• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना वायरस फैलने की जांच के लिए चीन ने इंटरनेशनल टीम को नहीं दी एंट्री, WHO नाराज

|

China hasn't granted entry to coronavirus experts said said WHO Chief Tedros Adhanom Ghebreyesus :विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस अधनोम गेब्रिएसस ने चीन पर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच के लिए चीन द्वारा इंटरनेशनल विशेषज्ञों की एक टीम को एंट्री नहीं देने पर निराशा और गुस्सा दोनों व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि ये बहुत ही निराशा की बात है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच करने के लिए चीन ने अभी भी अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम के प्रवेश को अधिकृत नहीं किया है, इससे केवल और परेशानी बढ़ेगी लेकिन ये बात चीन को समझ नहीं आ रही है।

    Coronavirus की जांच के लिए China आ रही WHO की टीम को नहीं मिली एंट्री | वनइडिया हिंदी

    जांच दल को अनुमति नहीं दे रहा चीन: WHO प्रमुख का बयान

    जहां गेब्रिएसस ने चीन को लेकर ये बात कही, वहीं दूसरी ओर उन्होंने कोरोना के खिलाफ जंगल लड़ रहे भारत की तारीफ की है। उन्होंने इस बारे में एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग भी किया है। जिसमें टेड्रोस ने लिखा है कि 'भारत ने लगातार कोविड-19 महामारी को समाप्त करने के लिए निर्णायक कदम उठाना जारी रखा है। दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन के निर्माता के तौर पर देश काम करने के लिए पूरी तरह तैयार है। अगर हम साथ मिलकर काम करते हैं, तो हम ये सुनिश्चित कर सकते हैं कि प्रभावी और सुरक्षित वैक्सीन का इस्तेमाल हर जगह कमजोर लोगों की सुरक्षा के लिए किया जा सके।'

    विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत की तारीफ की

    गौरतलब है कि इससे पहले भी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत की तारीफ की थी , जब भारत में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन लगाया गया था, तब भी ट्रेड्रोस अधानोम ने कहा था कि भारत ने वायरस के जानलेवा जोखिम को पहचानते हुए पहले से ही सही कदम उठाए हैं, जिससे संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी।

    अमेरिका पर भड़का चीन, कोरोना वायरस के लेकर कही बड़ी बात

    तो वहीं चीन ने सोमवार को अमेरिका के उस आरोप का जोरदार खंडन किया कि नोवेल कोरोना वायरस उसके यहां की एक प्रयोगशाला से लीक हुआ। उसने कहा कि ऐसी संभावना है कि इस महामारी का प्रसार दुनिया में अलग-अलग स्थानों पर फैलने की वजह से हुआ है, ऐसे में हमारे ऊपर दोषारोपण करने का क्या मतलब है। चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि चीन डब्ल्यूएचओ के साथ सहयोग को बड़ा महत्व देता है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि इस घातक वायरस की उत्पत्ति हमारे यहां हुई है। मालूम हो कि ऐसा कहा जा रहा है चीन के वुहान की लैब में दिसंबर 2019 में कोरोना वायरस पैदा हुआ था लेकिन चीन लगातार इस बात से इंकार करता आ रहा है।

    यह पढ़ें:Bharat Biotech का दावा- एक हफ्ते का वक्त दीजिए, साबित कर देंगे कि 'कोवैक्सीन' नए स्ट्रेन पर प्रभावकारी है

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    World Health Organization chief Tedros Adhanom Ghebreyesus has said he was 'very disappointed' that China has still not authorised the entry of a team of international experts to examine the origins of the coronavirus: Reuters
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X