• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

World TB Day 2021: क्या आप जानते हैं टीबी के इंफेक्शन से भारत में होती हैं सबसे ज्यादा मौतें

|
Google Oneindia News

विश्व ट्यूबरक्लोसिस डे/ वर्ल्ड टीबी डे: दुनियाभर में आज 24 मार्च को वर्ल्ड टीबी दिवस मनाया जा रहा है। टीबी को हिंदी में क्षय रोग बोला जाता है। टीबी का एक ऐसी संक्रमण यानी इंफेक्शन वाली बीमारी, जिससे आज पूरा विश्व प्रभावित हो रहा है। विश्व क्षय रोग दिवस मनाने के पीछे का उद्देश्य टीबी संक्रमण के बारे में सार्वजनिक जागरूकता फैलाना और इस वैश्विक महामारी को खत्म करने के प्रयासों को बढ़ावा देना है। सन 1882 में डॉ. रॉबर्ट कोच ने टीबी के जीवाणु की खोज की थी। डॉ कोच की खोज ने इस बीमारी के इलाज की दिशा में नए रास्ता खोल दिए। विश्व टीबी दिवस दुनिया भर में टीबी के प्रभाव के बारे में जनता को शिक्षित करने का दिन है। आज दुनियाभर में कैम्प लगाकर टीबी से बचने के उपाय और लक्षण की जानकारी दी जाती है। टीबी का इलाज आज विश्व के लगभग हर देशों में है। लेकिन फिर भी उस संक्रामक बीमारी से हर साल विकासशील देशों में लगभग 1.5 मिलियन लोगों की मौत हो जाती है।

World TB Day
    World Tuberculosis Day: India में कितना गंभीर है TB की बीमारी, जानिए हालात | वनइंडिया हिंदी

    दुनिया की सबसे घातक संक्रामक बीमारी है टीबी

    विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार टीबी दुनिया के सबसे घातक संक्रामक बीमारियों में से एक है, जिसकी वजह से सबसे ज्यादा मौतें होती हैं। हर दिन लगभग 4000 लोग टीबी से अपनी जान गंवाते हैं। तकरीबन हर दिन 28,000 के करीब लोग इस बीमारी का शिकार हो जाते हैं और इलाज कराने में लग जाते हैं। साल 2000 से टीबी से निपटने के वैश्विक प्रयासों से दुनियाभर में 63 मिलियन लोगों की जान बचाई गई है।

    टीबी के इंफेक्शन से भारत में होती हैं सबसे ज्यादा मौतें

    टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक टीबी का इंफेक्शन भारत में सबसे ज्यादा जानलेवा है। साल 2019 में टीबी के कारण 4.45 लाख से अधिक लोगों की मौत भारत में हुई थी। जो वैश्विक मृत्यु दर का 31 प्रतिशत है। पिछले साल 2020 में, यह अनुमान लगाया जाता है कि एक करोड़ से अधिक लोग विश्व स्तर पर टीबी से संक्रमित थे, जिनमें से 26 फीसदी या 26 लाख भारत में होने का अनुमान लगाया गया था।

    टाइम्स ऑफ इंडिया ने राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के पूर्व उप महानिदेशक डॉ. कुलदीप सिंह सचदेवा के हवाले से लिखा है कि सरकार टीबी से निपटने के लिए कई तरह के मेडिकल सुविधाओं पर काम कर रही है और 2025 तक इस बीमारी को खत्म करने की उम्मीद सरकार कर रही है। साल 2020 में टीबी मरीजों की संख्या भारत में कम थी। 2020 में भारत में 18,11,105 मरीज मिले थे।

    क्या है विश्व टीबी दिवस 2021 का थीम

    विश्व टीबी दिवस 2021 का थीम 'द क्लॉक द टिकिंग' है। जिसका मतलब है कि दुनियाभर के देश टीबी जैसी घातक बीमारी को खत्म करने के लिए कोई बड़ा और जल्दी कदम उठाएं, क्योंकि हमारे पास समय की कमी है। ये बीमारी जितना फैलेगा, लोगों के जान जाने का खतरा उतना ही ज्यादा है। टीबी दिवस 2021 का थीम को साफ शब्दों में कहें तो इसके रोकथाम के लिए जल्दी और निर्णायक कदम उठाने की जरूरत है।

    जानिए टीबी के लक्षण और उपाए?

    टीबी के लक्षण हैं- 3 हफ्ते से ज्यादा खांसी होना, खांसी में खून/ थूक का आना, बुखार आना, भूख ना लगना, सीने में दर्द, थकान का अनुभव इत्यादी।

    टीबी से बचने के उपाए- बच्चों को बीसीजी वैक्सीन लगवाएं, टीबी रोगी के पास मास्क और चेहरे को ढ़क कर जाए, टीबी के रोगी का ध्यान रखा जाए कि उसको सांस लेने में दिक्कत ना हो, टीबी के लिए डॉक्टर से संपर्क में रहें।

    ये भी पढ़ें- No Smoking Day: आज से शुरू करें धूम्रपान को छोड़ने की शुरुआत, कैंसर और हार्ट अटैक से रहेंगे सुरक्षितये भी पढ़ें- No Smoking Day: आज से शुरू करें धूम्रपान को छोड़ने की शुरुआत, कैंसर और हार्ट अटैक से रहेंगे सुरक्षित

    Comments
    English summary
    World TB Day 2021: Did you know TB remains India largest infectious killer
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X