• search
जम्मू-कश्मीर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जम्मू हवाई अड्डे में धमाके: आंतरिक रिपोर्ट में दावा- आतंकियों के निशाने पर थे हैंगर में खड़े हेलीकॉप्टर

|
Google Oneindia News

जम्मू, जून 27: जम्मू एयरबेस पर हुए आतंकी हमले के बाद पठानकोट में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। उच्च सुरक्षा वाले एयरपोर्ट परिसर में स्थित वायुसेना स्टेशन में रविवार तड़के विस्फोटक से लदे दो ड्रोन गिरे जिससे धमाका हुआ था। प्रारंभिक मूल्यांकन रिपोर्ट में कहा गया है कि, ड्रोन का उपयोग करके हवाई हमला हेलीकॉप्टरों को निशाना बनाने के लिए किया गया था। 26-27 जून की दरम्यानी रात पांच मिनट के अंतराल पर हुए दो धमाकों ने जम्मू वायुसेना स्टेशन के उच्च सुरक्षा तकनीकी क्षेत्र को हिला कर रख दिया था।

Initial probe hints aerial attack using drones was part of the plot to target helicopters
    Jammu Air Force Station पर Drone Attack के बाद DGP Dilbagh Singh ने क्या कहा? | वनइंडिया हिंदी

    विस्फोट हैंगर के पास टेक्नीकल एरिया में हुए थे, जिससे पता चलता है कि आतंकियों की योजना हेलीकॉप्टरों को निशाना बनाना थी। ये विस्फोट 1.40 और 1.46 बजे हेलीकॉप्टर डिस्पर्सल क्षेत्र के पास हुए थे। पहला विस्फोट हवाई प्रतिष्ठान के तकनीकी क्षेत्र में एक इमारत की छत पर हुआ जिससे छत ढह गई। इस स्थान की देखरेख का जिम्मा वायुसेना उठाती है और दूसरा विस्फोट छह मिनट बाद इमारत के पीछे हिस्से में जमीन पर हुआ। विस्फोट में वायुसेना के दो कर्मी घायल हो गए।

    मूल्यांकन रिपोर्ट में कहा गया है कि, एक मंजिला इमारत की छत में होल हो गया है। इससे यह निष्कर्ष निकाला गया कि विस्फोट एक हवाई / ड्रोन हमले के कारण हुआ और संभावित लक्ष्य डिस्पर्सल पार्किंग में खड़ा एक हेलीकॉप्टर था। वायु सेना ने कहा कि इस हमले के हेलीकॉप्टर के किसी भी उपकरण को कोई नुकसान नहीं हुआ है। जम्मू में ये अपनी तरह का संभवता पहला हमला है। जिसके चलते हाई सिक्योरिटी वाले क्षेत्र में इस तरह की घटन घटी है।

    J&K एयरफोर्स स्टेशन: अज्ञात हमलावरों के खिलाफ FIR दर्ज, IAF चीफ ने दिया ये निर्देशJ&K एयरफोर्स स्टेशन: अज्ञात हमलावरों के खिलाफ FIR दर्ज, IAF चीफ ने दिया ये निर्देश

    बताया जा रहा है कि इस साजिश को अंजाम देने के लिए पी-16 ड्रोन का इस्तेमाल किया गया है। ये ड्रोन काफी नीचे उड़ सकता है। इसकी वजह से कई बार यह रडार की नजर से भी बच जाता है। पठानकोट में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों के आसपास कड़ी निगरानी की जा रही है। पांच साल पहले पठानकोट वायु सेना बेस पर आतंकी हमला हुआ था। पुलिस ने बताया कि पठानकोट और आसपास के क्षेत्रों में गश्त बढ़ा दी गयी है और अतिरिक्त बल तैनात किए गए हैं। अंतर राज्यीय सीमा से आवाजाही पर सघन जांच कर रहे है। हमने वहां भी अतिरिक्त बल तैनात किए हैं।

    English summary
    Initial probe hints aerial attack using drones was part of the plot to target helicopters
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X