India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

पृथ्वी से टकराकर तबाही मचाने वाला था एस्‍टेरॉयड, अचानक हुआ कुछ ऐसा कि सब कुछ बदल गया

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली: अंतरिक्ष रहस्यों से भरा हुआ है। सालभर पहले खगोलविदों को अंतरिक्ष में एक बड़ा एस्‍टेरॉयड दिखा था। आशंका जताई जा रही थी कि वो भविष्य में पृथ्वी से टकराएगा, जिससे काफी तबाही होगी, लेकिन अचानक से सब कुछ बदल गया। जिसको देखकर वैज्ञानिक भी हैरान हैं।

शुरू में था सामान्य

शुरू में था सामान्य

रिपोर्ट के मुताबिक 28 अगस्त 2021 को एरिजोना के उत्तर में स्थित माउंट लेमोन वेधशाला से एक एस्‍टेरॉयड को देखा गया। शुरू में इसमें कुछ भी असामान्य नहीं लगा। ऐसे एस्टेरॉयड आए दिन पृथ्वी के आसपास से गुजरते हैं, लेकिन कुछ दिनों बाद ये एस्टेरॉयड वैज्ञानिकों की प्राथमिकता बन गया। साथ ही हर टेलीस्कोप से इसकी निगरानी शुरू कर दी गई।

2052 में टकराने की थी आशंका

2052 में टकराने की थी आशंका

वैज्ञानिकों की गणना से ये बात कंफर्म हो गई थी कि 2021 QM1 साल 2052 में पृथ्वी से टकराएगा। ये एस्टेरॉयड सूर्य की ओर एक पथ पर था और खतरनाक रूप से हमारे ग्रह की ओर तेजी से बढ़ रहा था। यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी में ग्रह रक्षा (Planetary Defence) के प्रमुख रिचर्ड मोइस्ल ने कहा कि हम इसके भविष्य पथ को सूर्य के चारों ओर देख रहे थे। जितना इसके बारे में देखा गया, उतना ज्यादा जोखिम का अनुमान हुआ। इस एस्टेरॉयड की खोज के तुरंत बाद ये सूर्य के करीब से गुजरा।

सूर्य की चमक से ट्रैकिंग में दिक्कत

सूर्य की चमक से ट्रैकिंग में दिक्कत

सूर्य के पास जाते ही हालात बदल गए। सूर्य की चमक की वजह से इसे ट्रैक करना मुश्किल था। खगोलविदों को चिंता इस बात की थी कि ये अपनी वर्तमान कक्षा में पृथ्वी से दूर जा रहा था और जब तक यह सूर्य की चकाचौंध से बाहर निकलता, तब तक इसका पता लगाने की संभावना कम हो जाती।

पीछे थी आकाशगंगा

पीछे थी आकाशगंगा

ईएसओ (European Southern Observatory) के खगोलविद ओलिवियर हैनॉट के मुताबिक हमारे पास एक विंडो थी, जिससे हम एस्टेरॉयड को देख सकते थे। ये इतना आसान नहीं था, क्योंकि जिस क्षेत्र से वो गुजर रहा था, उसके पीछे एक आकाशगंगा थी। जिसमें हजारों छोटे फीके तारे और ग्रह थे।

जोखिम वाली लिस्ट से हटा

जोखिम वाली लिस्ट से हटा

बाद में ईएसओ के टेलीस्कोप ने इसकी विस्तार से जांच की। जिससे पता चला कि ये एस्टेरॉयड कमजोर सितारों की तुलना 250 मिलियन गुना ज्यादा कमजोर था। इससे 2052 में इसके पृथ्वी से टकराने की बात खारिज हो गई। जिस वजह से अब इसे जोखिम वाली लिस्ट से हटा दिया गया है। हालांकि इस घटना ने वैज्ञानिकों को काफी ज्यादा हैरान किया।

सूरज ने बुध पर जमकर बरपाया है अपना 'प्रकोप', पहली बार सामने आईं दुर्लभ तस्वीरेंसूरज ने बुध पर जमकर बरपाया है अपना 'प्रकोप', पहली बार सामने आईं दुर्लभ तस्वीरें

Comments
English summary
Asteroid was about to hit the earth in 2052, suddenly changed path
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X