• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इसराइल और ईरान की लड़ाई: तीन बड़े सवाल

By Bbc Hindi
इसराइल, ईरान, सीरिया
AFP
इसराइल, ईरान, सीरिया

सीरिया में ईरानी ठिकानों पर इसराइल की बमबारी के बाद ये आशंकाएं बढ़ गई हैं कि दो पुराने दुश्मनों के बीच हालात कभी भी बिगड़ सकते हैं.

इसराइल और ईरान के बीच जो हो रहा है, उसका अपना एक इतिहास है.

ये हालात क्यों और कैसे बने, बीबीसी ने अपने पाठकों को तीन सवालों के ज़रिये यह समझाने की कोशिश की है.



क्या इसराइल और ईरान दुश्मन देश हैं?

साल 1979 में ईरान की क्रांति ने कट्टरपंथियों को सत्ता में आने का मौका दिया और तभी से ईरानी नेता इसराइल को मिटाने की बात करते रहे हैं.

ईरान, इसराइल के अस्तित्व को स्वीकार नहीं करता है और उसका कहना है कि इसराइल ने मुसलमानों की ज़मीन पर अवैध कब्ज़ा कर रखा है.

दूसरी तरफ़, इसराइल भी ईरान को एक ख़तरे के तौर पर देखता है. उसने हमेशा ही ये कहा है कि ईरान के पास परमाणु हथियार नहीं होने चाहिए.

मध्य-पूर्व में ईरान के बढ़ते असर से भी इसराइल के नेताओं की चिंताएं बढ़ जाती हैं.



इसराइल, ईरान, सीरिया
AFP
इसराइल, ईरान, सीरिया

इसराइल-ईरान विवाद से सीरिया का क्या लेना-देना?

साल 2011 से ही सीरिया में जंग की स्थिति बनी हुई है और इसराइल बेचैनी से इसे देखता रहा है.

सीरिया में बशर अल असद की सरकार और उनका विरोध कर रहे विद्रोही लड़ाकों के बीच चल रहे संघर्ष से इसराइल ने दूरी बनाए रखी.

लेकिन, सीरिया में ईरान बशर अल असद की हुकूमत का समर्थन करता है. वो विद्रोहियों से सरकार की लड़ाई में बशर अल-असद का मदद कर रहा है.

ईरान ने वहां अपने हज़ारों लड़ाके और सैनिक सलाहकार भेजे हैं.

इसराइल को इस बात की भी चिंता है कि ईरान गुप-चुप तरीके से लेबनान में विद्रोहियों को हथियार दे रहा है.

लेबनान इसराइल का पड़ोसी देश है जिससे वो ख़तरा महसूस करता है.

इसराइल ने बार-बार ये कहा है कि वो सीरिया में ईरान को सैनिक अड्डे बनाने नहीं देगा जिनका इस्तेमाल उसके ख़िलाफ़ किया जा सकता है.

इसलिए सीरिया में जैसे-जैसे ईरान की मौजूदगी बढ़ रही है, वैसे-वैसे ईरानी ठिकानों पर इसराइल के हमले भी तेज़ होते जा रहे हैं.

इसराइल, ईरान, सीरिया
AFP
इसराइल, ईरान, सीरिया

क्या ईरान और इसराइल के बीच कभी जंग हुई है?

नहीं. लेकिन ईरान उन गुटों का लंबे समय से समर्थन करता रहा है जो इसराइल को निशाना बनाते हैं. जैसे हिज्बुल्ला और फलस्तीनी चरमपंथी संगठन हमास.

अगर कभी दोनों मुल्कों के बीच लड़ाई हुई तो दोनों ही पक्षों के लिए ये बड़े पैमाने पर बर्बादी की वजह बनेगी.

ईरान के पास लंबी दूरी तक मार करने में सक्षम मिसाइलों का बड़ा जखीरा है और इसराइल की सरहदों पर भारी असलहों से लैस उसके सहयोगी.

इसराइल के पास भी एक ताक़तवर सेना है और माना जाता है कि उसके पास परमाणु हथियार भी हैं. इसराइल को संयुक्त राष्ट्र का भी जबर्दस्त समर्थन हासिल है.

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अधिक सीरिया समाचारView All

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Israel and Irans Battle Three Big Questions

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X