• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

अवैध शिकार की तुलना में हाथियों के लिए 20 गुना अधिक घातक है जलवायु परिवर्तन, आंकड़े देख दंग रह जाएंगे

Google Oneindia News

नेरोबी, 28 जुलाईः केन्या की सरकार ने कहा कि अवैध शिकार की तुलना में जलवायु परिवर्तन हाथियों की आबादी कम करने में अधिक जिम्मेदार है। पृथ्वी के तापमान के बढ़ने और जंगलों के कम होने के कारण जानवरों के विलुप्त होने का खतरा बेहद बढ़ गया है। केन्या में दुनिया के सबसे बड़े पार्कों में से एक त्सावो नेशनल पार्क में पिछले 8 महीनों में अकेले 179 हाथियों की मौत दर्ज की गई है।

elephant

8 महीने में 179 हाथियों की मौत

केन्या के पर्यटन मंत्री नजीब बलाला ने स्थानीय मीडिया को बताया,"पिछले आठ महीनों में हमने 9 हाथियों के अवैध शिकार की घटनासामने आयी वहीं, इस दौरान सूखे के कारण 179 हाथियों की मौत हो गई है। यह एक बड़ी संख्या है। उन्होंने कहा कि अब वक्त आ गया है कि जलवायु परिवर्तन पर चर्चा की जाए।" नजीब बल्लाला ने आगे कहा कि उनकी सरकार ने जलवायु परिवर्तन के प्रभाव पर ध्यान दिया और खतरों को दूर करने के लिए राष्ट्रीय वन्यजीव जलवायु परिवर्तन अनुकूलन रणनीति 2022-203 विकसित किया है। क्षेत्र में बदलते मौसम के मिजाज और जंगलों के विनाश के कारण हाथियों के प्राकृतिक आवास में बदलाव आ रहा है। केन्या जैसे अफ्रीकी देश में, जलवायु परिवर्तन के कारण लंबे समय तक गर्म मौसम से अधिकांश जल निकायों में पानी खत्म हो जाता है।

गंभीर सूखे का सामना कर रहा देश

पिछले एक दशक में, केन्या ने पिछले 40 वर्षों में सबसे गंभीर सूखे की स्थिति का अनुभव किया है। हाल के आंकड़ों के अनुसार, केन्या में हाथियों की आबादी 36,000 है जो 1989 से काफी अधिक है। 33 वर्ष पहले की गणना में हाथियों की संख्या 16,000 थी। केन्याई मंत्री ने यह भी कहा कि इस तरह के संरक्षण कार्यक्रमों के लिए वित्तीय धन की भी आवश्यकता है। दानदाताओं पर निर्भर रहने के बजाय, अफ्रीकी देशों को वित्तीय स्थिरता के लिए प्रयास करने की आवश्यकता है।

<strong>मिलिट्री बेस में घुसा 'फेंकू' चोर, बोला- मेरे पास एलियंस की जानकारी, बाइडेन ने एक मिशन पर यहां भेजा है</strong>मिलिट्री बेस में घुसा 'फेंकू' चोर, बोला- मेरे पास एलियंस की जानकारी, बाइडेन ने एक मिशन पर यहां भेजा है

इसके अलावा, जलवायु परिवर्तन के अलावा, जमीन के बंटवारे को लेकर मानव-पशु संघर्ष चल रहा है जो हाथियों के संरक्षण के लिए एक बड़ी चुनौती बन रहा है। यह पहली बार नहीं है जब किसी अफ्रीकी देश में हाथियों की भूख से मौत हुई है। 2019 में, जिम्बाब्वे में सूखे के कारण तीव्र भुखमरी के कारण 600 हाथियों को स्थानांतरित कर दिया गया था। यह तब किया जब भूख से 200 हाथियों की मौत हो गई थी। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन वास्तविक है और इसका विरोध करने वाले अपने दिमाग में एक वैकल्पिक वास्तविकता को गढ़ने की कोशिश कर रहे हैं।

Comments
English summary
Climate change has more dangerous for elephants than poachers
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X