• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

देखते ही जमीन में समा गया अफगानिस्‍तान का एक गांव

|

Afghanistan
काबुल। अफगानिस्‍तान के उत्तर-पूर्व में बदख्‍शां इलाके में भूस्खलन से दो हजार से ज्‍यादा लोगों के मारे जाने की आशंका है। यहां के स्‍थानीय अधिकारियों के मुताबिक मरने वालों की तादाद दो हजार तक हो सकती है। संयुक्त राष्ट्र संघ के अधिकारियों के मुताबिक अब तक साढ़े तीन सौ से ज्‍यादा शव निकाले जा चुके हैं।

बदख्‍शां प्रांत के गवर्नर के अनुसार यह हादसा तब हुआ जब मूसलाधार बारिश से पहाड़ का एक हिस्सा एक गांव पर गिर गया। इससे सैकड़ों घर मिट्टी और चट्टानों के नीचे दब गए हैं। बचाव दल के लोग मौके पर पहुंच गए हैं और बचे हुए लोगों की तलाश कर रहे हैं।

बदख्‍शा उत्तर-पूर्वी अफगानिस्‍तान का दूरस्थ देहाती और पहाड़ी इलाका है। यहां हर साल भूस्खलन और हिमस्खलन से स्थानीय लोग प्रभावित होते हैं। लेकिन भूस्खलन की इस घटना ने सबको हैरान कर दिया है।

इस भूस्‍खलन की वजह से पांच सौ से ज्‍याद घर मिट्टी में दब गए हैं। गांववाले रात भर कुछ लोगों को जिंदा बचा लेने की उम्मीद में मिट्टी खोदते रहे। इस समय इलाके में मौजूद सभी के प्रयास प्रभावित लोगों के लिए भोजन, दवाइयों और टेंटों की व्यवस्था करने पर केंद्रित हैं। पिछले कुछ दिनों से उत्तरी और पूर्वी अफगानिस्‍तान में भारी बारिश हो रही है।

पिछले हफ्ते ही बाढ़ से करीब 150 लोगों की मौत हो गई थी। यह हादसा इतना बड़ा और भयानका है कि इससे करीब एक हजार घर प्रभावित हुए हैं। तीन सौ तो घर तो उसी समय दब गए जब पहाड़ का हिस्सा नीचे की ओर आया।

यहां स्थित 215 परिवारों वाला हरगू गांव मिट्टी और पत्थरों से पूरी तरह ढंक चुका है। बदख्‍शां अफगानिस्तान का सबसे दूरस्थ पहाड़ी इलाका है जो तजाकिस्तान, चीन और पाकिस्तान की सीमा से लगता है।

English summary
Thousands fear dead in a landslide in Afghanistan.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X