीजेपी इस बार किसे उम्मीदवार बनाएगी। क्योंकि एक प्रसाद भवन की साख दांव पर लगी थी तो दूसरी तरफ पुराने कार्यकर्ता बगावत पर ना उतर आए लेकिन जब दो दिन पहले जितिन प्रसाद के भाई जयेश प्रसाद और उनकी पत्नी ने जब बीजेपी का दामन थामा तो उससे इतना तो साफ हो गया था कि कहीं ना कहीं प्रसाद भवन ने ही टिकट पर हाथ मार लिया है।

    चर्चाओं का दौर तब खत्म हुआ जब बीजेपी ने लिस्ट जारी कि जिसमे जितिन प्रसाद के चचेरे भाई जयेश प्रसाद की पत्नी नीलिमा प्रसाद का नाम था लेकिन अब देखना होगा कि क्या पार्टी में बगावत के सुर देखने को मिलेगे और अगर बगावत होती है तो उससे बीजेपी सरकार और नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना कैसे निपटेंगे। आपको बता दें कि शाहजहांपुर की नगर पालिका चेयरमैन पिछले तीन बार से सपा से तनवीर खान है। तनवीर खान अखिलेश यादव के बेहद करीबी है। लेकिन अब जब बीजेपी ने बाहरी व्यक्ती पर भरोसा जताते हुए और अपनों की अनदेखी करते हुए नीलामा प्रसाद को टिकट दे दिया। अब देखना होगा ऐसे इस सीट पर बीजेपी का खेला गया दांव कामयाब होगा या नहीं।

    Read more: PICs: वाराणसी में कांग्रेस ने मेयर पद पर उतारी फैशन डिजाइनिंग वाली अपनी खास प्रत्याशी

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Shahjahanpur: Rahul Gandhis close Jitin Prasad's sister-in-law is now in BJP

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.