• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

भारत पाक युद्ध में इस मंदिर पर दागे गए थे गोले अब बनेगा पर्यटन का हब, अमित शाह ने किया शिलान्यास

Google Oneindia News

जयपुर, 10 सितंबर। राजस्थान के जैसलमेर जिले में जिस तनोट माता मंदिर पर 1965 में पाकिस्तान ने गोले दागे थे। उसे अब टूरिस्ट हब के तौर पर विकसित किया जाएगा। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शनिवार को भारत पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा क्षेत्र के पास स्थित तनोट माता मंदिर सीमा विकास परियोजना का शिलान्यास किया। भारत सरकार इस परियोजना के लिए 17.67 करोड रुपए की राशि स्वीकृत की है। इस परियोजना के बाद राजस्थान में बॉर्डर टूरिज्म की संभावनाएं बढ़ जाएगी।

amit shah jaisalmer

 Rajasthan: कब से शुरू हो रहा है 'Invest Rajasthan Quiz'? क्या होगा इसका फायदा? Rajasthan: कब से शुरू हो रहा है 'Invest Rajasthan Quiz'? क्या होगा इसका फायदा?

केंद्र सरकार की परियोजना

केंद्र सरकार की परियोजना

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दो दिवसीय दौरे पर राजस्थान में है। उन्होंने शनिवार को सुबह भारत-पाकिस्तान सीमा से सटे तनोट माता मंदिर के दर्शन किए। इस दौरान शाह ने तनोट मंदिर सीमा विकास परियोजना का भूमि पूजन और शिलान्यास भी किया। तनोट मंदिर कॉम्प्लेक्स परियोजना सीमा पर्यटन विकास कार्यक्रम के तहत केंद्र सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा शुरू की गई है। इसके तहत मंदिर परिसर में एक प्रतीक्षालय, रंगभूमि, इंटरप्रेशन केंद्र, बच्चों के लिए कक्ष और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अन्य जरूरी सुविधाओं का विकास किया जाएगा।

बॉर्डर पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

बॉर्डर पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

पर्यटन मंत्रालय की इस परियोजना से भारत पाकिस्तान से सटे जैसलमेर के सीमावर्ती क्षेत्रों का विकास होगा। वही सीमा क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे भारत-पाक युद्ध के बाद तनोट माता मंदिर की पूजा अर्चना का कार्य बीएसएफ संभाल रहा है। इस मंदिर को एक ट्रस्ट के जरिए संचालित किया जा रहा है। यहां रोजाना सुबह-शाम माता की आरती एवं भजन संध्या का आयोजन होता है। देश विदेश से श्रद्धालु यहां दर्शन के लिए आते हैं।

युद्ध में मंदिर पर दागे गए गोले

युद्ध में मंदिर पर दागे गए गोले

जैसलमेर स्थित भारत पाक बॉर्डर पर जाने वाला प्रत्येक पर्यटक तनोट माता के दर्शन जरूर करता है। भारत-पाकिस्तान के बीच 1971 में हुए युद्ध के दौरान बीएसएफ के जवानों ने बहादुरी से लोंगेवाला पोस्ट पर अपनी भूमिका निभाई थी। अमित शाह ने पिछले साल तनोट का दौरा कर यहां पर पर्यटन की संभावनाओं का जायजा लिया था। अब इसे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है। 1965 के युद्ध के दौरान पाकिस्तान द्वारा इस मंदिर पर बम के गोले दागे गए थे। लेकिन मंदिर को जरा भी नुकसान नहीं पहुंचा था। इसलिए इस मंदिर की अपनी महिमा है।

Comments
English summary
temple on which shells were fired in Indo-Pak war will now become hub of tourism, Amit Shah laid foundation stone
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X