• search
जबलपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Jabalpur News: भारत-पाक विभाजन रद्द हो या फिर मुसलमान वहीं चले जाए, बोले शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद

Google Oneindia News

शंकराचार्य नियुक्त होने के बाद से स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद लगातार हिंदुत्व और उससे जुड़े मसलों पर लगातार बड़े बयान दे रहे है। एक बार फिर उन्होंने जबलपुर में मुसलमानों को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने भारत पाकिस्तान विभाजन की वजहों का हवाला देते हुए कहा है कि देश के मुसलमानों को पाकिस्तान चले जाना चाहिए। बोले कि जो देश हमसे टूटकर बना है, वहीं आज हमारा दुश्मन बना हुआ है। मुसलमानों ने धर्म के आधार पर पाकिस्तान लिया था।

shankracharya

शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने मप्र के जबलपुर में विवादित बयान दिया है। जिसकी खूब चर्चा हो रही है। उन्होंने मुसलमानों को लेकर यह बयान दिया। बोले कि भारत पाकिस्तान का जब विभाजन हुआ था, मुसलमानों ने धर्म के आधार पर पाकिस्तान अपनाया था। या तो यह विभाजन निरस्त होना चाहिए या फिर विभाजन स्वीकार किए रहना है तो देश में रह रहे मुसलमानों को पकिस्तान चले जाना चाहिए। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ब्रह्मलीन जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाराज के उत्तराधिकारी के रूप में शंकराचार्य नियुक्त हुए है। उन्होंने कहा कि अखंड भारत के विभाजन के वक्त हिंदुओं के कई धार्मिक स्थान पाकिस्तान और बांग्लादेश में रह गए। पीओके में धार्मिक स्थल है, वहां भी अन्य मंदिरों की पूजा-अर्चना होना चाहिए।

ये भी पढ़े-स्वामीजी का सेंसर'! बॉलीवुड फिल्मों में नहीं चलेगा हिंदुओं का अपमान, शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद की दो टूकये भी पढ़े-स्वामीजी का सेंसर'! बॉलीवुड फिल्मों में नहीं चलेगा हिंदुओं का अपमान, शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद की दो टूक

भारत-पकिस्तान के बीच अक्सर उत्पन्न होने वाले तनाव पर भी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि पहले की गई गलतियों की सजा आज हिन्दुस्तान भुगत रहा है। जो हमारे का देश का हिस्सा टूटकर स्थापित पकिस्तान आज हमें ही आंखे दिखाता है और हम हाथ पर हाथ रखे बैठे रहते है। उन्होंने क्रिकेट मैच का भी उदहारण दिया कि किस तरह दोनों देश में रहने वाले लोगों में एक दूसरे के प्रति कट्टरपन पनप रहा है। क्रिकेट मैच में ही जब भारत जीतता है तो पाकिस्तानियों की तरह-तररह की प्रतिक्रियाएं होती है, उसी तरह जब पकिस्तान जीतता है, भारत के लोग परेशान हो जाते है। ऐसी बिगड़ती परिस्थितियों में अविमुक्तेश्वरानंद ने मांग की है कि भारत-पाक का विभाजन निरस्त होना चाहिए।

Comments
English summary
india pakistan partition Muslims Shankaracharya swami Avimukteshwaranand jabalpur
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X