अखिलेश नहीं लड़ेंगे 2017 का चुनाव, राहुल गांधी को बताया अच्छा लड़का

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। सपा सरकार अपने कार्यकाल के आखिरी वर्ष में हैं और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक बार फिर से सरकार में आने का दावा कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया है कि समाजवादी लोग दोबारा सरकार बनाने जा रहे हैं।

कैबिनेट का फैसला- स्कूली बच्चों को मुफ्त बैग, इलाहाबाद को मेट्रो का तोहफा

Akhilesh says he will not contest 2017 election in Uttar Pradesh

मैं और राहुल अच्छे लड़के

जब अखिलेश यादव से कहा गया कि राहुल गांधी ने आपको अच्छा लड़का बताया है तो उन्होंने कहा कि हम दोनों अच्छे लड़के हैं। हालांकि पीएम बनने की महत्वाकांक्षा पर अखिलेश ने कहा कि मैं जहां हूं वहां खुश हूं लेकिन मैं चाहता हूं कि नेताजी को प्रधानमंत्री बनना चाहिए। मैंने कांग्रेस को यह निमंत्रण दिया था कि अगर नेता जी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार हों तो हम गठबंधन के लिए तैयार हैं।

नहीं लड़ुंगा 2017 का चुनाव

अखिलेश यादव ने साफ किया कि वह 2017 में चुनाव नहीं लड़ेगे। उन्होंने कहा कि मैं एमएलसी हूं और मेरी टीम का कार्यकाल 2018 में खत्म होता है। ऐसे में अगर मैं चुनाव नहीं लड़ता हूं तो मुझे अधिक से अधिक सफर करने का मौका मिलेगा। मुझे लगता है कि मैं पार्टी के लिए अधिक सीटें जीत सकता हूं अगर मैं यात्रा व प्रचार करता हूं। अखिलेश यादव ने कहा कि लोग यह जानना चाहते हैं कि हम उन्हें क्या दे सकते हैं, हमने लोगों के भीतर लोकतांत्रिक मुल्यों को लेकर आत्मविश्वास पैदा किया है और भरोसा जगाया है कि हम अपने वादे पूरे कर सकते हैं।

शिवपाल बोले अखिलेश से कोई विवाद नहीं, वह अच्छा काम कर रहे

बुलंदशहर जैसी घटना पर खेद है

कानून व्यवस्था पर अखिलेश ने कहा कि हमारे बारे में यह दुष्प्रचार किया जाता है, कुछ मामले ऐसे हैं जिन्हें रोका नहीं जा सका, बुलंदशहर में जो हुआ उसके लिए मुझे खेद है, यह घटना ऐसे हाईवे पर हुई जहां भीड़भाड़ रहती थी और किसी ने इसे नहीं देखा। लेकिन हमने इस गिरोह को पकड़ लिया है और उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। लेकिन लोग ऐसे मामले पर भी राजनीति करते हैं।

हम दोबारा सत्ता में आयेंगे

वहीं खुद पर पार्टी के भीतर मतभेद के आरोप पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि लोग कहते थे कि हमारे यहां साढे चार मुख्यमंत्री हैं, लेकिन ये वही लोग हैं जिनके पास यूपी में सीएम का चेहरा नहीं है। मेरा मानना है कि सभी लोगों को चुनाव पूरी ताकत से लड़ना चाहिए, लेकिन मुझे पूरा भरोसा है कि हम दोबारा सरकार बनायेंगे, लोग हमारे अच्छे कामों को देखते हुए फिर से सत्ता में लायेंगे।

कोई गठबंधन नहीं होगा

गठबंधन की किसी भी संभावना से अखिलेश यादव ने इनकार किया है, उन्होंने कहा कि हमने काफी काम किया है, जमीन पर हमारे पास लोगों को काम दिखाने के लिए हैं। ऐसे में चुनाव से पहले या चुनाव के बाद गठबंधन का कोई सवाल नहीं उठता है।

नेताजी मुख्यमंत्री को सचेत नहीं करेंगे तो किसे करेंगे

जब अखिलेश यादव से पूछा गया कि आप पिता से खाने की टेबल पर क्या बात करते हैं, तो उन्होंने कहा कि मैं अपने बच्चों को आगे कर देता हूं और उनसे कहता हूं कि आप पहले खा लीजिए, मैं बाद में खाउंगा। वहीं मुलायम सिंह की फटकार पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री से नहीं कहेंगे तो किससे कहेंगे।

भाजपा कर सकती है ध्रुवीकरण

अखिलेश यादव ने यूपी में ध्रुवीकरण के बारे में कहा कि मुमकिन है बीजेपी यह करे, क्योंकि उनके पास जमीन पर दिखाने के लिए कुछ नहीं है। पहले उन्होंने यह शामली में करने की कोशिश की, फिर उन्होंने धर्म परिवर्तन और अब गो रक्षा का मुद्दा उठाया है। खुद प्रधानमंत्री को इसके खिलाफ आगे आना पड़ा, लेकिन मुझे लगता है कि पीएम को पहले ही इसपर चुप्पी तोड़नी चाहिए थी।

भाजपा हार चुकी है जमीनी लड़ाई

मुझे लगता है कि मौजूदा समय में बसपा तीसरे नंबर पर है। लेकिन भाजपा और बसपा दोनों ही दूसरे नंबर की लड़ाई लड़ेंगी। लेकिन जिस तरह से स्वामी प्रसाद मौर्या को भाजपा में शामिल किया गया है उसने साफ कर दिया है कि पार्टी जमीन की लड़ाई हार चुकी है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Akhilesh says he will not contest 2017 election in Uttar Pradesh. He says he can win more seats for the party if he travel and campaign.
Please Wait while comments are loading...